Home /News /world /

ब्रिटेन: एक महीने में 1.4 लाख हुए बेरोजगार, मंदी की हो सकती है घोषणा

ब्रिटेन: एक महीने में 1.4 लाख हुए बेरोजगार, मंदी की हो सकती है घोषणा

ब्रिटेन में एक महीने में 1.4 लाख लोग बेरोजगार हो गए हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

ब्रिटेन में एक महीने में 1.4 लाख लोग बेरोजगार हो गए हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

ब्रिटेन में एक महीने में 1.4 लाख (one lakh and Fourty thousand) लोगों की नौकरियां चली (Job Lost) गई हैं. ब्रिटेन के आधिकारिक रूप से मंदी (Elonomic Slowdown) में फंसने की घोषणा किये जाने की संभावना जताई जा रही है.

    लंदन. ब्रिटेन में एक महीने में 1.4 लाख (one lakh and Fourty thousand)  लोगों की नौकरियां चली (Job Lost) गई हैं. इन आंकड़ों के अनुसार जून में 139,000 से अधिक नौकरियां चली गईं हैं. इन्सॉल्वेंसी सर्विस द्वारा बेकारी के ये भयावह आँकड़े उस समय जारी किये गए हैं जब कुछ दिनों बाद ही ब्रिटेन के आधिकारिक रूप से मंदी (Elonomic Slowdown) में फंसने की घोषणा किये जाने की संभावना जताई जा रही है.

    पिछले साल की तुलना इस साल पांच गुणा नौकरियां गईं

    गत वर्ष की तुलना में 20 या उससे ज्यादा तरह की नौकरियों में कटौती करने वाली फर्मों की संख्या पिछले साल की तुलना में पांच गुना अधिक बढ़कर 1,778 हो गई हैं. कोरोना वायरस के कारण लगे लॉक डाउन के बाद साल की दूसरी तिमाही के आंकड़ों से साफ़ पता चलता है कि अर्थव्यवस्था बड़े पैमाने पर सिकुड़ रही है. यह वर्ष के पहले तीन महीनों में आउटपुट घटने के बाद आया है. लगातार दो तिमाहियों में अर्थव्यवस्था के सिकुड़ने को औपचारिक तौर पर आर्थिक मंदी माना जा रहा है. वित्तीय संकट आने के बाद यह पहली घोषित आर्थिक मंदी होगी.

    वर्क फ्रॉम होम से अर्थव्यवस्था को हो रहा नुकसान

    संघर्षरत सिटी सेंटर फर्मों की मदद के लिए जीडीपी उठाने वाली कंपनियों को वापिस ऑफिस आने जाने का अनुरोध किया जा रहा है. ऐसी आशंका है कि घर से काम करने से अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान हो रहा है क्योंकि व्यस्त कार्यालयों पर निर्भर रहने वाले व्यवसाय जैसे सैंडविच की दुकानों और पब से लेकर ड्राई क्लीनर और हेयरड्रेसर तक सभी काम धंधे से वंचित हो गए हैं क्योंकि लोग ऑफिस नहीं आ रहे और घर से ही ऑफिस का काम कर रहे हैं.

    सैंडविच कंपनियों ने हजारों को निकाला

    सैंडविच की चेन प्रेट ऐ मेंगर और अपर क्रस्ट दोनों ने पहले से ही हजारों लोगों को नौकरियों से निकाल दिया है. कल प्रेट ने अपने बचे हुए कर्मचारियों को काम के घंटे कम करने के लिए कहा. रोजगार विशेषज्ञों ने आज कहा कि देश आने वाले महीनों में बढ़ती बेरोजगारी के लिए तैयार रहना होगा. साथ ही अधिक फर्मों द्वारा छंटनी की घोषणा करने की उम्मीद है जिसमें आतिथ्य (hospitality) और पर्यटन के क्षेत्र प्रमुख रहेंगे. चार्टर्ड इंस्टीट्यूट ऑफ पर्सनेल एंड डेवलपमेंट (CIPD) के गेरविन डेविस ने कहा कि व्यवसाय अब लागत के बढ़ने की समस्या का सामना कर रहे है क्योंकि सरकार ने सरकार ने अपने रोजगार योजना को घटा दिया है.

    ये भी पढ़ें: पाकिस्तान: ईशनिंदा के आरोपी का हत्यारा बना हीरो, उसके संग लोग ले रहे सेल्फी

    कोरोनावायरस राहत और बेरोजगारी भत्ते पर भ्रामक बयानों को लेकर घिरे ट्रंप

    जिन फर्मों ने जून में कर्मचारियों की छंटनी करने की योजना का खुलासा किया उनमें रॉयल मेल, जेट 2, एचएसबीसी, जगुआर लैंड रोवर, सेंट्रिक और रेस्तरां ग्रुप, फ्रेंकी और बेनी के मालिक शामिल थीं. जुलाई में भी अन्य बड़े नामों की घोषणाएं हुईं हैं. जैसे कि मार्क्स एंड स्पेंसर, बूट्स और जॉन लुईस आदि. सीआईपीडी (CIPD) के शोध में पाया गया है कि ब्रिटेन की तीन में से एक कंपनी 2020 की तीसरी तिमाही में नौकरियों में कटौती कर सकती हैं.

    Tags: Britain, Economy, Unemployment

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर