Home /News /world /

क्या प्लेन को गिरा सकता है 5जी? अमेरिका ने एयरपोर्ट्स के आसपास इसे चालू करने में देरी क्यों की, जानें

क्या प्लेन को गिरा सकता है 5जी? अमेरिका ने एयरपोर्ट्स के आसपास इसे चालू करने में देरी क्यों की, जानें

एयरलाइन्‍स का कहना है कि 5जी के कारण विमान की कार्यप्रणाली प्रभावित होगी.

एयरलाइन्‍स का कहना है कि 5जी के कारण विमान की कार्यप्रणाली प्रभावित होगी.

कई अंतरराष्ट्रीय एयरलाइनों ने कुछ अमेरिकी हवाई अड्डों पर उतरने वाली अपनी उड़ानों को रद्द कर दिया क्योंकि उन्हें डर था कि वहां लगाई जाने वाली 5जी मोबाइल संचार प्रौद्योगिकी (5G Technology) कुछ विमानों के उपकरणों को प्रभावित कर सकती है.

अधिक पढ़ें ...

कैम्ब्रिज . हाल ही में कई अंतरराष्ट्रीय एयरलाइनों ने कुछ अमेरिकी हवाई अड्डों पर उतरने वाली अपनी उड़ानों को रद्द कर दिया क्योंकि उन्हें डर था कि वहां लगाई जाने वाली 5जी मोबाइल संचार प्रौद्योगिकी (5G Technology)  कुछ विमानों के उपकरणों को प्रभावित कर सकती है. विमानन कंपनियों के मालिकों और संघीय उड्डयन प्रशासन से संभावित समस्या के बारे में चेतावनी के बाद, दूरसंचार कंपनियों एटी एंड टी और वेरिज़ॉन ने अमेरिकी हवाई अड्डों के आसपास कुछ 5जी मास्ट को सक्रिय करने में देरी की. लेकिन 5जी विमानों के साथ कैसे हस्तक्षेप कर सकता है? और क्या समस्या को ठीक किया जा सकता है? चलिए एक नज़र डालते हैं.

वर्तमान में दुनिया भर के कई देशों में तैनात की जा रही 5G मोबाइल फोन तकनीक की पांचवीं पीढ़ी है. यह 4जी की तुलना में 100 गुना तेज नेटवर्क गति प्रदान कर सकता है. व्यापक संभव कवरेज के साथ उच्च गति सुनिश्चित करने के लिए, एटी एंड टी और वेरिज़ोन ने सी-बैंड फ़्रीक्वेंसी नामक किसी चीज़ का उपयोग करके 5 जी इंटरनेट उत्पन्न करने की योजना बनाई थी, यह एक प्रकार की रेडियो फ़्रीक्वेंसी (या रेडियो तरंगें) है जो 3.7 और 3.98 गीगाहर्ट्ज़ के बीच होती है. ये आवृत्तियां आधुनिक विमानों द्वारा ऊंचाई मापने के लिए उपयोग की जाने वाली आवृत्तियों के निकट होती हैं. एक विमान के उपकरण का एक महत्वपूर्ण हिस्सा, जिसे रेडियो अल्टीमीटर कहा जाता है, 4.2-4.4गीगाहर्ट्ज़ के बीच सी-बैंड आवृत्तियों पर संचालित होता है. पायलट विमान को सुरक्षित रूप से उतारने के लिए रेडियो अल्टीमीटर पर भरोसा करते हैं, खासकर जब दृश्यता खराब होती है, उदाहरण के लिए, जब हवाई अड्डा ऊंचे पहाड़ों से घिरा हो या जब वातावरण में धुंध हो.

ये भी पढ़ें: अमेरिका ने नागरिकों को दी चेतावनी- भारत में इन कारणों से अभी न करें यात्रा

रेडियो अल्टीमीटर के सिग्नल को खराब या बाधित कर सकते हैं

चिंता की बात यह है कि, 5जी की आवृत्तियों और रेडियो अल्टीमीटर के बीच संकीर्ण अंतर के कारण, हवाई अड्डों के पास 5जी टावरों से रेडियो तरंगें हस्तक्षेप का कारण बन सकती हैं. यानी, अपने फोन पर 5जी का इस्तेमाल करने वाले लोग अनजाने में रेडियो अल्टीमीटर के सिग्नल को खराब या बाधित कर सकते हैं. अगर कुछ सेकंड के लिए भी ऐसा होता है, तो इसका मतलब यह हो सकता है कि लैंडिंग के दौरान पायलट को सही जानकारी नहीं मिल पाती है. यही कारण है कि यूएस फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन ने चिंता जताई.

ये भी पढ़ें:  29 साल की मां, 19 साल की बेटी! अजीबोगरीब जोड़ी को देखकर दंग रह जाते हैं लोग

हवाई अड्डों के आसपास पहाड़ कम या न होने से जोखिम कम हो जाता है

5जी को लागू करने वाले अन्य देश सी-बैंड फ़्रीक्वेंसी का उपयोग कर रहे हैं, जो रेडियो अल्टीमीटर के साथ ओवरलैप या उनके करीब हैं और उन्हें किसी तरह की कोई समस्या नहीं है . उदाहरण के लिए, यूके में, 5जी 4गीगाहर्ट्ज़ तक जाता है. हवाई अड्डों के आसपास पहाड़ कम या न होने से जोखिम कम हो जाता है. कुछ अन्य देश अपने 5जी को विमान के उपकरण से थोड़ी अलग आवृत्ति पर संचालित करते हैं. यूरोपीय संघ में, उदाहरण के लिए, 5जी 3.8गीगाहर्ट्ज़ तक जाता है. यह अमेरिकी हवाई अड्डों के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है. दीर्घावधि में सबसे अच्छा विकल्प 5जी के लिए बहुत अधिक बैंड का उपयोग करना होगा, जैसे कि 24गीगाहर्ट्ज़ से 47गीगाहर्ट्ज़. इन आवृत्तियों पर, डेटा की गति काफी अधिक होती है, हालांकि प्रत्येक सेल का कवरेज क्षेत्र बहुत कम होगा (इसलिए आपको अधिक टावरों की आवश्यकता होगी).

खतरे को बहुत गंभीरता से लेने की जरूरत 

Tags: 5G Technology, Airline, America

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर