इस्लाम पर मैक्रों के बयान से कनाडा के PM ट्रूडो ने बनाई दूरी, कहा- अभिव्यक्ति की आजादी की भी सीमाएं तय हो

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो. File Photo
कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो. File Photo

फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉ (Emmanuel Macron) द्वारा दिए बयान से दूरी बनाते हुए प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो (Justin trudeau) ने अभिव्यक्ति के अधिकार का सावधानीपूर्वक उपयोग करने का अनुरोध किया. ट्रूडो ने एक उदाहरण देते हुए अपनी बात रखी कि हमें भीड़ भरे सिनेमा हॉल में आग- आग चिल्लाने का अधिकार नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2020, 10:38 AM IST
  • Share this:
टोरंटो. कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (Canada Prime Minister Justin Trudeau) ने शुक्रवार को अभिव्यक्ति की आजादी (Freedom Of Expression) का समर्थन किया, लेकिन साथ में यह भी कहा कि इसकी सीमाएं तय होनी चाहिए और कुछ ख़ास समुदायों को मनमाने तरीके से और बेवजह आहत नहीं किया जाना चाहिए. ट्रूडो ने फ्रांस की शार्ली ऐब्दो पत्रिका द्वारा पैगंबर मोहम्मद (Prophet Mohhamad) के कैरिकेचर दिखाने के अधिकार के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा कि 'हम हमेशा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का समर्थन करेंगे, लेकिन अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता भी सीमा से बाहर नहीं होनी चाहिए.'

'हमें दूसरों का सम्मान करते हुए अपना काम करना चाहिए'

ट्रूडो ने यह भी कहा कि हमें दूसरों का सम्मान करते हुए काम करना चाहिए और इस बात की भी कोशिश करनी चाहिए कि उन लोगों को मनमाने ढंग से या अनावश्यक रूप से नुकसान न पहुंचाए जिनके साथ हम एक समाज और एक ग्रह साझा कर रहे हैं.



विविधता वाले समाज में हमें शब्दों के प्रभाव को समझना होगा
प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने एक उदाहरण देते हुए अपनी बात रखी कि हमें भीड़ भरे सिनेमा हॉल में आग- आग चिल्लाने का अधिकार नहीं है. हर अधिकार की सीमाएं होती हैं. फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन द्वारा दिए बयान से दूरी बनाते हुए ट्रूडो ने अभिव्यक्ति के अधिकार का सावधानी पूर्वक उपयोग करने का अनुरोध किया.

ये भी पढ़ें: PHOTOS: तुर्की और ग्रीस में भूकंप के जोरदार झटके, 22 मरे और 700 से ज्यादा घायल 

कतर एयरपोर्ट पर कचरे में पड़ी मिली नवजात, महिला यात्रियों के कपड़े उतार की गई जांच 

UK: थूकने पर रग्बी प्लेयर ने टोका तो भारतीय मूल के व्यक्ति ने कर दी हत्या

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे जैसे एक बहुलवादी, विविध और सम्मानजनक समाज में हमें अपने शब्दों के प्रभाव को समझना होगा, अपने कार्यों से दूसरों पर पड़ने वाले प्रभाव को समझना होगा खासकर उन समुदायों और आबादी के संदर्भ में जो आज भी भेदभाव झेलने को मजबूर हैं. उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि कि समाज इन मुद्दों पर एक जिम्मेदार तरीके से सार्वजनिक बहस के लिए तैयार है.

ट्रूडो ने यूरोपीय संघ के नेताओं के साथ पहले हुई बातचीत में उसे दोहराते हुए कहा उन्होंने फ्रांस में हालिया हुए भयानक और भयावह हमलों की कड़ी निंदा की. उन्होंने कहा कि यह पूरी तरह से अनुचित है और कनाडा अपने खराब वक़्त से गुजर रहे फ्रांसीसी दोस्तों के साथ खड़ा होकर इन कृत्यों की निंदा करता है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज