अपना शहर चुनें

States

ब्रिटेन को कोरोना वायरस के दक्षिण अमेरिकी स्ट्रेन का डर, उड़ानों पर लगाई पाबंदी

यूके के पीएम बोरिस जॉनसन (फाइल फोटो)
यूके के पीएम बोरिस जॉनसन (फाइल फोटो)

New Strain: बीते बुधवार को देश की संसद में सांसदों ने प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) से दक्षिण अमेरिका में मिले नए स्ट्रेन पर कदम उठाने की अपील की थी. जिसके बाद गुरुवार को पीएम जॉनसन ने हवाई उड़ानों पर पाबंदी की घोषणा कर दी थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 15, 2021, 2:17 PM IST
  • Share this:
लंदन. पहले ही कोरोना वायरस (Corona Virus) के नए स्ट्रेन से जूझ रहे ब्रिटेन पर ब्राजील (Brazil) में मिले कोरोना के नए रूप का खतरा भी मंडरा रहा है. इसी बीच यूके ने बड़ा फैसला लेते हुए पुर्तगाल, पनामा, केप वेर्दे के साथ-साथ पूरे दक्षिण अमेरिका से आने वाली फ्लाइट्स पर बैन (Flights Ban) लगा दिया है. ब्रिटेन के समयानुसार शुक्रवार सुबह 4 बजे से इन इलाकों से आने वाली कोई भी फ्लाइट लैंड नहीं करेगी. इसकी जानकारी ट्रांसपोर्ट मंत्री ग्रांट शैप्स ने दी है.

मंत्री शैप्स ने ट्विटर के जरिए बताया कि पुर्तगाल की फ्लाइट्स पर पाबंदी लगाने का कारण ब्राजील है. पुर्तगाल और ब्राजील के बीच ट्रैवलिंग की जड़ें काफी गहरी हैं. वहीं, अपने ही देश में मिले नए स्ट्रेन से लड़ रहे ब्रिटेन में इस महीने तीसरा लॉकडाउन लगाया गया है. एक्सपर्ट्स के अनुसार, ब्रिटेन में मिला कोरोना वायरस का नया वैरिएंट पिछले रूप से 70 प्रतिशत ज्यादा संक्रामक है.

खास बात है कि बीते बुधवार को देश की संसद में सांसदों ने प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन से दक्षिण अमेरिका में मिले नए स्ट्रेन पर कदम उठाने की अपील की थी. जिसके बाद गुरुवार को पीएम जॉनसन ने हवाई उड़ानों पर पाबंदी की घोषणा कर दी थी. पहले ही कई देशों में जारी हवाई उड़ानों पर पाबंदी के चलते ब्रिटेन का उड्डयन कारोबार खासा प्रभावित हुआ है. लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट पर पैसेंजर ट्रैफिक 73 प्रतिशत गिर गया है.



यह भी पढ़ें: ब्रिटेन में दवा दुकानों को Covid-19 के टीके की आपूर्ति शुरू हुई
कोरोना वायरस की पहली लहर के दौरान देश में पाबंदियों लगाने में देरी पर जॉनसन सरकार को आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था. यहां आने वाले सभी यात्रियों को नेगेटिव कोविड-19 जांच का होना शुक्रवार से अनिवार्य होना था. हालांकि, इसे 18 जनवरी तक के लिए टाल दिया गया था. कोई भी व्यक्ति अगर नेगेटिव टेस्ट के बगैर देखा जाता है, तो उसे 500 पाउंड का जुर्माना भरना होगा.

वर्ल्डोमीटर के आंकड़े बताते हैं कि ब्रिटेन में अब तक कोरोना वायरस के 32 लाख 60 हजार 258 मरीज सामने आ चुके हैं. जिसमें से 86 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि, यूके में 14 लाख 6 हजार 967 मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं. इसके अलावा एक्टिव मामलों के लिहाज से देश की हालत ठीक नहीं है. यहां फिलहाल 17 लाख 67 हजार 276 मरीजों का इलाज जारी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज