COVID-19 के B 1.617.2 वेरिएंट ने ब्रिटेन में पसारे पांव, 7 दिन में दोगुने हुए पॉजिटिव केस

ब्रिटेन में कोरोना के B 1.617.2 वेरिएंट के केस बढ़े.

ब्रिटेन में कोरोना के B 1.617.2 वेरिएंट के केस बढ़े.

ब्रिटेन में कोरोना वायरस की दूसरी लहर लगभग खत्म हो रही थी, कि इसी बीच वायरस के नए म्यूटेंट B 1.617.2 ने चिंता बढ़ा दी है. देश की राजधानी लंदन और उत्तर पश्चिमी इंग्लैंड में इस म्यूटेंट की मौजूदगी दर्ज हुई है. यहां संक्रमित लोगों की संख्या महज हफ्ते भर में दोगुनी हो गई है.

  • Share this:

लंदन. ब्रिटेन में कोरोना वायरस के केस कम होने लगे थे और ब्रिटिश सरकार 21 जून तक देश में लगे लॉकडाउन को भी पूरी तरह खत्म करने वाली थी. इसी बीच एक बार फिर कोरोना वायरस के नए म्यूटेंट ने यहां पांव पसारने शुरू कर दिए हैं. महज एक हफ्ते के अंदर ब्रिटेन में कोविड के इस नए म्यूटेंट के संक्रमण में दोगुनी वृद्धि हो गई है. कोविड-19 का ये नया वेरिएंट B 1.617.2 है, जिसके मामलों की संख्या ब्रिटेन में 7 दिन के अंदर डबल हो गई है. इसके मद्देनजर देश के जिन हिस्सों में वायरस का यह स्वरूप तेजी से फैलने लगा है, वहां जांच और टीकाकरण में तेजी लाई जा रही है।

बेहद संक्रामक है नया म्यूटेंट

कोविड-19 के B 1.617.2 म्यूटेंट की सबसे पहले भारत में महाराष्ट्र के अंदर पहचान की गई थी. ब्रिटेन में इस म्यूटेंट को वायरस ऑफ कंसर्न की लिस्ट में रखा गया है. पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड (PHE) ने गुरुवार को कहा कि उसके ताजा विश्लेषण में यह बात सामने आई है कि वायरस के इस बेहद संक्रामक स्वरूप से पिछले सप्ताह 520 लोग संक्रमित हुए थे. यह संख्या इस सप्ताह बढ़कर 1313 हो गई. ज्यादातर मामले उत्तर पश्चिम इंग्लैंड और लंदन में पाए गए हैं और संक्रमण की इस कड़ी को तेजी से तोड़ने के लिये अतिरिक्त कदम उठाए जा रहे हैं.

क्या कहते हैं ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री?
ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने कहा कि स्वास्थ्य अधिकारी बेहद सावधानी से स्थिति की निगरानी कर रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो और एहतियायती कदम उठाने से वे नहीं हिचकिचाएंगे. उन्होंने संकेत दिया कि सभी लॉकडाउन कदमों को हटाने की रूपरेखा का 21 जून को फिर से आकलन किया जा सकता है. हैनकॉक ने कहा, ‘आंकड़े दर्शाते हैं कि क्यों हमने त्वरित और निर्णायक कदम उठाए हैं. वायरस के इस स्वरूप पर नियंत्रण के लिये सबको भूमिका निभानी है। इसमें जांच कराना, नियमों का पालन करना और टीका लेना शामिल है.’

ब्रिटेन में दी गई है लॉकडाउन में ढील

पिछले साल से ही ब्रिटेन में कोरोना की सेकेंड वेव ने संक्रमण का स्तर बढ़ा रखा था. सरकार ने हालात को देखते हुए देश में सख्त लॉकडाउन लगा रखा था, जिसे पर धीरे-धीरे हटाया जा रहा है. यूके ने ग्रीन लिस्ट में शामिल कुछ देशों को देश में ट्रैवेल की भी आजादी दे दी है और छोटी-छोटी गेदरिंग्स को लेकर भी हरी झंडी दिखाई है. इनडोर एक्टिविटी और कम लोगों के साथ फंक्शन करने की भी छूट सरकार ने दी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज