होम /न्यूज /दुनिया /

ब्रिटेन में सूखे से पानी के संकट के बीच सुनक ने किया ये काम! सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फूटा

ब्रिटेन में सूखे से पानी के संकट के बीच सुनक ने किया ये काम! सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फूटा

ऋषि सुनक ने एक स्विमिंग पूल पर करीब 3.8 करोड़ रुपये खर्च किए (News18)

ऋषि सुनक ने एक स्विमिंग पूल पर करीब 3.8 करोड़ रुपये खर्च किए (News18)

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ऋषि सुनक अपनी हवेली के अंदर एक आलीशान स्विमिंग पूल पर करीब 3.8 करोड़ रुपये खर्च कर रहे हैं. इसके बाद सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा.

हाइलाइट्स

ऋषि सुनक ने एक स्विमिंग पूल पर करीब 3.8 करोड़ रुपये खर्च किए
इंग्लैंड के कई हिस्से इस समय सूखे और भीषण गर्मी से जूझ रहे हैं
इस खबर के बाद सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फूटा

लंदन. ब्रिटेन में प्रधानमंत्री पद के चुनाव के लिए एक महीने से भी कम समय बचा है और भारतीय मूल के पीएम पद के दावेदार ऋषि सुनक एक बार फिर अपनी जीवनशैली को लेकर सवालों के घेरे में आ गए हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सुनक अपनी हवेली के अंदर एक आलीशान स्विमिंग पूल को बनाने पर करीब 3.8 करोड़ रुपये खर्च कर रहे हैं. यह खबर ऐसे समय में सामने आई है जब इंग्लैंड के कई हिस्से सूखे और भीषण गर्मी से जूझ रहे हैं.

द इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के मुताबिक ऋषि सुनक ने अपनी हवेली में एक नए स्विमिंग पूल पर 400,000 पाउंड (लगभग  3.8 करोड़ करोड़ रुपये) खर्च किए. सुनक, उनकी पत्नी अक्षता मूर्ति अपने दो बच्चों के साथ नॉर्थ यॉर्कशायर के इस घर में अपना वीकेंड बिताते हैं. एक और मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि पूर्व वित्त मंत्री जिम और टेनिस कोर्ट भी बनवा रहे हैं.

इस इलाके की हवाई फुटेज से पता चलता है कि पूल का निर्माण जोरों से चल रहा है. इस खबर के सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर हंगामा खड़ा हो गया है. कई लोगों ने स्विमिंग पूल के निर्माण के लिए सुनक की आलोचना की. खासकर ऐसे समय में जबकि देश पानी की कमी से जूझ रहा है. इसके अलावा आग में घी डालने वाली बात ये है कि बढ़ती ऊर्जा लागत के कारण शहर में सार्वजनिक स्विमिंग पूल को बंद करने के लिए मजबूर किया गया है.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री पद के लिए सर्वे में ऋषि सुनक पिछड़े, लिज ट्रस ने बनाई बढ़त

यह पहली बार नहीं है जब ऋषि सुनक और उनका परिवार अपनी जीवन शैली को लेकर विवादों में आया है. पिछले महीने अक्षता मूर्ति को महंगे क्रॉकरी में चाय परोसने पर लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा था. करों में बढ़ोतरी और रोजमर्रा के जीवन के बढ़ते खर्च बोरिस जॉनसन के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ सार्वजनिक असंतोष के प्रमुख कारक थे. ब्रिटेन के तत्कालीन वित्त मंत्री सुनक करों में बढ़ोतरी को लेकर आलोचनाओं के घेरे में आ गए थे.

Tags: Boris Johnson, Britain, Rishi Sunak

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर