Home /News /world /

भगोड़े नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण पर UK हाईकोर्ट में आज है सुनवाई

भगोड़े नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण पर UK हाईकोर्ट में आज है सुनवाई

घोटाले के बाद भारत से भागने वाला नीरव मोदी इस समय लंदन की एक जेल में बंद है. (AP)

घोटाले के बाद भारत से भागने वाला नीरव मोदी इस समय लंदन की एक जेल में बंद है. (AP)

PNB Scam Nirav Modi Extradition Case:नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी पर पंजाब नेशनल बैंक के अधिकारियों के साथ मिलकर 11 हजार करोड़ रुपये से अधिक का घोटाला करने का आरोप है. यह धोखाधड़ी गारंटी पत्र के जरिए की गई. उस पर भारत में बैंक घोटाला और मनी लॉन्ड्रिंग के तहत दो प्रमुख मामले सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय ने दर्ज किए हैं.

अधिक पढ़ें ...

    लंदन. पंजाब नेशनल बैंक (PNB Scam) के मास्टरमाइंड और भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी (Nirav Modi) के भारत प्रत्यर्पण की अपील पर मंगलवार इंग्लैंड के हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है. नीरव मोदी ने मानसिक स्वास्थ्य (Mental Health) और मानवाधिकार आधारों पर राहत के लिए अपील कर रखी है. इस साल अगस्त की शुरुआत में नीरव मोदी (Who is Nirav Modi) को इस आधार पर इंग्लैंड से भारत प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील करने की अनुमति दी गई थी कि भारत लौटने से उसका मानसिक स्वास्थ्य खराब होगा और वह आत्महत्या (Suicide) कर सकता है.

    नीरव मोदी के वकील लंबे समय से तर्क दे रहे हैं कि उनके मुवक्किल गंभीर अवसाद से पीड़ित हैं. अगर उन्हें मुंबई की आर्थर रोड जेल में कैद किया जाता है, तो उन्हें पर्याप्त चिकित्सा देखभाल नहीं मिलेगी. नीरव मोदी के वकीलों ने कहा कि मार्च 2019 में लंदन में उनकी गिरफ्तारी और कोविड -19 महामारी के दौरान जेलों पर लगाए गए सख्त प्रतिबंधों के बाद दक्षिण लंदन के वैंड्सवर्थ जेल में उनकी मानसिक स्थिति और बिगड़ गई थी. उन्होंने कई चिकित्सा विशेषज्ञों को भी इस बात का सबूत देने के लिए पेश किया था कि नीरव मोदी को आत्महत्या करने का भारी खतरा है.

    क्या भारत लाया जाएगा नीरव मोदी? प्रत्यर्पण के खिलाफ 14 दिसंबर को होगी सुनवाई

    नीरव मोदी पर क्या है आरोप?
    नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी पर पंजाब नेशनल बैंक के अधिकारियों के साथ मिलकर 11 हजार करोड़ रुपये से अधिक का घोटाला करने का आरोप है. यह धोखाधड़ी गारंटी पत्र के जरिए की गई. उस पर भारत में बैंक घोटाला और मनी लॉन्ड्रिंग के तहत दो प्रमुख मामले सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय ने दर्ज किए हैं. सीबीआई और ईडी के अनुरोध पर ब्रिटेन से उसका प्रत्यर्पण अगस्त, 2018 में मांगा गया था. घोटाले के बाद भारत से भागने वाला नीरव मोदी इस समय लंदन की एक जेल में बंद है.

    कैसे दिया गया अंजाम
    हांगकांग से जेवरातों की खरीद करने के लिए भारत के बिजनेसमैन नीरव मोदी और उनके साथियों को लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (एलओयू) दिया गया था. पीएनबी द्वारा जरिए गए एलओयू के आधार पर ऊपर बताए गए बैंकों ने इन लोगों को क्रेडिट पर पैसे दिए थे. जिसके बाद इन लोगों ने इन पैसों से खरीददारी की थी.

    10 कर्मचारियों को किया बर्खास्त
    इस मामले के सामने आते ही पंजाब नेशनल बैंक ने अपने 10 कर्मचारियों को नौकरी से तुरंत बर्खास्त कर दिया. वहीं बताया जा रहा है कि पहले इन पैसों को सीबीएस (कोर बैंकिंग) प्रणाली द्वारा भेजा जाना था. लेकिन बाद में स्विफ्ट प्रणाली की मदद से रकम में वृद्धि करके ये घोटाला किया गया.

    हीरा कारोबारी नीरव मोदी कैसे बना भगोड़ा, वेब सीरीज में देखिए 14,000 करोड़ के घोटाले की कहानी

    15 अप्रैल को प्रत्यर्पण ऑर्डर पर हुए थे साइन
    इस साल 15 अप्रैल को ब्रिटेन की सरकार ने नीरव मोदी के भारत प्रत्यर्पण के बारे में एक ऑर्डर साइन किया था. इससे पहले 25 फरवरी को डिस्ट्रिक्ट जज नें नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के मामले में फैसला दिया था. नीरव मोदी ने इसे चुनौती देने के लिए ब्रिटेन के हाईकोर्ट में एक अपील दायर की है. नीरव मोदी की याचिका में भारत में उचित मुक़दमा नहीं चलने और राजनीतिक कारणों से उन्हें निशाना बनाने की चिंता जाहिर की गई है. याचिका में यह भी कहा गया है कि भारत में जेलों की स्थिति खराब है और उसके खिलाफ सबूत कमजोर हैं.

    Tags: Extradition of Nirav Modi, Nirav Modi, PNB scam

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर