Coronavirus Cases in World: ब्रिटेन में कोरोना की दूसरी लहर का खतरा, 6 महीनों के लिए लगाई गईं पाबंदियां

ब्रिटेन में संक्रमण की दूसरी लहर की पुष्टि खुद प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) कर चुके हैं.
ब्रिटेन में संक्रमण की दूसरी लहर की पुष्टि खुद प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) कर चुके हैं.

Coronavirus Cases in World: दुनिया में 60 फीसदी लोगों की जान सिर्फ छह देशों में गई है. ये देश हैं- अमेरिका, ब्राजील, मैक्सिको, भारत, ब्रिटेन, इटली. दुनिया के चार देशों (अमेरिका, ब्राजील, मैक्सिको, भारत) में 70 हजार से ज्यादा संक्रमितों की मौत हुई है. इन चार देशों में कुल 5 लाख से ज्यादा लोगों की जान गई है, ये संख्या दुनिया में मौतों की कुल 52 फीसदी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2020, 3:39 PM IST
  • Share this:
लंदन. दुनियाभर में अब तक 3 करोड़ 17 लाख 131 हजार लोग कोरोना संक्रमित (COVID-19 Infected) हो चुके हैं. इसमें से 9 लाख 75 हजार (3.06%) लोगों ने अपनी जान गंवा दी है. जबकि 2 करोड़ 34 लाख (73%) से ज्यादा मरीज ठीक हो चुके हैं. पूरी दुनिया में 74 लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं. अमेरिका, ब्राजील और ब्रिटेन का बुरा हाल है. ब्रिटेन में संक्रमण की दूसरी लहर की पुष्टि खुद प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) कर चुके हैं. अब खबर है कि ब्रिटेन में सरकार ने नए प्रतिबंधों की घोषणा की है, जो 6 महीने तक भी जारी रह सकते हैं. बोरिस जॉनसन ने लोगों से घरों से ही काम करने की अपील की है तथा रेस्त्रां एवं बार को बंद करने का ऐलान किया है. इस दौरान शादियों और खेल आयोजनों पर लगे प्रतिबंध भी जारी रह सकते हैं. हालांकि, ब्रिटेन में लोग इसका विरोध कर रहे हैं.

दरअसल ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि अगर तत्काल कदम नहीं उठाए गए तो देश में मृतकों की संख्या बढ़ सकती है. ऐसे में जॉनसन ने मार्च की तरह पूर्ण लॉकडाउन तो नहीं लगाया है, लेकिन चेतावनी दी है कि अगर लोगों ने सावधानियां नहीं बरतीं तो सख्त कदम उठाए जा सकते हैं.

ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन ने मंगलवार को एक प्रोग्राम के दौरान कहा, 'फुटबॉल मैचों के बारे में फिर से विचार किया जाएगा. वहां बहुत ज्यादा लोग जुटते हैं. अंतिम संस्कार में 30 से ज्यादा लोग नहीं आ सकेंगे. मास्क अनिवार्य होगा. लंदन और देश के बाकी हिस्सों में चलने वाली टैक्सियों को लेकर भी नई गाइडलाइन्स जारी की जा सकती हैं.'



UN में बरसे ट्रंप, कहा- चीन की करतूतों से फैला कोरोना, उसे जिम्मेदार ठहराएं


दुनिया में 60 फीसदी लोगों की जान सिर्फ छह देशों में गई है. ये देश हैं- अमेरिका, ब्राजील, मैक्सिको, भारत, ब्रिटेन, इटली. दुनिया के चार देशों (अमेरिका, ब्राजील, मैक्सिको, भारत) में 70 हजार से ज्यादा संक्रमितों की मौत हुई है. इन चार देशों में कुल 5 लाख से ज्यादा लोगों की जान गई है, ये संख्या दुनिया में मौतों की कुल 52 फीसदी है.


स्पेन में भी बढ़ा लॉकडाउन
ब्रिटेन के अलावा स्पेन के अधिकारियों ने शनिवार को राजधानी मैड्रिड के कुछ हिस्सों में कोरोना वायरस कोविड-19 मामलों की वृद्धि को रोकने के लिए लॉकडाउन की तरह प्रतिबंध लगाए जाने की घोषणा की. बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, लॉकडाउन का यह चरण सोमवार से लागू हुआ. मैड्रिड क्षेत्र में आठ लाख 50 हजार से अधिक लोग इससे प्रभावित होंगे. इस दौरान यात्रा और सामाजिक समारोहों पर प्रतिबंध होगा.

वहीं, स्पेन की सरकार ने कहा कि महामारी के पहले चरण में स्पेन यूरोप में कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित देशों में से था. स्पेन में अब कोरोना के छह लाख 25 हजार 651 मामले हैं और मैड्रिड और आसपास संक्रमण होने औसत दर दोगुने से अधिक है.

लंदन से वियतनाम जा रही महिला ने फ्लाइट में 15 लोगों को किया संक्रमित

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कोरोना से 2 लाख लोगों की मौत को बताया शर्मनाक
उधर, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने देश में कोरोना वायरस से हुई 2 लाख मौतों को शर्मनाक बताया है. मंगलवार को व्हाइट हाउस में मीडिया से बातचीत में एक ट्रंप ने यह टिप्पणी की. एक रिपोर्टर ने उनसे पूछा था- देश में कोरोना वायरस से 2 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. आप इस पर क्या कहेंगे? इस पर ट्रंप ने कहा- मेरे हिसाब से तो यह शर्मनाक है, लेकिन मैं ये भी कहूंगा कि अगर हम सही वक्त पर सही कदम नहीं उठाते यह आंकड़ा ढाई लाख से ज्यादा हो सकता था.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज