कोरोना से लड़ने के नाम पर जादू-टोना का सहारा ले रहे हैं ट्रंप- चीन

कोरोना से लड़ने के नाम पर जादू-टोना का सहारा ले रहे हैं ट्रंप- चीन
चीन ने कहा है कि कोरोना वायरस के लड़ने के नाम पर जादू-टोना का सहारा ले रहे हैं ट्रंप.

चीन (China) की तरफ से कहा गया है कि कोरोना (Coronavirus) से लड़ने के नाम पर डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) जादू-टोना का सहारा ले रहे हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
वाशिंगटन: कोरोना वायरस (Coronavirus) से निपटने के तौर तरीकों को लेकर चीन (China) ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) पर बड़ा हमला बोला है. चीन की तरफ से कहा गया है कि कोरोना से लड़ने के नाम पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जादू-टोना का सहारा ले रहे हैं.

चीन की तरफ से ये बयान उसके बाद आया है, जब डोनाल्ड ट्रंप ने सार्वजनिक तौर पर माना है कि वो कोरोना वायरस से बचने के लिए एंटी मलेरिया दवाएं ले रहे हैं. उनके इसी बयान को निशाना बनाते हुए चीन ने हमला बोला है.

डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन द्वारा प्रकाशित स्टेट न्यूज पेपर ग्लोबल टाइम्स के एडिटर हू शिजिन ने लिखा है कि अमेरिका कोरोना वायरस से लड़ाई जादू टोना के सहारे लड़ रहा है. इसलिए अमेरिका में कोरोना वायरस के चलते 90 हजार लोगों की जान गई है. हालांकि बाद में उन्होंने अपने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया.



चीन ने कहा बीजिंग को बदनाम कर रहा है अमेरिका



चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लीजियन ने भी कहा है कि अमेरिका कोरोना से निपटने में असमर्थ रहने की वजह से आलोचनाओं का सामना कर रहा है, वो इससे लोगों का ध्यान हटाने के लिए बीजिंग को बदनाम कर रहा है.

इसके पहले ब्रिटेन ने भी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के उस बयान से दूरी बना ली है, जिसमें उन्होंने कहा था कि वो खुद को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए एंटी मलेरिया ड्रग हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन ले रहे हैं. ब्रिटेन की तरफ से कहा गया है कि ये कोई अच्छा आयडिया नहीं है. ट्रंप ने कहा था कि कोरोना से बचने के लिए ये दवा वो पिछले एकाध हफ्ते से ले रहे हैं. क्योंकि डॉक्टरों ने इस दवा को कारगर बताया है.

ब्रिटेन ने भी किया ट्रंप के बयान से किनारा
पूरी दुनिया के डॉक्टर और एक्सपर्ट ट्रंप के इस बयान की आलोचना कर रहे हैं. कई नेताओं ने कहा है कि ये बहुत ही गैरजिम्मेदाराना बयान है. ब्रिटेन की तरफ से कहा गया है कि ये ऐसा कुछ नहीं है, जिसे हमारे मेडिकल एक्सपर्ट प्रोत्साहन दे रहे हैं.

डोनाल्ड ट्रंप कई मौकों पर हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा को कोरोना के इलाज में कारगर बता चुके हैं. उन्होंने यहां तक कहा है कि स्टडी से पता चलता है कि इस दवा के जरिए कोरोना का इलाज संभव है.

हालांकि इसके बाद हुए कई स्टडी ये बताती है कि इस दवा का प्रभाव कोरोना के मरीजों पर न के बराबर और कई बार बिल्कुल नहीं है. यहीं नहीं इस दवा के इस्तेमाल से भयंकर साइड इफेक्ट भी देखे गए हैं.

आज सुबह यूके सरकार के सलाहकार सर डेविड किंग ने कहा कि प्रेसीडेंट ट्रंप के बोले हर शब्द की अनदेखी की जानी चाहिए.

ये भी पढ़ें:

कोरोना काल में इश्क की कहानी, वेंटिलेटर से उठते ही मरीज ने किया गर्लफ्रेंड को प्रपोज

ट्रंप को मिला नया नाम- प्रेसीडेंट ट्वीटी, बिडेन- बोले सोशल मीडिया छोड़कर महामारी से निपटें

मास्क नहीं पहनने पर इस देश में हो सकते हैं गिरफ्तार, देना होगा भारी जुर्माना

यूके में कोरोना की वजह से 44 हजार मौतें, केयर होम्स में 12 हजार लोग मारे गए
First published: May 19, 2020, 7:36 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading