लाइव टीवी

घिनौनी हरकत: 12 लोगों ने लड़की से गैंगरेप करने के बाद लगाया झूठा आरोप, कोर्ट में उठी वीडियो दिखाने की मांग

News18Hindi
Updated: October 15, 2019, 5:56 PM IST
घिनौनी हरकत: 12 लोगों ने लड़की से गैंगरेप करने के बाद लगाया झूठा आरोप, कोर्ट में उठी वीडियो दिखाने की मांग
एक ब्रिटिश महिला ने 12 इजरायली लोगों पर गैंगरेप का आरोप लगाया है (न्यूज18 क्रिएटिव)

19 साल की इस ब्रिटिश किशोरी (British Teenager) ने आरोप लगाया था कि 12 इजरायली युवकों (Israeli Men) के एक समूह ने उसके साथ गैंगरेप (Gang rape) किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 15, 2019, 5:56 PM IST
  • Share this:
साइप्रस. एक ब्रिटिश किशोरी (British Teenager) को साइप्रस (Cyprus) के एक कोर्ट में उसका एक पुरुष के साथ संबंध बनाते हुए वीडियो दिखाए जाने से किसी तरह से रोका गया. दरअसल 19 साल की इस ब्रिटिश किशोरी ने आरोप लगाया था कि आइया नापा नाम की जगह पर 12 इजरायली युवकों (Israeli Men) ने उस पर हमला किया और उसके साथ रेप किया लेकिन उस पर उल्टा आरोप लगाया गया है कि वह झूठा दावा कर रही है.

19 वर्षीय यह किशोरी, जिसकी पहचान को उजागर नहीं किया गया है. वह अपने ऊपर लगे आरोपों (Allegationations) को झूठा बता रही है और 17 जुलाई को आइया नापा के होटल कमरे (Hotel Room) में अपने साथ हुई रेप की घटना के कथित तौर पर झूठा होने से भी इंकार कर रही है.

पुलिस के बारे में कोर्ट को बताने की है किशोरी की तैयारी
अब वह किशोरी यह योजना बना रही है कि वह पुलिस की सच्चाई कोर्ट को बताएगी. किशोरी के अनुसार पुलिस ने उसे 8 घंटे तक पुलिस स्टेशन (Police Station) में बैठाए रखा, अपने बयान से पीछे हटने पर मजबूर किया और उसे वकील की सलाह लेने की अनुमति भी नहीं दी गई.

मंगलवार को पारालिमनी की फामगस्ता जिला कोर्ट में इस मामले की सुनवाई के दौरान एक प्रोजेक्टर लाया गया. इस प्रोजेक्टर (Projector)) पर वकील एडेमॉस देमॉस्थेनस ने इस किशोरी का एक वीडियो दिखाए जाने की मांग की. इस वीडियो को कथित हमलावर इजरायली युवकों के पास से जब्त किए गए 11 मोबाइल फोन (Mobile Phones) में पाया गया.

किशोरी की वकील ने क्लिप दिखाए जाने का किया विरोध
वकील ने इस वीडियो क्लिप (Video Clip) को बंद कोर्ट के अंदर दिखाने की अनुमति मांगी. लेकिन लड़की का बचाव कर रही वकील ने इस मांग का विरोध करते हुए कहा कि अगर किशोरी के सामने इस क्लिप को चलाया गया तो उसके मानसिक स्वास्थ्य (Mental Health) पर बुरा असर पड़ेगा.यह वीडियो 17 जुलाई को रात 2 बजकर 56 मिनट का है. बताया जा रहा है कि कथित तौर पर इसमें किशोरी को एक पुरुष के साथ संबंध बनाते हुए देखा जा सकता है. उसी समय इजरायली युवकों का यह समूह (Group of Israeli Men) उसके कमरे में घुस जाता है.

महिला को परिजनों की ओर से है पूरा समर्थन
अपने पूरे मुकदमे के दौरान महिला को अपने परिजनों (Parents) का पूरा समर्थन मिला है. इसके अलावा किशोरी के केस को ब्रिटिश कैंपेनिंग ग्रुप जस्टिस अब्रॉड ने भी उठाया है. जिन्होंने लेविस पावर क्यूसी नाम की एक वकील की अध्यक्षता में महिला का केस देखने के लिए पूरी एक ब्रिटिश कानूनी टीम को नियुक्त किया है.

यह किशोरी अगस्त के आखिरी में जमानत (Bail) पर रिहा होने से पहले साढ़े चार हफ्ते जेल में काट चुकी है लेकिन उसने इस देश को छोड़ने का फैसला नहीं किया है. यह द्वीपीय देश ब्रिटिश लोगों के छुट्टी बिताने के पसंदीदा स्थानों में शामिल है.

इजरायली लड़के लौटे घर, हुआ भव्य स्वागत
मंगलवार को वह कोर्ट में काले रंग के कपड़ों में, सिर पर बेसबॉल कैप पहने हुए आई. उसने अपने मुंह को एक स्कार्फ से ढंक रखा था. सोमवार को मीडिया (Media) से बातचीत में किशोरी की मां ने कहा था, 'इस घटना के बाद से ही यह एक अप्रत्याशित संघर्ष रहा है. ऐसा लगता है कि हम सभी की जिंदगियों को किनारे रख दिया गया है और रोक दिया गया है और बाकी लोग हमारे चारों ओर चक्कर लगा रहे हैं.'

बता दें कि वहीं जिन लड़कों पर इस लड़की के साथ गैंगरेप (Gang Rape) का आरोप है वे वापस अपने देश इजरायल (Israel) पहुंच चुके हैं. जहां पर उनके परिवार और दोस्तों ने उनका भव्य स्वागत किया है. हालांकि उनकी इस प्रतिक्रिया की दुनियाभर में आलोचना हो रही है.

यह भी पढ़ें: प्रोफेसर ने लिखने को दिया निबंध तो छात्रा ने थमाया कोरा कागज, मिले फुल मार्क्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2019, 5:56 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर