ब्राजील ने कहा- चीन के सीनोवैक बायोटेक का कोरोना वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित

चीन के वैक्सीन को अंतिम चरण के परीक्षण के लिए पूरी तरह सुरक्षित पाया गया है.
चीन के वैक्सीन को अंतिम चरण के परीक्षण के लिए पूरी तरह सुरक्षित पाया गया है.

CORONAVIRUS VACCINE: ब्राजील में हुए अंतिम चरण के क्लिनिकल ट्रायल में चीन की कंपनी सिनोवैक (China’s Sinovac Biotech) बायोटेक द्वारा विकसित एक्सपेरिमेंटल कोरोनावायरस वैक्सीन को सुरक्षित पाया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2020, 12:29 PM IST
  • Share this:
बीजिंग. ब्राजील में हुए अंतिम चरण के क्लिनिकल ट्रायल में चीन की कंपनी सिनोवैक (China’s Sinovac Biotech) बायोटेक द्वारा विकसित एक्सपेरिमेंटल कोरोनावायरस वैक्सीन को सुरक्षित पाया गया है. सोमवार को इसके प्रारंभिक परिणाम दिखाए गए. साओ पाउलो का ब्यूटेनटन (Butantan Institute) इंस्टीट्यूट ब्राजील के प्रमुख बायोमेडिकल रिसर्च सेंटरों में से एक है जिसमें चरण तीन के टेस्ट करवाए जा रहे हैं. ब्यूटेनटन इंस्टीट्यूट ने कहा है कि कोरोनावैक  (CoronaVac)  नामक दो-डोज़ वाली वैक्सीन अभी तक के ट्रेल में सुरक्षित सिद्ध हुई है. इन ट्रायल्स में 9 हजार वालंटियर शामिल हुए थे. लेकिन ब्यूटेनटन के निदेशक डिमास कोवास ने कहा कि जब तक कोरोनावैक का सभी 13,000 वालंटियरों पर परीक्षण पूरा नहीं हो जाता तब तक टीके के प्रभावी होने से संबंधित डेटा जारी नहीं किया जाएगा.

ब्राजील में हुए क्लिनिकल अध्ययन के परिणाम

साओ पाउलो के गवर्नर जोओ डोरिया ने संवाददाताओं को बताया कि ब्राजील में किए गए क्लिनिकल अध्ययन के पहले परिणामों से यह साबित होता है कि देश में परीक्षण किए गए सभी टीकों में कोरोनावैक सबसे सुरक्षित और सबसे बेहतर दामों वाला है. ब्यूटेनटन के निदेशक डिमास कोवास ने कहा कि ये परिणाम केवल प्रारंभिक है और शोधकर्ता चल रहे ट्रायल्स में भाग ले रहे प्रतिभागियों की निगरानी करेंगे. उन्होंने तुर्की और इंडोनेशिया में भी चल रहे सिनोवैक के ट्रायल का जिक्र करते हुए बताया कि यह सिनोवैक के चरण 3 के वैश्विक परीक्षणों के परिणामों का पहला सेट है.



वैक्सीन के प्रभाव और दुष्प्रभाव
ब्यूटेनटन के निदेशक डिमास कोवास ने कहा कि अभी तक वैक्सीन की किसी तरह की कोई गंभीर प्रतिकूल प्रतिक्रिया नहीं हुई है. 20% वालंटियरों ने इंजेक्शन से हुए हल्के दर्द की रिपोर्ट की जबकि 15% ने पहली डोज़ के बाद सिरदर्द की सूचना दी और दूसरी डोज़ के बाद यह प्रतिशत गिराकर केवल 10% रह गया. उन्होंने बताया कि 5% से कम वालंटियरों ने मतली या थकावट की सूचना दी और इससे भी कम वालंटियरों ने मांसपेशियों में दर्द की शिकायत की.

ब्राजील खरीदेगा 60 मिलियन डोज़

साओ पाउलो के राज्य स्वास्थ्य सचिव जीन गोरिनचेटाइन ने कहा कि यह वैक्सीन शरीर में सुरक्षात्मक एंटी-बॉडीज पैदा करता है. देश को उम्मीद है कि साल 2021 की शुरुआत में देश की जनता को लगाने के लिए कोरोनावैक के लिए रेगुलेटरी अप्रूवल प्राप्त हो जायेगा जो लैटिन अमेरिका में पहला टीकाकरण कार्यक्रम हो गए.

ये भी पढ़ें: US ELECTION 2020: अंतिम डिबेट से पहले ट्रंप ने जताई आपत्ति, विषय बदले जाने की मांग की 

लास वेगास में पादरी ने ट्रंप से कहा- आप प्रभु की आंखों के तारे हैं, दोबारा राष्ट्रपति बनेंगे

साओ पाउलो ने फरवरी के अंत तक 60 मिलियन खुराक खरीदने के लिए सिनोवैक के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज