Home /News /world /

यूरोप में थमने का नाम नहीं ले रहा काेरोना, तेजी से बढ़ रहे मौतों के मामले, WHO का अलर्ट

यूरोप में थमने का नाम नहीं ले रहा काेरोना, तेजी से बढ़ रहे मौतों के मामले, WHO का अलर्ट

यूरोप में कोरोना से मौत के मामलों की संख्‍या बढ़ गई है.  (प्रतीकात्‍मक फोटो)

यूरोप में कोरोना से मौत के मामलों की संख्‍या बढ़ गई है. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि पिछले सप्ताह यूरोप (Europe) में कोरोना वायरस संक्रमण से होने वाली मौतों (Covid-19 Death) में पांच प्रतिशत की वृद्धि हुई, जिससे यह दुनिया का एकमात्र ऐसा क्षेत्र बन गया जहां कोरोना महामारी (Corona Pandemic) से होने वाली मृत्यु की दर में वृद्धि हुई. संयुक्त राष्ट्र (United Nation) की स्वास्थ्य एजेंसी ने कहा कि पुष्टि किए गए संक्रमण के मामलों में वैश्विक स्तर पर छह प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है, जो अमेरिका, यूरोप और एशिया में वृद्धि के कारण हुई है. डब्ल्यूएचओ ने कहा कि यूरोप के अलावा अन्य सभी क्षेत्रों में कोविड​​-19 से होने वाली मौत की दर स्थिर रही या उसमें गिरावट आई.

अधिक पढ़ें ...
  • ए पी
  • Last Updated :

    लंदन. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि पिछले सप्ताह यूरोप (Europe) में कोरोना वायरस संक्रमण से होने वाली मौतों (Covid-19 Death) में पांच प्रतिशत की वृद्धि हुई, जिससे यह दुनिया का एकमात्र ऐसा क्षेत्र बन गया जहां कोरोना महामारी (Corona Pandemic) से होने वाली मृत्यु की दर में वृद्धि हुई. संयुक्त राष्ट्र (United Nation) की स्वास्थ्य एजेंसी ने कहा कि पुष्टि किए गए संक्रमण के मामलों में वैश्विक स्तर पर छह प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है, जो अमेरिका, यूरोप और एशिया में वृद्धि के कारण हुई है. विशेषज्ञों का कहना है कि टीकाकरण अभियान को और तेज करने की जरूरत है, वहीं कोरोना प्रोटोकॉल भी अपनाना होगा.

    मंगलवार को महामारी पर अपनी साप्ताहिक रिपोर्ट में डब्ल्यूएचओ ने कहा कि यूरोप के अलावा अन्य सभी क्षेत्रों में कोविड​​-19 से होने वाली मौत की दर स्थिर रही या उसमें गिरावट आई. पिछले सप्ताह दुनिया भर में संक्रमण से कुल 50,000 लोगों की मौत हुई. वहीं संक्रमण के 33 लाख नए मामलों में से 21 लाख मामले यूरोप से आए. यह लगातार सातवां सप्ताह था जब 61 देशों में कोविड​​-19 के मामलों में निरंतर वृद्धि हुई. पश्चिमी यूरोप में लगभग 60 प्रतिशत लोग कोविड-19 रोधी टीकों की सभी खुराक ले चुके हैं. यहां वैक्‍सीनेशन को लेकर लोगों में जागरूकता बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है.

    ये भी पढ़ें : मशरूम से कोरोना का इलाज मुमकिन! अमेरिकी वैज्ञानिकों की टीम कर रही रिसर्च

    रिपोर्ट के अनुसार, यूरोप महाद्वीप के पूर्वी हिस्से में लगभग आधे लोगों को ही टीका लगाया गया है, जहां अधिकारी टीकाकरण से जुड़ी हिचकिचाहट को दूर करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि जुलाई से अफ्रीका, पश्चिम एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया में संक्रमण कम हो रहा है. डब्ल्यूएचओ ने कहा कि यूरोप के भीतर सबसे अधिक नए मामले रूस, जर्मनी और ब्रिटेन से आए है. साथ ही रेखांकित किया कि नॉर्वे में मौतों में 67 प्रतिशत और स्लोवाकिया में 38 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. पूर्व में डब्ल्यूएचओ ने यूरोप को महामारी के ‘केंद्र’ के रूप में वर्णित किया था और आगाह किया था कि अगर तत्काल कार्रवाई नहीं की गई तो जनवरी तक संक्रमण से 5,00,000 और मौतें हो सकती हैं.

    ये भी पढ़ें :  अमेरिका ने जारी की ट्रैवल एडवाइजरी, कहा- भारत में अब कोरोना संक्रमण का खतरा बेहद कम

    यूरोपिय यूनियन (European Union) के कुछ देशों में कोविड-19 (Covid-19) के बढ़ते केसों की वजह से लॉकडाउन (Lockdown) की आशंका बढ़ने लगी है. इन देशों में स्थानीय सरकारें क्रिसमस तक फिर से लॉकडाउन लगाने के विकल्प पर विचार कर रही है. साथ ही इस बात पर बहस हो रही है कि क्या सिर्फ अकेले वैक्सीन की मदद से कोरोना वायरस पर काबू पाया जा सकता है. सर्दियों में फ्लू के मौसम से पहले हुए टीकाकरण के बाद चिंता काफी बढ़ गई है.

    यूरोपियन इकॉनोमिक एरिया (EEA), जिसमें यूरोपिय यूनियन, आइसलैंड और नॉर्वे शामिल हैं, यहां करीब 65% आबादी को वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके हैं लेकिन हाल के महीनों में वैक्सीनेशन की रफ्तार में कमी आई है. 27 सदस्यीय यूरोपियन यूनियन के 10 देशों में कोविड-19 महामारी को लेकर हालात चिंताजनक है. ब्लॉक डिसिजीज एजेंसी ने शुक्रवार को इस बात की जानकारी दी है. यूरोपियन सेंटर फॉर डिसीज़ द्वारा तैयार रिपोर्ट के अनुसार, बेल्जियम, बुल्गारिया, क्रोएशिया, चेक रिपब्लिक, इस्टोनिया, ग्रीस, हंगरी, नीदरलैंड, पौलेंड और स्लोवेनिया में स्थिति बेहद खराब है.

    Tags: Corona Pandemic, Covid-19 Death, Europe, United Nation, WHO

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर