म्यांमार सैन्य तख्तापलट के खिलाफ शांति मार्च कर रहे लोगों पर सुरक्षाबलों का बल प्रयोग दो की मौत

सैन्य तख्तापलट के खिलाफ म्यांमार में विरोध प्रदर्शन जारी है.

सैन्य तख्तापलट के खिलाफ म्यांमार में विरोध प्रदर्शन जारी है.

पिछले महीने हुए सैन्य तख्तापलट के खिलाफ म्यांमार में विरोध प्रदर्शन जारी है. मंगलवार को भी कई इलाकों में शांतिपूर्ण मार्च निकाले गए. वहीं सुरक्षा बलों ने विरोध प्रदर्शन करने वालों पर हिंसक कार्रवाई की. अब तक यहां 149 प्रदर्शनकारियों की मौत हो चुकी है. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय की प्रवक्ता रवीना समदसानी ने कहा कि सोमवार को कम से कम 11 लोगों की मौत हुई जबकि सप्ताहांत में 57 लोगों की जान गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 16, 2021, 11:20 PM IST
  • Share this:
यंगून. म्यांमार में पिछले महीने हुए सैन्य तख्तापलट के खिलाफ मंगलवार सुबह विभिन्न हिस्सों में लोगों ने छोटे-छोटे समूहों में शांतिपूर्ण मार्च निकाले. हालांकि, मंगलवार को भी सुरक्षा बलों ने हिंसक कार्रवाई का सहारा लेते हुए उन पर रबर की गोलियां बरसाईं जिसमें कम से कम दो लोगों की मौत हुई है.

संयुक्त राष्ट्र ने सोमवार को कहा था कि म्यांमार में एक फरवरी को सैन्य तख्तापलट होने के बाद से कम से कम 149 प्रदर्शनकारियों की मौत हो चुकी है. सुरक्षा बलों की कार्रवाई में बीते कुछ दिन में कई प्रदर्शनकारियों की मौत हुई है. म्यांमार के सबसे बड़े शहर यंगून में मंगलवार को भी हिंसा की खबरें आईं.

ये भी पढ़ें   Explained: क्या म्यांमार में सरकार गिराने के पीछे China का हाथ है?



यंगून में अब तक सबसे अधिक प्रदर्शनकारी सुरक्षा बलों की हिंसक कार्रवाई में अपनी जान गंवा चुके हैं. पुलिस ने यंगून के आसपास के इलाकों में मंगलवार को भीड़ पर रबर की गोलियां दागीं, जहां दो लोगों की मौत की खबर है.
ये भी पढ़ें  नन, जिसने कहा 'मुझे मार डालो', सिपाही, जिसने कहा 'नहीं चलाऊंगा गोली'

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय की प्रवक्ता रवीना समदसानी ने कहा कि सोमवार को कम से कम 11 लोगों की मौत हुई जबकि सप्ताहांत में 57 लोगों की जान गई थी.

इस बीच, संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने म्यांमार में बढ़ती हिंसा पर दुख जताया है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से वहां सैन्य दमन समाप्त करने में मदद करने के लिए सामूहिक एवं द्विपक्षीय रूप से काम करने की अपील की है. गुतारेस ने एक बयान में कहा कि म्यांमार की सेना द्वारा की जा रही प्रदर्शनकारियों की हत्याएं और मनमाने ढंग से गिरफ्तारियां संयम, वार्ता और देश को लोकतांत्रिक पथ पर वापस लाने की संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अपील की अवहेलना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज