जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में बोरिस जॉनसन की अपील, कहा- इस क्षेत्र में निवेश करें धनी देश

ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन (फाइल फोटो: AP)

ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन (फाइल फोटो: AP)

Climate Change Summit 2021: बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ने कहा, ‘हम पूरी दुनिया के साथ मिलकर ऐसा कर सकते हैं. इसका मतलब यह है कि सबसे धनी देशों को साथ आगे बढ़कर 2009 में किए गए 100 अरब अमेरिकी डॉलर के अनुदान के वादे से ज्यादा देना होगा.’

  • Share this:
लंदन. ब्रिटेन (Britain) के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने गुरुवार को देशों से जलवायु परिवर्तन (Climate Change) को लेकर निवेश करने की बात कही है. ‘पृथ्वी दिवस’ (Earth Day) के अवसर पर अमेरिका के नेतृत्व में हो रहे वर्चुअल जलवायु सम्मेलन में जॉनसन ने ब्रिटेन की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि उनका देश कार्बन उत्सर्जन को शून्य करने के लक्ष्य से कानून बनाने वाला पहला देश है और अपने लक्ष्य को वह आधा हासिल कर चुका है.

ब्रिटिश पीएम ने कहा कि उन्हें पूरा विश्वास है कि अगर हम पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए भविष्य का निर्माण करेंगे तो कोविड-19 महामारी के बाद की दुनिया पहले से कहीं बेहतर होगी और दुनिया के धनी देशों को इसमें आगे बढ़कर निवेश करने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि नवंबर में ग्लासगो में होने वाले ब्रिटेन के कोप26 जलवायु सम्मेलन के लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए तेजी से काम करने की दिशा में कानून बनाया है और तय किया है कि 2035 तक कार्बन उत्सर्जन को 78 प्रतिशत तक घटा दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें: ब्रिटिश और जापानी पीएम के बाद अब रूसी उप प्रधानमंत्री ने भी टाला भारत का दौरा

जॉनसन ने कहा, ‘हम पूरी दुनिया के साथ मिलकर ऐसा कर सकते हैं. इसका मतलब यह है कि सबसे धनी देशों को साथ आगे बढ़कर 2009 में किए गए 100 अरब अमेरिकी डॉलर के अनुदान के वादे से ज्यादा देना होगा.’ अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन द्वारा आयोजित सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित दुनिया भर के 40 नेताओं ने हिस्सा लिया.


अमेरिका ने की भारत की तारीफ

राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन ने 2030 तक जलवायु परिवर्तन पर कार्य करने और स्वच्छ ऊर्जा के महात्वाकांक्षी लक्ष्य को पाने के लिए अमेरिका के साथ साझेदारी में 450 गीगावाट नवीकरणीय ऊर्जा लगाने समेत अन्य प्रयास तेज करने के लिए भारत की प्रशंसा की है. जलवायु पर गुरुवार को विश्व के नेताओं के शिखर सम्मेलन में दोनों देशों ने मौजूदा दशक में पेरिस जलवायु समझौते के लक्ष्यों को हासिल करने में मजबूत द्विपक्षीय सहयोग के लिए एक नए उच्च स्तरीय ‘भारत-अमेरिका जलवायु एवं स्वच्छ ऊर्जा एजेंडा 2030 साझेदारी’ की शुरुआत की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज