'फ्रीडम डे’ से पहले आइसोलेशन में PM जॉनसन, कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आए थे

ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन (AP)

पीएम जॉनसन, वित्त मंत्री ऋषि सुनक कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित एक व्यक्ति के संपर्क में आने के कारण रविवार को आइसोलेशन (Isolation) में चले गए. प्रधानमंत्री के 10 डाउनिंग स्ट्रीट (Downing Street) स्थित कार्यालय ने रविवार को बताया कि प्रधानमंत्री जॉनसन और वित्त मंत्री ऋषि सुनक, दोनों को बीती रात ‘टेस्ट-एंड-ट्रेस’ फोन ऐप से सतर्क किया गया था.

  • Share this:
    लंदन. ब्रिटेन में 19 जुलाई से मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के नियम खत्म हो रहे हैं. इसे ब्रिटेन में फ्रीडम डे कहा जा रहा है. इस बीच खबर है कि प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) आइसोलेशन में चले गए हैं. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, पीएम जॉनसन, वित्त मंत्री ऋषि सुनक कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित एक व्यक्ति के संपर्क में आने के कारण रविवार को आइसोलेशन (Isolation) में चले गए. प्रधानमंत्री के 10 डाउनिंग स्ट्रीट (Downing Street) स्थित कार्यालय ने रविवार को बताया कि प्रधानमंत्री जॉनसन और वित्त मंत्री ऋषि सुनक, दोनों को बीती रात ‘टेस्ट-एंड-ट्रेस’ फोन ऐप से सतर्क किया गया था.

    प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्री साजिद जावेद के साथ बैठक की थी. शनिवार को जावेद कोविड-19 से संक्रमित पाए गए. जावेद कोविड-19 रोधी टीके की दोनों खुराक ले चुके हैं. उन्हें कोविड-19 के हल्के लक्षण हैं. विपक्षी दलों ने आलोचना करते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि प्रधानमंत्री के लिए कुछ और नियम हैं. संक्रमित के संपर्क में आने के कारण जॉनसन और सुनक सोमवार को ‘फ्रीडम डे’ पर आइसोलेशन में होंगे जब सरकार इंग्लैंड से लॉकडाउन संबंधी सभी पाबंदी हटाने की तैयारी कर रही है.

    ब्रिटेन के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री को हुआ कोरोना संक्रमण, लगवा चुके हैं वैक्‍सीन की दोनों डोज



    राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) के ऐप पर दिखाया गया कि एक सप्ताह में पांच लाख लोग संक्रमितों के संपर्क में आए, जिससे इस प्रणाली के अत्यधिक संवेदनशील होने को लेकर चिंताएं बढ़ गयी है और कई लोग आइसोलेशन से बचने के लिए अपने मोबाइल से इस ऐप को हटा रहे हैं.

    दुनिया में सबसे ज्यादा मामले ब्रिटेन में ही आए
    पिछले 24 घंटे में दुनिया में सबसे ज्यादा मामले ब्रिटेन में ही आए हैं. इसके बाद इंडोनिशिया 51,952, भारत 41,283, ब्राजील 34,339, रूस 25,116 और अमेरिका में 24,081 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई.

    ब्रिटेन: कॉरपोरेट कल्चर पर चलती है ये फैमिली, हर सदस्य का टारगेट; वीकली मीटिंग भी

    ब्रिटेन में दूसरी लहर के पीक के करीब मामले
    ब्रिटेन ने दिसंबर-जनवरी में ही कोरोना की दूसरी लहर का सामना किया था. इस दौरान सबसे ज्यादा 67,803 मामले 8 जनवरी को सामने आए थे. यही दूसरी लहर का पीक था. अब शनिवार को दूसरी लहर के पीक से करीब 13 हजार कम मामले सामने आए हैं. पिछले कुछ दिनों के आंकड़ों पर नजर डालें, तो ब्रिटेन में तीसरी लहर सरकार बढ़ाती नजर आ रही है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.