लंदन में पाकिस्तानी मूल के लोगों ने की ओछी हरकत, भारतीय उच्चायोग पर फेंके अंडे और पत्थर

News18Hindi
Updated: September 4, 2019, 9:58 AM IST
लंदन में पाकिस्तानी मूल के लोगों ने की ओछी हरकत, भारतीय उच्चायोग पर फेंके अंडे और पत्थर
पिछले एक महीने में ये दूसरी बार है जब पाकिस्तानी प्रदर्शनकारियों ने लंदन में भारतीय उच्चायोग को निशाना बनाया है,

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ब्रिटेन (Britain) के कोने-कोने से बसों में सवार हो कर करीब 10 हज़ार पाकिस्तानी (Pakistan) मूल को लोग लंदन (London) पहुंचे और वहां खूब हंगामा किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 4, 2019, 9:58 AM IST
  • Share this:
लंदन. जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 (Article 370) हटाये जाने के मुद्दे को लेकर पाकिस्तान (Pakistan) अंतरराष्ट्रीय मंच पर अलग-थलग पड़ गया है. लिहाजा इसको लेकर पाकिस्तान की बौखलाहट हर रोज दिख रही है. इसी कड़ी में मंगलवार को पाकिस्तानी मूल के लोगों ने लंदन (London) में हंगामा खड़ा कर दिया. इन सबने भारतीय उच्चायोग (Indian High Commission) को निशाना बनाते हुए पत्थरबाज़ी की और साथ ही बिल्डिंग पर अंडे भी फेंके.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ब्रिटेन के कोने-कोने में बसे करीब 10 हज़ार पाकिस्तानी मूल को लोग बसों में सवार होकर लंदन पहुंचे. इसके बाद लंदन की सड़कों पर इन सबने हंगामा खड़ा कर दिया. प्रदर्शनकारियों ने भारतीय उच्चायोग की बिल्डिंग पर अंडे, टमाटर, जूते, पत्थर, स्मोक बम और बोतल फेंके. बिल्डिंग की कई खिड़कियों को नुकसान पहुंचा और शीशे टूट गए.



पाकिस्तानी मूल के लोगों ने इस विरोध प्रदर्शन को 'कश्मीर फ्रीडम मार्च' का नाम दिया था. ये मार्च पार्ल्यामेंट स्क्वेयर से शुरू होकर भारतीय उच्चायोग की बिल्डिंग तक पहुंचा. प्रदर्शनकारियों के हाथ में पीओके का झंडा और पोस्टर्स थे. भारतीय उच्चायोग ने ट्विटर पर एक फोटो भी शेयर की है. इसमें देखा जा सकता है कि बिल्डिंग के शीशे टूटे हुए हैं.
Loading...




बता दें कि पिछले एक महीने में ये दूसरी बार है जब पाकिस्तानी प्रदर्शनकारियों ने लंदन में भारतीय उच्चायोग को निशाना बनाया है, इससे पहले 15 अगस्त के मौके पर भी इन सबने प्रदर्शन के दौरान हंगामा खड़ा किया था.

ये भी पढ़ें:

J&K: तनाव के दावे फेल, भारतीय सेना में भर्ती होने पहुंचे 29,000 युवा

करतारपुर कॉरिडोरः श्रद्धालुओं की मदद के लिए कॉन्सुलेट की स्थापना चाहता है भारत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 7:44 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...