ब्रिटिश सरकार के प्रमुख सलाहकार ने पीएम को चेताया, कहा- 1 करोड़ टेस्ट हो रोजाना

ब्रिटिश सरकार के प्रमुख सलाहकार ने पीएम को चेताया, कहा- 1 करोड़ टेस्ट हो रोजाना
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की कोरोनावायरस टेस्ट की गति धीमी रहने के चलते आलोचना हो रही है.

ब्रिटिश सरकार (British Government) के प्रमुख सलाहकार (A key government adviser) ने कहा कि उन्होंने बोरिस जॉनसन को एक दिन में 1 करोड़ टेस्ट कराने का लक्ष्य निर्धारित करने को लेकर भी आगाह किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 15, 2020, 4:48 PM IST
  • Share this:
लंदन. ब्रिटिश सरकार (British Government) के प्रमुख सलाहकार (A key government adviser) ने कहा कि उन्होंने बोरिस जॉनसन को "मूनशॉट" की तरह अपने कोरोनोवायरस टेस्टिंग प्लान (Coronavirus Testing Plan) का वर्णन नहीं करने की चेतावनी दी है और एक दिन में 1 करोड़ टेस्ट कराने का लक्ष्य निर्धारित करने को लेकर भी आगाह किया था. इसके चलते बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) सरकार को कोरोनावायरस टेस्टिंग कार्यक्रम में हो रही गड़बड़ियों के चलते आलोचना का सामना कर पड़ रहा है. ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी में मेडिसिन के प्रोफेसर सर जॉन बेल सरकार के एंटीबॉडी परीक्षण कार्यक्रम की देखरेख कर रहे हैं.

कोरोना की दूसरी लहर से संक्रमण में आ रही है तेजी

सर जॉन बेल ने बीबीसी रेडियो 4 के टुडे प्रोग्राम से बात करते हुए कहा कि सरकार ने स्कूलों में बच्चों की वापसी और संक्रमण में लगातार हो रही वृद्धि के कारण टेस्ट की मांग को कम करके आँका था. उनके अनुसार यह सारी गड़बड़ कोरोना की दूसरी लहर के कारण संक्रमण में हो रही वृद्धि है. सर जॉन बेल ने कहा कि सरकार के पास एक महीना पहले तक टेस्ट की अतिरिक्त क्षमता थी लेकिन सरकार ने जिस बात को कम करके आंका वह है दूसरी लहर की तेज गति.



टेस्ट नहीं करवा पा रही है सरकार
इंग्लैंड में आज जहाँ संक्रमण दर सबसे ज्यादा है उन क्षेत्रों के लोग बैकलॉग के चलते कई कई दिनों तक भी टेस्ट करा पाने में असमर्थ हैं. द गार्डियन ने मंगलवार सुबह संक्रमण की दृष्टि से इंग्लैंड के सबसे ख़राब इलाके बोल्टन में कोरोना टेस्ट बुक करने की कोशिश की लेकिन उन्हें बताया गया कि फिलहाल टेस्ट नहीं करवाया जा सकता. सरकारी वेबसाइट पर दिए एक संदेश में कहा गया है कि यह सेवा वर्तमान में बहुत व्यस्त है. परीक्षण बाद में उपलब्ध होंगे. यदि आप अभी परीक्षण नहीं करवा पा रहे हैं, या स्थान या समय सुविधाजनक नहीं है, तो कुछ घंटों में पुनः प्रयास करें.

अक्टूबर तक टेस्ट क्षमता प्रतिदिन पांच लाख हो जाएगी

सरकार ने कहा है कि वह टेस्ट की क्षमता लगातार बढ़ाने की कोशिश कर रही है और अक्टूबर के अंत तक एक दिन में परीक्षण क्षमता 500,000 तक बढ़ा देगी. साथ ही उसकी प्राथमिकता उच्चतम संक्रमण दर वाले क्षेत्र हैं. बेल ने यह भी कहा कि अगले दो हफ्तों में परीक्षण क्षमता में "महत्वपूर्ण वृद्धि" होगी, लेकिन विंटर बग्स के कारण स्थिति बदतर हो जाएगी लेकिन तब टेस्ट की मांग और ज्यादा बढ़ जाएगी.

ये भी पढ़ें: ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी म्यूजियम से नस्लवाद को बढ़ावा देने वाले 120 सिकुड़े हुए सिर हटाए 

पाकिस्तान में गैंगरेप, बलात्कारियों को फांसी की सजा दिलाने महिलाएं सड़कों पर उतरीं

स्वास्थ्य और सामाजिक देखभाल विभाग ने कहा कि यह कहना गलत है कि इंग्लैंड के सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों में टेस्ट उपलब्ध नहीं हैं. सोमवार को विभाग ने कहा कि हम मांग में बढ़ोत्तरी देख रहे हैं इसलिए हर हफ्ते एक लाख से अधिक टेस्ट किए जा रहे हैं. कोरोना के लक्षण जिन लोगों में दिख रहे हैं, हम उन्हें नई बुकिंग स्लॉट और घर पर टेस्ट करने वाली किट उपलब्ध करवा रहे हैं. जिन स्थानीय इलाकों में कोरोना का प्रकोप ज्यादा है वहां मोबाइल टेस्टिंग यूनिट्स को तैनात किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज