अपना शहर चुनें

States

New Covid lockdown in England: नए कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनज़र ब्रिटेन में फिर सख्त लॉकडाउन लागू

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होना है.
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होना है.

New Covid lockdown in UK: नए कोरोना वायरस के सामने आने और संक्रमण के मामलों में तेजी के बाद ब्रिटेन में फिर से सख्त लॉकडाउन (New Covid lockdown in England) लागू कर दिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 5, 2021, 9:35 AM IST
  • Share this:
लंदन. एक नए किस्म का कोरोना वायरस (New Coronavirus) सामने आने के बाद ब्रिटेन (UK) के कई इलाकों में तेजी से संक्रमण के मामलों में तेजी देखी जा रही है. इसी नए कोरोना वायरस की रोकथाम के मद्देनज़र ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए देश में लॉकडाउन (New Covid lockdown in England) की घोषणा की है. ये शुरूआती लॉकडाउन जैसा कड़े नियमों वाला है और सोमवार रात से ही लागू कर दिया गया है. मंगलवार से स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी, रिमोट स्टडी माध्यम से ही चलेंगे.

बोरिस जॉनसन ने इस घोषणा के साथ ही लोगों से घर में रहने की अपील की. लॉकडाउन की घोषणा के साथ अब लोगों का घर से बाहर निकलना लगभग बंद हो जाएगा और सिर्फ़ ज़रूरी काम से ही लोग बाहर निकल सकेंगे. अनुमान लगाया जा रहा है कि ये प्रतिबंध फरवरी के मध्य तक लागू रह सकते हैं. प्रधानमंत्री ने देश को संबोधित करते हुए कहा, ''जिस तरह संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं, यह स्पष्ट हो गया है कि हमें और मेहनत करने की ज़रूरत है. इसलिए हमें देशव्यापी लॉकडाउन लागू कर देना चाहिए.''






कुछ मामलों में बाहर जाने की इजाजत
हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि लोग ज़रूरी कामों के लिए घर से बाहर निकल सकते हैं. जैसे- ज़रूरी सामान, ऑफ़िस जाने के लिए, अगर वर्क फ़्रॉम होम नहीं कर पा रहे हैं तो, एक्सरसाइज़, मेडिकल सहायता और घरेलू हिंसा से बचने के लिए बाहर निकल सकते हैं. प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने ब्रिटेन के चीफ़ मेडिकल ऑफिसर्स को सुझाव दिया है कि देश में कोविड अलर्ट लेवल-पांच पर कर दिया जाए. इसका मतलब है कि अगर तुरंत एक्शन नहीं लिया गया तो एनएचएस की क्षमता से अधिक मामले आ सकते हैं. उन्होंने बताया कि ब्रिटेन में टीकाकरण का सबसे बड़ा प्रोग्राम शुरू हो चुका है और बाकी यूरोप के मुकाबले ज़्यादा लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है.



बोरिस ने कहा कि टीकाकरण में तेज़ी आ रही है. इसकी वजह ऑक्सफ़ोर्ड-एस्ट्राज़ेनेका वैक्सीन है, जिसका टीकाकरण आज से ही शुरू किया गया है. प्रधानमंत्री ने कहा कि ''अगर सब ठीक रहा तो'' फरवरी के मध्य तक सरकार को उम्मीद है कि चार प्राथमिकता वाले समूहों में सभी को वैक्सीन मिल जाएगी. उन्होंने कहा, ''अगर इन समूहों में हम सभी को वैक्सीन देने में कामयाब रहे तो एक बड़ी आबादी को वायरस के रास्ते से हटा पाएंगे.'' बता दें कि ब्रिटेन में फाइजर और ऑक्सफ़ोर्ड वैक्सीन के जरिए इमरजेंसी वैक्सीनेशन का काम पहले ही शुरू किया जा चुका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज