COVID-19: ब्रिटिश-अमेरिकन कंपनी तंबाकू की पत्तियों से बना रही है वैक्सीन, ह्यूमन ट्रायल जल्द

COVID-19: ब्रिटिश-अमेरिकन कंपनी तंबाकू की पत्तियों से बना रही है वैक्सीन, ह्यूमन ट्रायल जल्द
ब्रिटेन में तंबाकू से वैक्सीन बनाई जा रही है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

ब्रिटेन में तंबाकू से वैक्सीन (Coronavirus Vaccine From Tobbaco) बनाई जा रही है और अब इस वैक्सीन का बहुत जल्द ही ह्यूमन ट्रायल (Human Trial) होने जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 1, 2020, 7:27 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. ब्रिटेन में तंबाकू से वैक्सीन (Coronavirus Vaccine From Tobbaco) बनाई जा रही है और अब इस वैक्सीन का बहुत जल्द ही ह्यूमन ट्रायल (Human Trial) होने जा रहा है. ब्रिटिश अमेरिकन टोबैको नाम की कंपनी की सब्सडियरी कंपनी केंटकी बायोप्रोसेसिंग (Kentucy Bioprocessing) ने तीन महीने पहले अप्रैल में यह कहा था कि वह एक प्रायोगिक कोविड-19 वैक्सीन बनाने की दिशा में काम कर रही है. आपको मालूम हो कि यह वैक्सीन तंबाकू से बनाई जा रही थी. अब कंपनी ने कहा कि वह जल्द ही इसका इंसानी परीक्षण यानी ह्यूमन ट्रायल करने जा रही है.

कंपनी ने वैक्सीन के इंसानी ट्रायल की मांगी है अनुमति

ब्रिटेन की राजधानी लंदन में स्थित सिंगरेट बनाने वाली कंपनी लकी स्ट्राइक सिगरेट के चीफ मार्केटिंग ऑफिसर किंग्सले व्हीटन ने कहा कि कंपनी अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन से ह्यूमन ट्रायल की अनुमति की अर्जी डाल चुकी है. कंपनी को यह अनुमति कभी भी वक्त मिल सकती है. अनुमति मिलने के तत्काल बाद इस वैक्सीन का इंसानी ट्रायल शुरू किया जाएगा.



तंबाकू की पत्तियों से निकाले गए प्रोटीन से वैक्सीन का निर्माण
इस कंपनी का दावा है कि वह तंबाकू की पत्तियों से निकाले गए प्रोटीन से वैक्सीन तैयार कर चुकी है. किंग्सले व्हीटन ने कहा कि हमें पूरी उम्मीद है कि हमें इंसानी परीक्षण के लिए अनुमति मिल जाएगी. ताकि हम लोगों को कोरोना वायरस महामारी से बचा सकें. हमारी वैक्सीन ने प्री-क्लीनिकल ट्रायल में कोविड-19 के खिलाफ काफी पॉजिटिव रिस्पॉन्स मिला है.

जेनेटिक इंजीनियरिंग के जरिये बनाया जा रहा है वैक्सीन

लकी स्ट्राइक सिगरेट कंपनी का दावा है कि हम जिस तरीके से वैक्सीन बना रहे हैं वह दूसरों से बिल्कुल अलग है. हमने तंबाकू के पौधे से प्रोटीन निकालकर उसे कोविड-19 वैक्सीन के जीनोम के साथ मिक्स कराया है, जिससे हमारी वैक्सीन तैयार हुई है. हमने कुछ जेनेटिक इंजीनियरिंग की है.

ये भी पढ़ें: अमेरिका कोरोना वायरस वैक्सीन पर 2.1 अरब डॉलर और खर्च करेगा

नेपाल के विदेश मंत्री बोले- एशिया का भविष्य चीन-भारत के रिश्तों पर निर्भर

अमेरिका कोरोना वैक्सीन पर अभी 2.1 अरब डॉलर और खर्च करेगी

वहीं अमेरिका को कोविड-19 के 10 करोड़ प्रयोगात्मक टीकों की आपूर्ति की घोषणा दवा कंपनी ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन (GlaxoSmithKline) और सनोफी पैस्टर (Sanofi Pasteur) ने की है. अमेरिकी सरकार इसके लिए करीब 2.1 अरब डॉलर की राशि खर्च करेगी. यह खर्च वह इस उम्मीद में करेगी कि इससे कुछ फायदा होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading