अपना शहर चुनें

States

पाकिस्तान के कानून मंत्रालय ने इमरान खान से कहा- ICJ नहीं ले जा सकते कश्मीर मामला!

पाकिस्तान के कानून मंत्रालय ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री इमरान खान से कहा है कि पाकिस्तान की सरकार कश्मीर मामले को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में नहीं ले जा सकती है.
पाकिस्तान के कानून मंत्रालय ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री इमरान खान से कहा है कि पाकिस्तान की सरकार कश्मीर मामले को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में नहीं ले जा सकती है.

इमरान खान (Imran Khan) को अब अपने ही देश में मुंह की खानी पड़ रही है. पाकिस्तान (Pakistan) के कानून मंत्रालय ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री इमरान खान से कहा है कि पाकिस्तान की सरकार कश्मीर मामले को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (International Court of Justice) में नहीं ले जा सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 13, 2019, 7:39 PM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. कश्मीर मामले (Kashmir Issue) पर पाकिस्तान (Pakistan) लगातार अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं का दरवाजा खटखटा रहा है. पाकिस्तान इस मामले को लेकर दुनिया भर में भारत को नीचा दिखाने की कोशिश कर रहा है. लेकिन प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को अब अपने ही देश में मुंह की खानी पड़ रही है. पाकिस्तान के कानून मंत्रालय ने शुक्रवार को इमरान खान से कहा है कि पाकिस्तान की सरकार कश्मीर मामले को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (International Court of Justice) में नहीं ले जा सकती है.

कानून मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान इस मामले को सीधे आईसीजे (ICJ) नहीं ले जा सकता है क्योंकि भारत (India) और पाकिस्तान के बीच ऐसा कोई भी समझौता नहीं है. पाकिस्तान के कानून मंत्रालय ने सरकार को सलाह दी है कि वह इस मामले को संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) या संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् (United Nations Security Council) में तो उठा सकता है जहां से ही यह आईसीजे में भेजा जा सकता है. पाकिस्तान के कानून मंत्रालय ने यह जवाब इमरान सरकार के उस सवाल के बाद दिया है जिसमें पूछा गया था कि कश्मीर मामले को आईसीजे में भेजने का सबसे छोटा रास्ता क्या है.

पहले भी घर में ही मुंह की खा चुका है पाक
लेकिन ऐसा पहली बार नहीं है जब पाकिस्तान को अपने ही घर में इस तरह की उलझन का सामना करना पड़ा हो. इससे पहले पाकिस्तान के गृह मंत्री ने कबूल किया था कि पाकिस्तान कश्मीर मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय बिरादरी का विश्वास हासिल करने में नाकाम रहा है. एजाज अहमद शाह के मुताबिक पाकिस्तान की तमाम कोशिशों के बाद भी पूरी दुनिया भारत पर ही विश्वास करती है ऐसे में पाकिस्तान को दुनिया भर के सामने शर्मिंदा होना पड़ रहा है.
चीन के अलावा कोई नहीं आया साथ


आपको बता दें पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 (Article 370) के अधिकतर प्रावधान हटाए जाने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेश घोषित करने के भारत सरकार के फैसले के बाद यूएन की जनरल असेंबली में भी जा चुका है. इस महासभा में भी पाकिस्तान का साथ चीन के अलावा किसी और देश ने नहीं दिया था. दुनिया भर के सभी देशों ने इसे द्विपक्षीय मुद्दा बताकर इसमें किसी भी तरह के दखल से इंकार कर दिया था.

पाकिस्तान ने कश्मीर मामले में अमेरिका समेत कई बड़े देशों को घसीटने की कोशिश की लेकिन सभी देशों ने इस मामले में बीच में पड़ने से इंकार कर दिया.

ये भी पढ़ें-
कंगाल पाकिस्तान के और बुरे हो सकते हैं हालात, रेटिंग एजेंसी ने चेताया

PAK के मंत्री बोले- कश्मीर मुद्दे पर दुनिया हम नहीं भारत पर विश्वास करती है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज