अपना शहर चुनें

States

पार्किंग में कार के साथ खड़े करने पड़ रहे हैं बोइंग 737 विमान

पार्किंग में कार के साथ खड़े करने पड़ रहे हैं बोइंग 737 विमान
पार्किंग में कार के साथ खड़े करने पड़ रहे हैं बोइंग 737 विमान

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक दुनियाभर में करीब 500 विमान के उड़ान पर रोक लगा दी गई है. इसमें से करीब 100 विमान वॉशिंगटन स्थित रेंटन फैक्ट्री में ही खड़े हैं.

  • Share this:
ग्लोबल एविएशन कंपनी बोइंग के लिए अपने विमान खड़ा करना काफी चुनौती का काम हो गया है. लगातार हो रहे हादसों के बाद से कई देशों ने बोइंग विमानों पर रोक लगा दी थी. जिसके बाद कंपनी ने इसके सिस्टम को अपडेट करने की योजना बनाई थी. इसी के चलते काफी सारे विमानों को उड़ान भरने से रोक दिया गया है. अब हालात ऐसे हो गए हैं कि विमान को खड़ा करने की जगह ही नहीं बची है. हालात ये हो चुके हैं कि कंपनी को कर्मचारियों की कार पार्किंग एरिया में भी अपने विमान खड़े करने पड़ रहे हैं.

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक दुनियाभर में करीब 500 विमान के उड़ान पर रोक लगा दी गई है. इसमें से करीब 100 विमान वॉशिंगटन स्थित रेंटन फैक्ट्री में ही खड़े हैं. लगातार विमान के आने के कारण विमान को खड़ा करने की जगह ही खत्म हो गई है. बोइंग 737 मैक्स की उड़ान पर कई देशों ने प्रतिबंध लगाया है.

Aviation Company, Boeing, Boeing 737 Max, Aircraft, Airlines



बताया जाता है कि लगातार हो रहे हादसों को देखते हुए कंपनी ने विमान के सिस्टम को अपडेट करने की योजना बनाई है. 10 मार्च को इथियोपिया एयरलाइंस के बोइंग 737 मैक्स-8 प्लेन क्रैश की जांच में पाया गया कि हादसे के समय इसके सेंसर पर गड़बड़ी थी. इस हादसे में 157 लोगों की मौत हो गई थी.
इसे भी पढ़ें :- देश में नहीं उड़ेंगे बोइंग 737 मैक्स हवाई जहाज! सरकार ने लिया फैसला

इसी तरह अक्टूबर 2018 में भी इंडोनेशिया की लायन एयर का बोइंग प्लेन क्रैश हुआ था. इस हादसे में 189 लोगों की जान चली गई थी. इस हादसे में भी बड़ी वजह सेंसर में गड़बड़ी होना बताया गया था. गौरतलब है कि अमेरिका, भारत समेत दुनिया के 57 देश बोइंग 737 मैक्स 8 विमानों पर रोक लगा चुके हैं. बोइंग ने खुद इन विमानों के उड़ान पर रोक लगा दी है और सभी विमानों को अपडेट करने का काम किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज