कैलिफोर्निया में 7.1 तीव्रता का तेज़ भूकंप, कई जगह लगी आग

खतरनाक पदार्थों और गैस के रिसाव से शहर में कई जगह आग लग गई है. लॉस एंजिलिस के फायर डिपार्टमेंट के मुताबिक इस खतरनाक भूकंप से किसी की मौत नहीं हुई और न ही कोई घायल हुआ है.

News18Hindi
Updated: July 6, 2019, 1:53 PM IST
कैलिफोर्निया में 7.1 तीव्रता का तेज़ भूकंप, कई जगह लगी आग
भूकंप का केंद्र लॉस एंजिलिस से 272 किलोमीटर उत्तर में स्थित था
News18Hindi
Updated: July 6, 2019, 1:53 PM IST
अमेरिका के कैलिफोर्निया में 7.1 तीव्रता की भूकंप से हड़कंप मच गया है. पिछले 20 साल में वहां ऐसा शक्तिशाली भूकंप नहीं आया था. पिछले 48 घंटे के दौरान वहां ये दूसरा भूकंप का झटका है. इससे पहले कैलिफोर्निया में गुरुवार को 6.4 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए थे.

भूकंप का केंद्र लॉस एंजिलिस से 272 किलोमीटर उत्तर में स्थित था. एक के बाद एक आए झटकों से लोग दहशत में आ गए हैं. इस दौरान वहां काफी नुकसान पहुंचा है. खतरनाक पदार्थों और गैस के रिसाव से शहर में कई जगह आग लग गई है. लॉस एंजिलिस के फायर डिपार्टमेंट के मुताबिक इस खतरनाक भूकंप से किसी की मौत नहीं हुई और न ही कोई घायल हुआ है.

भुकंप की वजह से दुकान के सारे सामान बिखर गए.
भुकंप की वजह से दुकान के सारे सामान बिखर गए.


लॉस एंजिलिस में एक बेस बॉल मैच का वीडियो भी सामने आया है. यहां खिलाड़ी मैदान पर ही रहे लेकिन दर्शक अपनी सीट छोड़ कर भागने लगे.  वैज्ञानिकों के मुताबिक छोटे-बड़े झटके अगले एक साल तक आते रहेंगे. भूकंप मापने वाली एजेंसी ने कहा है कि तीव्र भूकंप के बाद बड़े झटके की आशंका हमेशा बनी रहती है, लेकिन ज़्यादातर समय देखा गया है कि ऐसा होता नहीं है. साथ ही एजेंसी ने यह भी कहा है कि ये अनुमान लगाना संभव नहीं है कि भूकंप के बाद आने वाले छोटे-छोटे झटके कब बड़े भूकंप में तब्दील हो जाए.


Loading...


दो दिन पहले आए भूकंप से इमारतों और सड़कों को नुकसान पहुंचा था. कैलिफॉर्निया में साल 1999 में 7.7 तीव्रता का भूकंप आया था. कहा जा रहा है कि अब 7.1 तीव्रता का ये झटका दूसरा सबसे शक्तिशाली भूकंप है.

सीएनन के मुताबिक करीब 2000 लोगों के घर में इस वक्त बिजली नहीं है. इमजेंसी सर्विस को लगातार मदद के लिए लोग फोन कर रहे हैं. भूकंप के झटके मैक्सिको और लास वेगास तक महसूस किए गए.
First published: July 6, 2019, 1:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...