ब्रिटेन में बढ़ रहा है कोरोना वायरस का खतरा, फरवरी के बाद आए सबसे ज्यादा केस

 मरीज़ों के लगातार बढ़ते ट्रेंड ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है. कई एक्सपर्ट इसे तीसरी लहर की आहट के तौर पर पर देख रहे हैं. (फोटो-AP)

मरीज़ों के लगातार बढ़ते ट्रेंड ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है. कई एक्सपर्ट इसे तीसरी लहर की आहट के तौर पर पर देख रहे हैं. (फोटो-AP)

Covid-19 in Britain: सरकार लॉकडाउन को पूर्ण रूप से समाप्त करने की 21 जून की तय समय सीमा को 15 दिनों के लिए और बढ़ा सकती है.

  • Share this:

लंदन. ब्रिटेन में कोरोना वायरस (Coronavirus) ने चिंता बढ़ा दी है. यहां इन दिनों हर रोज कोरोना के केस में इज़ाफा हो रहा है. फरवरी के बाद से कोरोना वायरस संक्रमण के सर्वाधिक मामले सामने आए हैं. ये इस बात के संक्ते हैं कि संक्रमण का डेल्टा वेरिएंट देश में तेजी से फैल रहा है. सरकारी आंकड़ों में बुधवार को बताया गया कि ब्रिटेन में संक्रमण के 7,540 नए मामले सामने आए, जो 26 फरवरी के बाद से एक दिन में आने वाले सबसे ज्यादा मामले हैं.

बता दें कि डेल्टा वेरिएंट के संक्रमण के कारण पिछले कुछ सप्ताह से ब्रिटेन में दैनिक मामले बढ़ रहे हैं. देश में संक्रमण के कारण 1,27,860 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि यहां अब तक 44 लाख से ज्यादा लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं.

लगातार बढ़ रहे हैं केस

इस साल जनवरी के दूसरे हफ्ते में ब्रिटेन में हर रोज़ 70 हजार केस सामने आ रहे थे. ऐसे में 7 हजार की संख्या इसके मुकाबले बेहद कम हैं. लेकिन मरीज़ों के लगातार बढ़ते ट्रेंड ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है. कई एक्सपर्ट इसे तीसरी लहर की आहट के तौर पर पर देख रहे हैं. बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक इन दिनों यहां बच्चों में कोरोना का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है.
ये भी पढ़ें:- कोरोना: बच्चों के इलाज की गाइडलाइंस जारी, नहीं होगा रेमडिजिविर का इस्तेमाल

बच्चों में संक्रमण

पिछले हफ्ते स्कॉलैंड में एक हज़ार से ज्यादा बच्चे कोरोना के शिकार हुए. बता दें कि ब्रिटेन में इन दिनों ज्यादातर स्कूल खिले हैं. कहा जा रहा है कि ब्रिटेन में कोरोना के नए वेरिेएंट के केस 75 फीसदी से ज्यादा हैं. इसके चलते संक्रमण की दर काफी ज़्यादा बढ़ गई है.




बढ़ सकती हैं पाबंदियां

ब्रिटेन के कुछ हिस्सों में कोरोना वायरस के डेल्टा स्वरूप के मामलों में लगातार हो रही वृद्धि के कारण सरकार लॉकडाउन को पूर्ण रूप से समाप्त करने की 21 जून की तय समय सीमा को 15 दिनों के लिए और बढ़ा सकती है. जानकारों का मानना है कि लॉकडाउन को समाप्त करने से पहले सरकार चाहती है कि देश में 50 से अधिक आयु के सभी लोगों को कोविड रोधी टीके की दोनों खुराक दे दी जाएं. ब्रिटेन के एक अखबार ने सूत्रों के हवाले से बताया कि लॉकडाउन को समाप्त करने की तय समय सीमा को दो सप्ताह से एक महीने के बीच तक बढ़ाया जा सकता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज