ब्राजील के राष्ट्रपति का आरोप- बच्चों को समलैंगिंक बनने के लिए उकसा रहा है WHO

ब्राजील के राष्ट्रपति ने WHO पर लगाए गंभीर आरोप.

ब्राजील के राष्ट्रपति जैर बोलसोनारो (Jair Bolsonaro) ने इस बार वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) पर गंभीर आरोप लगाए हैं. बोलसोनारो ने दावा किया है WHO युवाओं को समलैंगिक (Gay) बनने और हस्तमैथुन (Masturbate) करने के लिए उकसाता है.

  • Share this:
    रियो. अपने विवादित बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाले ब्राजील के राष्ट्रपति जैर बोलसोनारो (Jair Bolsonaro) ने इस बार वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) पर गंभीर आरोप लगाए हैं. बोलसोनारो ने दावा किया है WHO युवाओं को समलैंगिक (Gay) बनने और हस्तमैथुन (Masturbate) करने के लिए उकसाता है. बोलसोनारो ने एक फेसबुक पोस्ट के जरिए WHO पर ये विवादित आरोप लगाए, हालांकि बाद में उन्होंने ये पोस्ट डिलीट कर ली.

    अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के WHO पर चीन का पक्ष लेने के आरोपों का भी बोलसोनारो ने समर्थन किया था. इसके लावा वे लगातार कोरोना संक्रमण के खिलाफ WHO की सुझाई सोशल डिस्टेंसिंग की नीति का भी विरोध कर रहे हैं. उन्होंने बुधवार को फेसबुक पर लिखा- 'कुछ लोग मुझसे कह रहे हैं कि कोरोना संक्रमण के मामले में WHO की कही बातों का अनुसरण करूं. क्या हमें उनकी एजुकेशन पॉलिसी गाइडलाइंस का भी पालन करना चाहिए? जीरो से चार साल के बच्चों के लिए- अपने शरीर के कुछ विशेष हिस्सों को छूने से संतुष्टि और खुशी हासिल करना, चार से छह साल के बच्चों को हस्तमैथुन की सलाह. इतनी कम उम्र के बच्चों को हस्तमैथुन की सलाह देना और समलैंगिक रिश्तों के लिए उकसाना. इसके अलावा 9 से 12 साल की उम्र में पहले सेक्सुअल एक्सपीरियंस की भी वकालत करना.'

    बोलसोनारो ने जो कहा, उसमें कितना सच?
    बता दें कि बोलसोनारो ने WHO की नीति, समलैंगिकता या हस्तमैथुन को लेकर जो भी दावे किये हैं वो सभी गलत हैं. इससे पहले बोलसोनारो के सलाहकार आर्थर विनट्रब ने भी ट्वीट कर इसी तरह के आरोप लगाए थे. उन्होंने कहा था- 'WHO की गाइडलाइंस जीरो से चार साल के बच्चे को हस्तमैथुन, अपने शरीर के अंगों का सुख और संतुष्टि-ख़ुशी हासिल करने के तरीकों में बारे में जानकारी देने की वकालत करती है. क्या ये सही है?' दरअसल WHO ने साल 2010 में 'स्टैण्डर्ड फॉर सेक्सुअल एजुकेशन इन यूरोप' नाम से एक हेल्थ और सेक्सुअल हराश्मेंट गाइडलाइंस जारी की थीं. इसमें सलाह दी गई थी कि बच्चों को सेक्सुअल हराश्मेंट से बचाने के लिए कम उम्र में ही उन्हें अंगों और अन्य कई चीज़ों की जानकारी देनी चाहिए जिससे उन्हें पता चल सके कि उनके साथ क्या हो रहा है.

    इसके आलावा बड़े हो रहे बच्चों की अपने शरीर के प्रति जो जिज्ञासा हैं उन्हें शांत करने के लिए एजुकेशन पॉलिसी में ज़रूरी बदलाव के सुझाव दिए गए थे. बोलसोनारो ने जो बातें शेयर की हैं वो सभी WHO के खिलाफ यूरोप और अमेरिका में फैलाए गए फार राइट ग्रुप्स के प्रॉपगेंडा का हिस्सा है. बोलसोनारो बीते दिनों ब्राजीलिया में भी बिनस सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किए लॉकडाउन के खिलाफ आयोजित एक रैली में शामिल हुए थे. ब्राजील में अभी तक कोरोना संक्रमण के 87,000 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं जबकि 6000 से ज्यादा लोगों की इससे मौत हो गयी है.



    ये भी पढ़ें:

    दुनिया के सबसे बड़े मालवाहक जहाज ने शुरू की पहली यात्रा, जानें इसके बारे में सबकुछ

    वुहान के दो अस्‍पतालों की हवा में पाया गया कोरोना वायरस

    जानिए कोरोना को लेकर उन सवालों के जवाब, जो रोज आप खुद से पूछते होंगे

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.