लाइव टीवी

ब्रिटेन की होम मिनिस्टर ने कहा- Brexit पूरा होने पर भारतीयों को देंगे EU नागरिकों सरीखी प्राथमिकता

News18Hindi
Updated: December 8, 2019, 6:59 PM IST
ब्रिटेन की होम मिनिस्टर ने कहा- Brexit पूरा होने पर भारतीयों को देंगे EU नागरिकों सरीखी प्राथमिकता
प्रीति पटेल भारतीय मूल की हैं.

गुजराती (Guajarat) मूल की नेता प्रीति ब्रिटेन में भारतीय मूल के लोगों के सभी प्रमुख कार्यक्रमों में अतिथि होती हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 8, 2019, 6:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ब्रिटेन (Britain) में भारतीय मूल की गृह मंत्री प्रीति पटेल (Home Minsister Priti Patel) ने ब्रेक्जिट (Brexit) डील फाइनल होने के बाद भारत और ब्रिटेन (India and Britain) के बीच मजबूत संबंधों का वादा किया. CNN NEWS18 को दिये एक इंटरव्यू में पटेल ने कहा कि 'हम ब्रेक्जिट पूरा होने के बाद बहुत कुछ बदल देंगे. हम एक बार ब्रेक्जिट की प्रक्रिया पूरी कर लें तो ब्रिटेन आने वाले भारतीयों को वही वरीयता दे पाएंगे जो हम यूरोपियन यूनियन के नागरिकों को देते हैं.'

पटेल ने कहा कि वह दोनों देशों के बीच 'संबंधों को और मजबूत करने' के लिए तत्पर हैं. उन्होंने कहा, 'ब्रिटिश होम सेक्रटरी के रूप में, मैं इमग्रेशन पर बहुत कुछ करने में सक्षम हो जाऊंगी. हम पहले ही वीजा मानदंडों में बदलाव ला चुके हैं.'

पटेल ने कहा, 'हम उन लोगों को भी लाने के लिए काम करेंगे जो हमारे देश में काम करना चाहते हैं और हमारी अर्थव्यवस्था की मदद करना चाहते हैं. ब्रेक्जिट करने के बाद यह सब करने में सक्षम हो जाएंगे. हम उस भेदभाव को समाप्त करने का प्रयास कर रहे हैं जो वर्तमान इमग्रेशन में हैं.'

बैक बोरिस' अभियान की प्रमुख सदस्य थीं प्रीति

प्रीति कंजरवेटिव पार्टी नेतृत्व के लिए 'बैक बोरिस' अभियान की प्रमुख सदस्य थीं और पहले से संभावना थी कि उन्हें नई कैबिनेट में कोई बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है.

उन्होंने उनकी नियुक्ति की घोषणा से कुछ घंटे पहले कहा, 'यह महत्वपूर्ण है कि कैबिनेट आधुनिक ब्रिटेन और आधुनिक कंजरवेटिव पार्टी को प्रदर्शित करे.'

गुजराती मूल की नेता प्रीति ब्रिटेन में भारतीय मूल के लोगों के सभी प्रमुख कार्यक्रमों में अतिथि होती हैं और उन्हें ब्रिटेन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उत्साही प्रशंसक के रूप में देखा जाता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 8, 2019, 6:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर