अपना शहर चुनें

States

इंजन में विस्फोट के बाद बोइंग ने इन विमानों की उड़ान पर रोक लगाने की सिफारिश की

बोइंग ने यह घोषणा उड़ान भरने के तुरंत बाद दाहिने इंजन के फटने के बाद डेनवर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर कराई गई आपात लैंडिग के बाद की है. (Photo-AP)
बोइंग ने यह घोषणा उड़ान भरने के तुरंत बाद दाहिने इंजन के फटने के बाद डेनवर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर कराई गई आपात लैंडिग के बाद की है. (Photo-AP)

Boeing 777: बोइंग 777 विमान में लगा प्रैट ऐंड व्हिटनी पीडब्ल्यू 4000 इंजन टुकड़े-टुकड़े होने के बाद उपनगर के इलाकों में गिरा था. हालांकि, विमान को सुरक्षित उतार लिया गया था जिसमें 231 यात्री एवं चालक दल के 10 सदस्य सवार थे.

  • Share this:
शिकागो (अमेरिका). विमान निर्माता कंपनी बोइंग ने सभी विमानन कंपनियों से उसके 777 मॉडल (Boeing 777 Model) के विमानों की उड़ान रोकने की सिफारिश की है. कंपनी ने यह कदम पिछले सप्ताहांत डेनवर में इस मॉडल के विमान का इंजन फेल होने एवं अमेरिकी नियामक द्वारा यूनाइटेड एयरलाइंस (United Airlines) को उन विमानों का निरीक्षण करने के निर्देश देने के बाद उठाया है. यूनाइटेड एयरलाइंस ने रविवार को कहा कि वह अस्थायी रूप से इस मॉडल के विमानों को सेवा से हटा रहा है. उसने यह घोषणा उड़ान भरने के तुरंत बाद दाहिने इंजन के फटने के बाद डेनवर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर कराई गई आपात लैंडिग के बाद की है.

उल्लेखीय है कि विमान में लगा प्रैट ऐंड व्हिटनी पीडब्ल्यू 4000 इंजन टुकड़े-टुकड़े होने के बाद उपनगर के इलाकों में गिरा था. हालांकि, विमान को सुरक्षित उतार लिया गया था जिसमें 231 यात्री एवं चालक दल के 10 सदस्य सवार थे. अमेरिकी संघीय उड्डयन प्रशासन (एफएए)के प्रशासक स्टीव डिकसन ने रविार को जारी बयान में कहा कि शुरुआती सुरक्षा आंकड़ों की समीक्षा के आधार पर निरीक्षक इस राय पर पहुंचे है कि इस मॉडल के विमानों में लगे पंखों के ब्लेड का निरीक्षण करने की बारंबरता बढ़ाने की जरूरत है जिसका इस्तेमाल केवल बोइंग 777 विमानों में होता है.

ये भी पढ़ें- लद्दाख: भारत के सख्त रुख के बाद पीछे हटा चीन, अब यहां किया नई दिल्ली का समर्थन



जापान ने भी इस मॉडल के विमानों पर रोक लगाने के दिए आदेश
बयान में कहा गया कि संभवत: इसका मतलब है कि कुछ विमानों को खड़ा करने की जरूरत है. बोइंग ने कहा कि एफएए द्वारा निरीक्षण प्रक्रिया स्थापित किए जाने तक उन्हें ऐसा करना होगा. वित्तीय अखबार निक्केई के मुताबिक जापान ने भी इस मॉडल के विमानों की उड़ान रोकने का आदेश दिया है. जापान के मुताबिक इसी श्रेणी के इंजन में गत वर्ष दिसंबर में समस्या आई थी.

बोइंग ने बयान में कहा कि 777 मॉडल के 69 विमान ऐसे हैं जिनमें प्रैट ऐंड व्हिटनी-4000 इंजन लगे हैं एवं 112 इंजन सेवा में है जबकि इस मॉडल के 59 इंजन गोदाम में हैं.

एफएए के मुताबिक अमेरिकी विमानन कंपनी यूनाइटेड में इस मॉडल के 25 विमान सेवा में हैं जबकि जापान की दो विमानन कंपनियों में ऐसे 32 विमानों का परिचालन हो रहा था.

ये भी पढ़ें- JDU के बाद भाजपा ने LJP में लगाई सेंध, इकलौती एमएलसी नूतन सिंह ने थामा दामन

बोइंग ने रविवार को जारी बयान में कहा, ‘‘ हम नियामक के साथ काम कर रहे है और जब तक वे कार्यवाही करते हैं तब तक विमान उड़ान नहीं भरेंगे और इस श्रेणी के इंजनों की और जांच की जाएगी. ’’

इंजन निर्माता ने कहा कि वह जांचकर्ताओं के साथ काम करने के लिए टीम भेज रहा है.

(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज