Home /News /world /

5-Points Explainer: क्या भारतीय मूल के ऋषि सुनक ब्रिटेन के अगले प्रधानमंत्री होंगे, जानिए कितनी संभावनाएं और क्या है मुश्किल?

5-Points Explainer: क्या भारतीय मूल के ऋषि सुनक ब्रिटेन के अगले प्रधानमंत्री होंगे, जानिए कितनी संभावनाएं और क्या है मुश्किल?

ऋषि सुनक भारतीय सॉफ़्टवेयर कंपनी इंफोसिस के सह-संस्थापक नारायण मूर्ति के दामाद हैं.

ऋषि सुनक भारतीय सॉफ़्टवेयर कंपनी इंफोसिस के सह-संस्थापक नारायण मूर्ति के दामाद हैं.

Rishi Sunak : ब्रिटेन के अखबार ‘डेली मेल्स’ ने सर्वे करा लिया. इसके नतीजों में बताया गया यदि 2024 के संसदीय चुनाव में कंजरवेटिव पार्टी ऋषि सुनक (Rishi Sunak) को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया तो वह दोबारा सत्ता में आ सकती है.

लंदन. ब्रिटेन की राजनीति (Britain’s Politcis) में इन दिनों हलचल है. बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) पर उनकी ही पार्टी के नेता प्रधानमंत्री (Prime Minister) पद छोड़ने का दबाव बना रहे है. ऐसे में जाहिर तौर पर उनके वैकल्पिक उत्तराधिकारियों के बारे में भी खबरें चलने लगी हैं. इनमें जो नाम सामने आए हैं, उनमें एक है- भारतीय मूल के ऋषि सुनक (Rishi Sunak) का, जो इस वक्त ब्रिटेन के वित्त मंत्री हैं. ऋषि सुनक अगर इस पद पर पहुंचते हैं तो वे ब्रिटेन में ऐसे पहले भारतवंशी होंगे. लेकिन सवाल उठता है कि आखिर कितनी संभावना है कि ऋषि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बनेंगे? उनके रास्ते में कौन-कौन सी अड़चनें हैं? सिर्फ 5 प्वाइंट्स से समझते हैं…

विवाद किस बात पर है?
दरअसल 2020 के मई माह में ब्रिटेन में कोरोना (Corona) संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े थे. पूरे देश में लॉकडाउन था. लोग घरों में बंद थे. उसी उस समय बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) अपने कुछ मित्रों के साथ प्रधानमंत्री आवास (10-Downing street) में शराब पार्टी कर रहे थे. अभी तक मिली जानकारी के अनुसार, इस पार्टी में करीब 100 लोग मौजूद थे. बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) इसमें पत्नी कैरी के साथ शामिल हुए थे. इसमें कोरोना से जुड़े नियम-कायदों की जमकर धज्जियां उड़ाई गईं थीं. इस संबंध में बीती 12 जनवरी को बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ने स्वीकार भी किया कि उन्होंने पार्टी की थी. हालांकि उन्होंने जोड़ा कि यह निजी नहीं आधिकारिक पार्टी थी. लेकिन जॉनसन के कबूलनामे के साथ ही स्वास्थ्य मंत्री जोनाथन टैम ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया. इससे जॉनसन पर भी इस्तीफे का दबाव बढ़ गया है.

ऋषि सुनक का नाम कैसे आया सामने और क्या संभावनाएं
प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (PM Boris Johnson) के इस्तीफे की मांग के बीच ही ब्रिटेन (Britain) की मशहूर सट्टा कंपनी ‘बेटफेयर’ (BetFair) ने दावा किया कि भारतीय मूल के ऋषि सुनक (Rishi Sunak) अगले प्रधानमंत्री होंगे. ऋषि सुनक ने हालांकि इन अटकलों को ख़ारिज किया है लेकिन इसी बीच ब्रिटेन के अखबार ‘डेली मेल्स’ ने सर्वे करा लिया. इसके नतीजों में बताया गया यदि 2024 के संसदीय चुनाव में कंजरवेटिव पार्टी ऋषि सुनक (Rishi Sunak) को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया तो वह दोबारा सत्ता में आ सकती है. जाहिर तौर पर ब्रिटेन का भारतवंशी समुदाय इससे खुश है. एक निजी कंपनी के सर्वे के मुताबिक 60% भारतवंशी ऋषि सुनक (Rishi Sunak) को प्रधानमंत्री बनाए जाने के पक्ष में हैं.

फिर भी आसान नहीं है राह
बेशक, ऋषि सुनक (Rishi Sunak) का नाम ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री पद के लिए चल रहा है लेकिन उनकी राह इतनी आसान भी नहीं होगी शायद. इसका एक कारण तो ब्रिटेन के इतिहास में है कि आज तक वहां भारतीय मूल तो क्या कोई एशियाई मूल का भी कोई नेता प्रधानमंत्री नहीं बन सका है. दूसरी वजह वह मानसिकता है, जो भारतवंशियों की राह में कई बार रोड़ा बनती रही है. इसका उदाहरण पिछले साल का ही है. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी (Oxford University) के छात्र संघ भारतवंशी रश्मि सामंत (Rashmi Samant) अध्यक्ष चुनी गई थीं. यह पद संभालतीं तो वे पहली भारतीय छात्रा होतीं. लेकिन नस्लीय अभियान के बाद उन्हें पद संभालने से पहले ही इस्तीफा देना पड़ा था.

कौन है ऋषि सुनक, जानिए उनके बारे में
ऋषि सुनक 12 मई, 1980 को जन्मे हैं. माता पिता भारत के पंजाब से तालुख रखते हैं, जो पहले दक्षिण अफ्रीका गए. फिर लंदन में आ बसे. पिता डॉक्टर और मां केमिस्ट हैं. ऋषि सुनक (Rishi Sunak) ने ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी से अर्थशास्त्र, दर्शन और राजनीति विज्ञान की पढ़ाई की है. अमेरिका की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से एमबीए की डिग्री भी ली है. राजनीति में आने से पहले ऋषि इन्वेस्टमेंट बैंक गोल्डमैन सैश (Goldman Sachs) और हेज़ फंड में काम कर चुके हैं. उनकी पत्नी अक्षता बहुराष्ट्रीय भारतीय सॉफ्टवेयर कंपनी इन्फोसिस (Infosys) के सह-संस्थापक नारायण मूर्ति (Narayan Murthi) की बेटी हैं. अक्षता कटमरैन वेंचर्स में निदेशक हैं. खुद का फैशन लेबल भी चलाती हैं और ब्रिटेन की सबसे धनी महिलाओं में शुमार हैं.

ऋषि प्रधानमंत्री बने तो भारत और ब्रिटेन के रिश्तों पर क्या होगा असर
भारत की आजादी के बाद से ही ब्रिटिश-भारतीय रिश्ते नरम-गरम बने हुए हैं. ऐसे में यदि ऋषि सुनक (Rishi Sunak) या अन्य कोई भारतवंशी ब्रिटेन (Britain) का प्रधानमंत्री बनता है, तो निश्चित इन रिश्तों में सुधार की उम्मीद की जा सकती है. ब्रिटेन (Britain) में वैसे ऋषि सुनक (Rishi Sunak) के अलावा भारतवंशी सांसद हैं, जो सरकार के प्रमुख पदों पर अच्छा काम कर रहे हैं. इनमें गृह मंत्री प्रीति पटेल (Priti Patel) का एक बड़ा नाम है. उनके अलावा अलोक शर्मा और सुएला ब्रावेरमन दो अन्य भारतवंशी हैं, जो सरकार में शामिल है.

Tags: Boris Johnson, Britain, India britain

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर