Home /News /world /

ब्रिटेन में 5 महीने की बच्ची को हुई बेहद दुलर्भ बीमारी, पत्थर में बदलने लगा है शरीर

ब्रिटेन में 5 महीने की बच्ची को हुई बेहद दुलर्भ बीमारी, पत्थर में बदलने लगा है शरीर

लेक्सी का जन्म 31 जनवरी को हुआ था. उसके माता-पिता एलेक्स और डेव ग्रेट ब्रिटेन के हर्टफोर्डशायर क्षेत्र के रहने वाले हैं.  (फोटो- ऐलेक्स के ट्विटर हैंडल से).

लेक्सी का जन्म 31 जनवरी को हुआ था. उसके माता-पिता एलेक्स और डेव ग्रेट ब्रिटेन के हर्टफोर्डशायर क्षेत्र के रहने वाले हैं. (फोटो- ऐलेक्स के ट्विटर हैंडल से).

Fibrodysplasia Ossificans Progressiva मांसपेशियां और कनेक्टिव टिशु हड्डी में बदल जाते हैं. इस रोग में हड्डियों कंकाल से बाहर आना शुरू हो जाती हैं. इसे अक्सर शरीर को पत्थर में बदलना कहा जाता है. इस रोग से ग्रसित लोगों का जीवन लगभग 40 वर्ष का होता है.

अधिक पढ़ें ...
    लंदन. ब्रिटेन (Britain) में पांच महीने की एक बच्ची बेहद दुर्लभ बीमारी से पीड़ित पाई गई. उसका शरीर ‘पत्थर’ में बदलने लगा है. ये लाइलाज बीमारी इतनी दुर्लभ है कि 20 लाख में से सिर्फ एक व्यक्ति को ही होती है. इस जीन से जुड़ी घातक बीमारी को Fibrodysplasia Ossificans Progressiva कहा जाता है. इस बीमारी में इंसान का शरीर ‘पत्थर’ का रूप ले लेता है.

    इस गंभीर बीमारी से पीड़ित होने वाली बच्ची का नाम लेक्सी रॉबिन्स (Lexi Robins) है. लेक्सी का जन्म 31 जनवरी को हुआ था. उसके माता-पिता एलेक्स और डेव ग्रेट ब्रिटेन के हर्टफोर्डशायर क्षेत्र के रहने वाले हैं. एक दिन उन्होंने पाया कि बच्ची के हाथ के अंगूठे में कोई हलचल नहीं हो रही है. उसके पैर की उंगलियां काफी बड़ी हैं जो कहीं से भी सामान्य नजर नहीं आई. बचपन की इस घातक बीमारी का इलाज करने में डॉक्टरों को काफी समय लगा.

    इस शख्स के प्राइवेट पार्ट में हुआ कुछ ऐसा, देखकर डॉक्टर भी रह गए हैरान

    लेक्सी की मां एलेक्स ने कहा, 'शुरुआत में एक्स-रे के बाद हमें बताया गया कि उसे सिंड्रोम है और वह चल नहीं सकती. हमें विश्वास नहीं हो रहा था, क्योंकि वह उस समय शारीरिक रूप से बहुत मजबूत थी. वह लात मार रही थी. हमें पूरा यकीन नहीं था इसलिए हमने मई के मध्य में कुछ शोध किया.'

    उन्होंने कहा कि हमें पता चला कि उसे यह बीमारी है. हम उसे विशेषज्ञ के पास ले गए. हमने अमेरिका में आनुवंशिक रूप से इसका टेस्ट किया था. इसमें उसकी बीमारी का पता चला था. अब इस बच्चे को कोई इंजेक्शन या टीका नहीं लग सकता. वह बच्चे को जन्म भी नहीं दे पाएगी. वैज्ञानिक अब बच्चे की जान बचाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं.

    कितने साल जीते हैं इस बीमारी से पीड़ित लोग?
    इस जानलेवा बीमारी में मांसपेशियां और कनेक्टिव टिशु हड्डी में बदल जाते हैं. इस रोग में हड्डियों कंकाल से बाहर आना शुरू हो जाती हैं. इसे अक्सर शरीर को पत्थर में बदलना कहा जाता है. इस रोग से ग्रसित लोगों का जीवन लगभग 40 वर्ष का होता है.

    ब्रिटेन में स्कूली बच्चों की खुराफात, ऑरेंज जूस से तैयार कर रहे हैं कोरोना की फेक पॉजिटिव रिपोर्ट!

    अन्य अभिभावकों मिल रहा समर्थन
    बीमारी का इलाज न होने के चलते लेक्सी के माता-पिता का दिल दहल रहा है. उन्होंने विशेषज्ञों से बात की है और बच्ची की जिंदगी बचाने की जंग अभी खत्म नहीं हुई है. दोनों को अन्य अभिभावकों की तरफ से बहुत समर्थन मिल रहा है.undefined

    Tags: Britain, Disease, India britain, Jubilant Life Sciences

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर