लाइव टीवी

बीते दो महीनों में भारत से 445 बांग्लादेशी वापस लौटे: बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश प्रमुख

भाषा
Updated: January 2, 2020, 11:49 PM IST
बीते दो महीनों में भारत से 445 बांग्लादेशी वापस लौटे: बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश प्रमुख
बांग्लादेश के एक अर्धसैनिक बल BGB के प्रमुख ने यह बात एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कही है (सांकेतिक तस्वीर)

बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (BGB) के महानिदेशक मेजर जनरल मोहम्मद शफीनुल इस्लाम ने यहां एक प्रेस वार्ता (Press Conference) के दौरान इन आंकड़ों का खुलासा किया.

  • Share this:
ढाका. बांग्लादेशी अर्धसैनिक बल प्रमुख (Bangladeshi Paramilitary Force Chief) ने गुरुवार को कहा कि भारत सरकार (Indian Government) द्वारा राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) के प्रकाशन के बाद बीते दो महीनों में 445 बांग्लादेशी नागरिक (Bangladeshi Citizens) वापस भेजे गए हैं.

बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (BGB) के महानिदेशक मेजर जनरल मोहम्मद शफीनुल इस्लाम ने यहां एक प्रेस वार्ता (Press Conference) के दौरान इन आंकड़ों का खुलासा किया.

करीब 1000 लोगों को 2019 में सीमापार करने पर किया गया गिरफ्तार
बीडीन्यूज24.कॉम ने इस्लाम को उद्धृत करते हुए कहा, “करीब 1000 लोगों को 2019 में भारत से बांग्लादेश (Bangladesh) अवैध रूप से सीमापार करने पर गिरफ्तार किया गया था जिनमें से 445 नवंबर-दिसंबर में बांग्लादेश आए.” उन्होंने कहा कि स्थानीय प्रतिनिधियों द्वारा उनकी पहचान सत्यापित किए जाने के बाद, बीजीबी को यह पता चला कि सभी घुसपैठिये बांग्लादेशी हैं.

इतना ही नहीं सीमा सुरक्षा बल (BSF) ने पिछले साल मेघालय में भारत-बांग्लादेश सीमा से 10,000 से अधिक गायें जब्त की हैं. एक अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी.

इन मवेशियों की कीमत 16.86 करोड़ रुपये आंकी गई
बीएसएफ ने 2019 में वैध दस्तावेजों के बिना देश में प्रवेश करने के लिये कुल 176 विदेशियों को गिरफ्तार भी किया है. बीएसएफ के एक प्रवक्ता ने बताया,“पिछले साल 31 दिसंबर तक मेघालय (Meghalya) में बीएसएफ ने 10239 मवेशियों को जब्त किया, जिनकी कीमत 16.86 करोड़ रुपये आंकी गई.’’बीएसएफ के एक प्रवक्ता ने कहा कि पिछले एक साल के दौरान गायों की लगातार जब्ती से सीमा पर पशु तस्करी के प्रयास में भारी वृद्धि के संकेत मिले हैं. उन्होंने बताया कि मवेशियों (Cattle) को हाथ-पांव और मुंह बांध कर ज्यादातर ट्रकों में ले जाया जाता था.

20 लाख रुपये भी किए गए हैं जब्त
अधिकारी ने बताया कि राज्य पुलिस के साथ संयुक्त अभियान में बीएसएफ (BSF) के जवानों ने 2019 में 3,665 की संख्या में याबा टैबलेट नाम की प्रतिबंधित नशीली दवा भी बरामद की है.

उन्होंने कहा कि बीएसएफ ने पिछले एक वर्ष के दौरान शून्य रेखा से 20 लाख रुपये नकद भी जब्त किए. उन्होंने बताया कि एक बांग्लादेशी के पास से 1 लाख रुपये मूल्य के नकली भारतीय नोट (Indian Currency) भी जब्त किए गए.

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची महंगाई, 2000 रु का हुआ गैस सिलेंडर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 2, 2020, 11:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर