होम /न्यूज /दुनिया /

'ईरान के खिलाफ पश्चिम को जगाने वाली घटना' : सलमान रुश्दी पर हमले को लेकर बोले ऋषि सुनक

'ईरान के खिलाफ पश्चिम को जगाने वाली घटना' : सलमान रुश्दी पर हमले को लेकर बोले ऋषि सुनक

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और देश के पूर्व वित्त मंत्री ऋषि सुनक. (फाइल फोटो)

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और देश के पूर्व वित्त मंत्री ऋषि सुनक. (फाइल फोटो)

Rishi Sunak Salman Rushdie News: ब्रिटिश प्रधानमंत्री पद के दावेदार ऋषि सुनक ने कहा, 'परमाणु हथियारों से संपन्न ईरान हमारे साझेदार इजराइल के अस्तित्व के लिए खतरा हो सकता है और अपनी बैलेस्टिक मिसाइल क्षमता से पूरे यूरोप को संकट में डाल में सकता है.'

अधिक पढ़ें ...

लंदन. ब्रिटिश प्रधानमंत्री पद के दावेदार ऋषि सुनक ने रविवार को कहा कि प्रख्यात लेखक सलमान रुश्दी पर किया गया हमला ईरान के खिलाफ सख्त प्रतिबंध लगाने और उसकी सैन्य इकाई को निषिद्ध करने के लिए पश्चिम को जगाने वाला होना चाहिए. पूर्व चांसलर ने ‘द डेली टेलीग्राफ’ से कहा कि ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते को बहाल करने की कोशिश बेकार हो सकती है और इसलिए ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कोर के खिलाफ कार्रवाई का आकलन किया जाना चाहिए.

उनका बयान ऐसे समय आया है जब रुश्दी पर हमले के संदिग्ध आरोपी हादी मतर के खिलाफ शनिवार को हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया गया और उसे बिना जमानत हिरासत में भेज दिया गया था. शुरुआती जांच में संकेत मिले हैं कि वह शिया चरमपंथ और रिवोल्यूशनरी गार्ड के प्रति सहानुभूति रखता था. सुनक ने अखबार से कहा, ‘ईरान में स्थिति बहुत ही गंभीर है और हम (व्लादिमीर) पुतिन के आमने-सामने खड़े होने की वजह से कहीं और से नजर नहीं हटा सकते हैं.’ उन्होंने पुतिन का संदर्भ यूक्रेन-रूस युद्ध के संदर्भ में दिया. उन्होंने कहा, ‘परमाणु हथियारों से संपन्न ईरान हमारे साझेदार इजराइल के अस्तित्व के लिए खतरा हो सकता है और अपनी बैलेस्टिक मिसाइल क्षमता से पूरे यूरोप को संकट में डाल में सकता है.’

सुनक ने कहा, ‘हमें तत्काल नवीन और सशक्त समझौता करना चाहिए और कहीं अधिक सख्त प्रतिबंध लगाना चाहिए। अगर हमें नतीजे नहीं मिले तो हमें यह सवाल करना चाहिए कि क्या संयुक्त विस्तृत कार्ययोजना (जेसीपीओए) मरणासन्न हो गयी है? सलमान रुश्दी पर चाकुओं से नृशंस हमला पश्चिम के लिए जगाने वाला संदेश होना चाहिए और हमले को लेकर ईरान की प्रतिक्रया से इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कोर (आईआरजीसी) पर प्रतिबंध का मामला बनता है.’

सलमान रुश्दी की हालत में सुधार, वेंटीलेटर हटाया गया
दूसरी ओर, प्रख्यात लेखक सलमान रुश्दी अब जीवन रक्षक प्रणाली (वेंटीलेटर) पर नहीं हैं और बात भी कर रहे हैं. उन पर एक दिन पहले न्यूयॉर्क में हमला किया गया था. अमेरिकी प्राधिकारियों ने इस हमले को ‘लक्षित, बिना उकसावे का और पूर्व नियोजित’ बताया. मुंबई में जन्मे विवादास्पद लेखक रुश्दी को ‘द सैटेनिक वर्सेज’ लिखने के बाद वर्षों तक इस्लामी चरमपंथियों से मौत की धमकियों का सामना करना पड़ा था. उन्हें न्यूजर्सी के 24-वर्षीय निवासी हादी मतार ने पश्चिमी न्यूयॉर्क राज्य में एक कार्यक्रम में चाकू मार दिया था.

Tags: Rishi Sunak, Salman Rushdie

अगली ख़बर