ब्रिटेन में फिर तेजी से बढ़े कोरोना के नए केस, वैक्सीनेशन के बाद भी तीसरी लहर का खतरा मंडराया!

वैज्ञानिक कोरोना वायरस के बी.1.617 वेरिएंट के प्रसार को लेकर सावधानी बरतने की सलाह दे रहे हैं. (फ़ाइल फोटो)

वैज्ञानिक कोरोना वायरस के बी.1.617 वेरिएंट के प्रसार को लेकर सावधानी बरतने की सलाह दे रहे हैं. (फ़ाइल फोटो)

Coronavirus in Britain: ब्रिटेन में कोरोना के नए वेरिएंट के केस 75 फीसदी से ज्यादा हैं. इसके चलते संक्रमण की दर काफी ज़्यादा बढ़ गई है.

  • Share this:

लंदन.  ब्रिटेन में कोरोना (Coronavirus in Britain) की तीसरी लहर का खतरा मंडराने लगा है. शुक्रवार को यहां 4182 नए केस सामने आए. ये यहां पिछले दो महीनों में कोरोना के नए मरीजों का सबसे बड़ा आंकड़ा है. ऐसे में ब्रिटेन में लॉकडाउन हटाने की योजना अधर में लटक सकती है. ब्रिटेन में अब तक 44 लाख से ज्यादा लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं, जबकि यहां अब तक 1 लाख 27 हज़ार से ज्यादा मरीज़ों की मौत हुई है. इस बीच ब्रिटेन ने एक कोरोना के एक और टीके को मंजूरी दी है. अब यहां जॉनसन एंड जॉनसन के सिंगल डोज़ के टीके भी लगाए जाएंगे.

कोरोना के तेज़ी से बढ़ते मामलों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है. इस साल एक अप्रैल के बाद कोरोना के यहां सबसे ज्यादा नए केस सामने आए हैं. पिछले हफ्ते के मुकाबले इस हफ्ते कोरोना के नए मरीज़ों की संख्या में 24 फीसदी की बढ़त देखी गई है. समाचार एजेंसी एपी के मुताबिक मरीज़ों की बढ़ती संख्या ने ब्रिटेन के वैज्ञानिकों की चिंता बढ़ा दी है और उन्हें तीसरी लहर का खतरा दिख रहा है.

लगातार बढ़ रहे हैं केस

जनवरी के दूसरे हफ्ते में यहां हर रोज़ 70 हजार केस सामने आ रहे थे. हालांकि 4 हजार की संख्या इसके मुकाबले बेहद कम हैं. लेकिन मरीज़ों के लगातार बढ़ते ट्रेंड ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है. सरकार 21 जून से कई सारे पाबंदियों को हटाने का प्लान कर रही थी. लेकिन अब ऐसा करना खतरे से खाली नहीं होगा. पिछले हफ्ते ही ब्रिटेन में पब और बार को इंडोर सर्विस शुरू करने की इजाजत दी गई थी.
ये भी पढ़ें:- कोविशील्ड की दो डोज़ के बाद कोवैक्सीन भी ले रहे लोग, डॉक्टरों ने जताई चिंता

नए वेरिएंट ने बढ़ाई चिंता

कहा जा रहा है कि ब्रिटेन में कोरोना के नए वेरिेएंट के केस 75 फीसदी से ज्यादा हैं. इसके चलते संक्रमण की दर काफी ज़्यादा बढ़ गई है. वैज्ञानिक कोरोना वायरस के बी.1.617 वेरिएंट के प्रसार को लेकर सावधानी बरतने की सलाह दे रहे हैं. ताजा आंकड़ों के अनुसार संक्रमण के नए मामलों में से आधे से अधिक और करीब तीन-चौथाई मामले इस नए वेरिएंट की वजह से है.




क्या है वैक्सीनेशन का हाल

शुक्रवार तक के आंकड़ों पर नजर डालें तो ब्रिटेन में 58 फीसदी लोगों को वैक्सीन की एक डोज लग चुकी है, जबकि यहां 35% लोग वैक्सीन की दो डोज़ ले चुके हैं. ब्रिटेन में नियामकों ने देश में उपयोग के लिए कोरोना वायरस रोधी एक और टीके को शुक्रवार को मंजूरी दे दी. मेडिसिन्स एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी ने कहा कि जॉनसन एंड जॉनसन द्वारा तैयार सिंगल-खुराक टीका ‘सुरक्षा, गुणवत्ता और प्रभावशीलता के अपेक्षित मानकों’ को पूरा करता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज