फ्लैटमेट को वॉट्सऐप पर गाली दी तो महिला को हुई 2 साल की जेल, दुबई का है मामला

कई बार पुलिस स्टेशन जाने के बाद उसे पता चला कि उसकी फ्लैटमेट ने उसके खिलाफ केस दर्ज कराया है.  (प्रतीकात्मक तस्वीर)

कई बार पुलिस स्टेशन जाने के बाद उसे पता चला कि उसकी फ्लैटमेट ने उसके खिलाफ केस दर्ज कराया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लॉकडाउन (Lockdown) के बाद कंपनियों ने वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) की शुरुआत की थी. दोनों रूममेट्स के बीच इस बात को लेकर बहस हो गई थी कि वर्क फ्रॉम होम के दौरान डाइनिंग टेबल का इस्तेमाल कौन करेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 2:05 PM IST
  • Share this:
अबु धाबी. दुबई (Dubai) में काम करने वाली एक ब्रिटिश महिला (British Woman) को अपनी एक साथी को गाली देना काफी महंगा पड़ गया. इसके लिए अब उसे दो साल की सजा सुनाई गई है. इतना ही नहीं हो सकता है कि उसे इस मामले में जुर्माने के तौर पर बड़ी रकम भी चुकानी पड़े. एक जानकार ने बताया कि यूएई में आने वाली विजिटर्स को गुस्से में आकर गाली देने या गलत टिप्पणी करने के आरोप में गिरफ्तार किया जा सकता है.

दरअसल, 31 साल की ब्रिटिश महिला ग्लूकस्टशायर में ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर के तौर पर काम करती हैं. वो दुबई में साल 2018 से रह रही हैं. इस दौरान उनके साथ रहने वाली यूक्रेन (Ukraine) की फ्लेटमैट से बहस हो गई. इस बहस के चलते उन्होंने फ्लैटमेट को वॉट्सऐप पर गाली (Swear Words for Flatmate) लिखकर भेज दी. इससे उनकी साथी इतनी आहत हुई कि पुलिस में मामला दर्ज करा दिया.

क्या था मामला

बीते साल सरकार ने कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन की घोषणा की थी. इस लॉकडाउन के बाद कंपनियों ने वर्क फ्रॉम होम की शुरुआत की थी. दोनों रूममेट्स के बीच इस बात को लेकर बहस हो गई थी कि वर्क फ्रॉम होम के दौरान डाइनिंग टेबल का इस्तेमाल कौन करेगा. खास बात है कि ब्रिटिश महिला को अधिकारियों ने उस समय गिरफ्तार किया, जब वो हमेशा के लिए ब्रिटेन लौट रही थी.
अब ऐसे हैं महिला के हाल

जिस वक्त एयरपोर्ट पर अधिकारियों ने महिला को गिरफ्तार किया, तो वो पहले ही अपना सामान ब्रिटेन भेज चुकी थी. द सन की रिपोर्ट के अनुसार, महिला के पास कोई नकद नहीं है और रहने के लिए भी जगह नहीं है. वो फिलहाल अपने ट्रायल का इंतजार कर रही है. इस दौरान महिला अदालत की तारीख का इंतजार करते हुए अपनी दोस्त के घर पर रह रही है. उसका वीजा भी 8 दिनों में खत्म होने वाला है.





कई बार पुलिस स्टेशन जाने के बाद उसे पता चला कि उसकी फ्लैटमेट ने उसके खिलाफ केस दर्ज कराया है. खास बात है कि ब्रिटेन की महिला ने कई बार उसके सामने केस वापस लेने की मांग की लेकिन फ्लैटमेट ने ऐसा करने से मना कर दिया है. एक रिपोर्ट के अनुसार, महिला इस बात को लेकर हैरान है कि निजी बातचीत के चलते उसे अपराधी बनाया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज