• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • ब्रिटेन : नर्व एजेंट हमला मामले में रूसी नागरिक को आरोपी बनाया, सबूत का दावा

ब्रिटेन : नर्व एजेंट हमला मामले में रूसी नागरिक को आरोपी बनाया, सबूत का दावा

ब्रिटेन की पुलिस ने कहा कि नर्व एजेंट हमला मामले में एक रूसी नागरिक को आरोपित किया है. ( प्रतीकात्‍मक फोटो )

ब्रिटेन की पुलिस ने कहा कि नर्व एजेंट हमला मामले में एक रूसी नागरिक को आरोपित किया है. ( प्रतीकात्‍मक फोटो )

2018 में हुए नर्व एजेंट हमला मामले में तीसरे संदिग्ध एक रूसी नागरिक को ब्रिटेन (Britain) की पुलिस ने आरोपित किया है. स्कॉटलैंड यार्ड (Scotland Yard) ने कहा कि अभियोजकों का मानना ​​​​है कि सर्गेई फेडोटोव के नाम से जाने जाने वाले व्यक्ति पर हत्या की साजिश, हत्या का प्रयास, रासायनिक हथियार रखने और उसका उपयोग करने व गंभीर शारीरिक नुकसान पहुंचाने के आरोप लगाने के लिए पर्याप्त सबूत हैं.

  • ए पी
  • Last Updated :
  • Share this:

    लंदन. ब्रिटेन (Britain) की पुलिस ने मंगलवार को कहा कि उसने ब्रिटेन में रूस (Russia) के पूर्व जासूस पर 2018 में हुए नर्व एजेंट हमला मामले में तीसरे संदिग्ध एक रूसी नागरिक को आरोपित किया है. स्कॉटलैंड यार्ड (Scotland Yard) ने कहा कि अभियोजकों का मानना ​​​​है कि सर्गेई फेडोटोव के नाम से जाने जाने वाले व्यक्ति पर हत्या की साजिश, हत्या का प्रयास, रासायनिक हथियार रखने और उसका उपयोग करने व गंभीर शारीरिक नुकसान पहुंचाने के आरोप लगाने के लिए पर्याप्त सबूत हैं.

    गौरतलब है कि साल 2018 में रूस के पूर्व जासूस सर्गेई स्क्रिपल और उनकी बेटी यूलिया पर इंग्लैंड के सेलिसबरी में नर्व एजेंट जहर का हमला हुआ था. ब्रिटेन के अधिकारियों ने कहा था कि रूस के शीर्ष नेतृत्व की शह पर यह हमला किया गया था. हालांकि रूस इन आरोपों का खंडन कर चुका है. पुलिस ने कहा कि उसके पास सबूत हैं कि ”सर्गेई फेडोटोव” रूसी सैन्य खुफिया सेवा जीआरयू के सदस्य डेनिस सर्गेव का उपनाम है. इससे पहले पुलिस दो अन्य रूसी सैन्य खुफिया जासूसों एलेक्जेंडर पेट्रोव और रूसलन बोशिरोव को आरोपित कर चुकी है. उन पर ब्रिटेन आकर इस वारदात को अंजाम देने का आरोप है.

    ये भी पढ़ें : कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेशन की मान्यता का विस्तार करने के लिए भारत से बात कर रहा ब्रिटेन

    ये भी पढ़ें : जिम से आते ही पति को प्रोटीन पाउडर देती थी बीवी, 30 किलो वजन घटने पर खुला खौफनाक राज!

    2018 में पूर्व जासूस और उनकी बेटी पर मामला दर्ज किया था
    ब्रिटिश अभियोजकों ने पूर्व जासूस सर्गेइ स्क्रिपाल और उनकी बेटी को जानलेवा नर्व एजेंट जहर देकर मारने की कोशिश करने को लेकर सितंबर 2018 में दो रूसी नागरिकों के खिलाफ मामला दर्ज  किया.  स्कॉटलैंड यार्ड ने कहा कि दोनों के खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए ‘‘पर्याप्त सबूत’’ मौजूद हैं. स्कॉटलैंड यार्ड और क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस (सीपीएस) ने एक बयान में कहा कि संदिग्धों के नाम एलेक्जेंडर पेट्रोव और रूसलन बोशिरोव हैं. उनकी आयु 40 साल से अधिक है. दोनों रूसी सैन्य खुफिया सेवा ग्रू (जीआरयू) के अधिकारी बताए जा रहे हैं.

    कई महीनों तक चला ट्रीटमेंट
    66 वर्षीय पूर्व रूसी डबल एजेंट और उनकी बेटी यूलिया (33) गत चार मार्च को ब्रिटिश शहर सैलिसबरी में शॉपिंग सेंटर बेंच पर अचेतावस्था में पाए गए थे. उन्हें गंभीर हालत में कई हफ्ते अस्पताल में भर्ती रहना पड़ा. इसके बाद यूलिया को अप्रैल में और स्क्रिपाल को मई में अस्पताल से छुट्टी मिली. उन्हें अज्ञात स्थल पर भेज दिया गया है. प्रधानमंत्री टेरेसा मे ने हाउस ऑफ कॉमंस में अपने भाषण में घटना के लिए सीधे सीधे रूस सरकार को जिम्मेदार ठहराया. इस मामले को लेकर रूस और पश्चिमी देशों के बीच शीतयुद्ध की तरह का कूटनीतिक संकट पैदा हो गया था. दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के सैकड़ों राजनयिकों को निष्कासित किया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज