Home /News /world /

ब्रिटिश सांसदों की रिपोर्ट पर घिरी बोरिस जॉनसन सरकार, कोरोना के नाम पर बर्बाद कर दिए अरबों!

ब्रिटिश सांसदों की रिपोर्ट पर घिरी बोरिस जॉनसन सरकार, कोरोना के नाम पर बर्बाद कर दिए अरबों!

ब्रिटिश संसद की दृश्य (FILE PHOTO)

ब्रिटिश संसद की दृश्य (FILE PHOTO)

विपक्षी लेबर पार्टी के मेग हिलियर ने बीबीसी रेडियो को बताया, "जाे भी जनता से वादा किया गया था, उस पर अमल नहीं किया गया, देश के करदाता को एक एटीएम मशीन की तरह समझा गया. यह वास्तव में दुख की बात है कि देश के करदाता के प्रति सरकार के मन में कोई हमदर्दी नहीं है. हार्डिंग और सरकार ने देश की 'राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा' (NHS) के मौजूदा नेटवर्क के बजाय बाहरी महंगे ठेकेदारों पर अधिक भरोसा किया.

अधिक पढ़ें ...

    लंदन. ब्रिटिश संसद की कोविड-19 (Covid-19) पर एक चौंकाने वाली रिपोर्ट से पूरे ब्रिटेन में हड़कंप मच गया है. सांसदों ( lawmakers ) की कमेटी की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि सरकार (UK government) कोविड-19 के फैलने काे रोकने में नाकाम रही और उसने 37 बिलियन पाउंड ( 37 Billion Pounds) पानी की तरह बहा दिए. रिपोर्ट ने सरकार और इस प्रोग्राम की हेड डिडो हार्डिंग पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनके पास महामारी से निपटने का कोई प्लान नहीं था. विपक्षी लेबर पार्टी के मेग हिलियर ने बीबीसी रेडियो को बताया, “जाे भी जनता से वादा किया गया था, उस पर अमल नहीं किया गया, देश के करदाता को एक एटीएम मशीन की तरह समझा गया. यह वास्तव में दुख की बात है कि देश के करदाता के प्रति सरकार के मन में कोई हमदर्दी नहीं है.

    ब्रिटेन से कहां गलती हुई?
    जब पिछले साल की शुरुआत में महामारी फैली, तो ब्रिटेन ने नए मामलों की टेस्टिंग और संक्रमित लोगों का पता लगाने के लिए एक बड़े पैमाने पर कार्यक्रम बनाने की कोशिश की थी. लेकिन जल्द ही कोराेना विस्फोट हो गया और देश में रूस के बाद यूरोप में सबसे ज्यादा मौतें हुईं. सांसदों की रिपोर्ट में कहा गया है कि हार्डिंग और सरकार ने देश की ‘राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा’ (NHS) के मौजूदा नेटवर्क के बजाय बाहरी महंगे ठेकेदारों पर अधिक भरोसा किया. रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार कार्यक्रम में दी जाने वाली सेवाएं लगातार बदलती रहती थीं और इसका लाभ “कोविड-19 लक्षणों का अनुभव करने वाले बेहद छोटे तबके को ही मिल रहा था.”

    सरकार ने रिपोर्ट खारिज की
    रिपोर्ट में कुल मिलाकर यह निष्कर्ष निकाला गया, सरकार की प्लानिंग पूरी तरह से नाकाम हुई. यह काेविड-19 की चेन को तोड़ने के मुख्य मकसद को पूरा नहीं कर पाई. वहीं, ब्रिटेन की सरकार ने टेस्टिंग प्रोग्राम का बचाव करते हुए कहा कि देश का टेस्टिंग प्रोग्र्राम पूरे यूरोप में सबसे अच्छा है. यूके हेल्थ सिक्युरिटी एजेंसी के जेनी हेेरिस ने बताया कि इसने हर दिन लोगों की जान बचाई है और काेविड-19 से लड़ने में मदद की है.

    Tags: Britain, Corona, World news, World news in hindi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर