नारायण मूर्ति के दामाद ऋषि सौनक को मिल सकती है ब्रिटेन के वित्‍त विभाग में बड़ी जिम्‍मेदारी

नारायण मूर्ति के दामाद ऋषि सौनक को मिल सकती है ब्रिटेन के वित्‍त विभाग में बड़ी जिम्‍मेदारी
ऑक्‍सफोर्ड और स्‍टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से पढ़े त्रषि सौनक को ब्रिटेन के वित्‍त विभाग की जिम्‍मेदारी दी जा सकती है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रिटेन के उप-वित्‍त मंत्री ऋषि सौनक (Rishi Sunak) को फरवरी में होने वाले मंत्रिमंडल विस्‍तार में वित्‍त विभाग की बड़ी जिम्‍मेदारी मिल सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 25, 2019, 2:48 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
लंदन. ब्रिटेन के उप-वित्‍त मंत्री और इंफोसिस (Infosys) के सह-संस्‍थापक नारायण मूर्ति (Narayan Murthy) के दामाद ऋषि सौनक‍ (Rishi Sunak) को फरवरी में होने वाले मंत्रिमंडल विस्‍तार में वित्‍त विभाग की बड़ी जिम्‍मेदारी दी जा सकती है. ब्रिटेन की कंजरवेटिव पार्टी (Conservative Party) के एक वरिष्‍ठ सदस्‍य ने संकेत दिए कि सौनक को एक नई 'इकोनॉमिक सुपर-मिनिस्‍ट्री' में बड़ी जिम्‍मेदारी दी जा सकती है.

सौनक के काम से प्रभावित हैं जॉनसन
एक रिपोर्ट के मुताबिक, कंजरवेटिव्‍स के ट्रेजरी विभाग के मुख्‍य सचिव सौनक को पदोन्‍नत कर सीनियर मिनिस्‍टर बनाया जाएगा. फाइनेंशियल टाइम्‍स न्‍यूजपेपर की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) एक नया और बड़ा कारोबार मंत्रालय बनाने की योजना पर काम कर रहे हैं. ये मंत्रालय अंतरराष्‍ट्रीय कारोबार विभाग का काम देखेगा. पीएम के एक करीबी कंजरवेटिव नेता ने बताया कि चुनाव के दौरान सौनक के काम से प्रभावित होकर बोरिस जॉनसन उन्‍हें पदोन्‍नति देकर बड़ी जिम्‍मेदारी दे सकते हैं.

2015 में रिचमंड से चुने गए थे सांसद



इंफोसिस के सह-संस्‍थापक नारायण मूर्ति के दामाद सौनक के बारे में कहा जाता है कि बोरिस जॉनसन उन पर काफी भरोसा करते हैं. सौनक ब्रेक्जिट के समर्थक भी हैं. ट्रेजरी के मुख्‍य सचिव नियुक्‍त किए गए सौनक 2015 में रिचमंड से सांसद चुने गए थे. पहले वह स्‍थानीय सरकार के विभाग में जूनियर मिनिस्‍टर थे. उन्‍होंने ऑक्‍सफोर्ड (Oxford) और स्‍टैनफोर्ड विश्‍वविद्यालय (Stanford University) से पढ़ाई पूरी की है.



ये भी पढ़ें- कर्नाटक चर्च धमाके के दोषी 'भटके' हुए मुस्लिम को SC ने दी अंतरिम जमानत

बिल गेट्स से चिढ़ते हैं आनंद महिंद्रा! पुरानी फोटो देखकर बताई वजह
First published: December 25, 2019, 1:57 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading