होम /न्यूज /दुनिया /ब्रिटेन जैसे आजाद ख्याल मुल्क में समलैंगिक शादियों पर अड़ंगा, जानें चर्च ऑफ इंग्लैंड को क्यों आया गुस्सा

ब्रिटेन जैसे आजाद ख्याल मुल्क में समलैंगिक शादियों पर अड़ंगा, जानें चर्च ऑफ इंग्लैंड को क्यों आया गुस्सा

चर्च ऑफ इंग्लैंड ने समलैंगिक शादियों को चर्च में संपन्न कराने से इनकार दिया. (FIle Photo)

चर्च ऑफ इंग्लैंड ने समलैंगिक शादियों को चर्च में संपन्न कराने से इनकार दिया. (FIle Photo)

चर्च ने यह निर्णय सेक्सुअलिटी पर करीब पांच साल तक बहस करने के बाद लिया है. इससे जाहिर होता है कि चर्च इस बात पर अभी भी ...अधिक पढ़ें

लंदन. समलैंगिक जोड़ों को इंग्लैंड के चर्च की तरफ से बड़ा झटका मिला है. चर्च ने बुधवार को बयान जारी करते हुए कहा कि वह अपने चर्चों में समलैंगि शादियों को संपन्न कराने की अनुमति नहीं दे सकते हैं. हालांकि चर्च ने यह पहली बार कहा कि वह समलैंगिंक जोड़ों को आशीर्वाद लेने और अन्य सेवाओं के लिए चर्च में मौका देगा. चर्च ने यह निर्णय सेक्सुअलिटी पर करीब पांच साल तक बहस करने के बाद लिया है. इससे जाहिर होता है कि चर्च इस बात पर अभी भी टिका है कि शादी केवल मर्द और औरत के बीच होती है.

ब्रिटिश ब्रॉडकास्टर बीबीसी ने बताया कि समलैंगिक विवाह और सेक्सुअलिटी सहित अन्य मुद्दों पर चर्च के विचारों पर सिफारिशों को अंतिम रूप देने के लिए बिशप मंगलवार को मिले. इन सिफारिशों को चर्च की संसद में यानी कि अगले महीने होने वाले जनरल सिनॉड में पेश किया जाएगा. चर्च ने कहा कि वह समलैंगिक जोड़े की शादी के बाद उन्हें चर्च में प्रार्थना सहित अन्य चीजों को करने के लिए चर्च में अनुमति दी जाएगी. लेकिन चर्च ने शिक्षण में बदलाव का समर्थन करने से इनकार कर दिया, जिससे पादरियों को समान-लिंग वाले जोड़ों से शादी करने की अनुमति मिल जाएगी.

बता दें कि साल 2013 से इंग्लैंड और वेल्स में समलैंगिक शादी को कानूनी तौर पर मान्यता मिल गई है. लेकिन इंग्लैंड के चर्च ने अभी तक उस परिवर्तन को स्वीकार नहीं किया है. कैंटरबरी के आर्कबिशप जस्टिन वेल्बी ने कहा कि नए प्रस्ताव कुछ के लिए अच्छे हो सकते हैं और दूसरों के लिए ये बदलाव पर्याप्त नहीं होगा. साथ ही उन्होंने बीबीसी को बताया कि यह स्थिति ‘समलैंगिकता के सवालों पर इंग्लैंड के चर्च में विचारों की विविधता को दर्शाती है’.

बता दें कि स्कॉटिश एपिस्कोपल चर्च और स्कॉटलैंड के प्रेस्बिटेरियन चर्च दोनों समलैंगिक विवाह की अनुमति देते हैं. नवंबर 2022 में, ऑक्सफोर्ड के बिशप ने समलैंगिक विवाह की अनुमति देने के लिए सार्वजनिक रूप से एक बदलाव का समर्थन किया. उन्हें कुछ अन्य लोगों का समर्थन प्राप्त था. लेकिन वे अल्पमत में रहे. इस बीच, बयान के अनुसार, चर्च ऑफ इंग्लैंड से LGBTQI लोगों को माफी जारी करने की उम्मीद है.

Tags: England

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें