• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • चीन ने कोरोनावायरस से बचने के लिए फ्लाइट अटेंडेंट को दी डायपर पहनने की सलाह

चीन ने कोरोनावायरस से बचने के लिए फ्लाइट अटेंडेंट को दी डायपर पहनने की सलाह

कोरोना की नई स्ट्रेन के खतरे और यूरोपीय देशों में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह कदम उठाया गया है

Disposable Diapers Wear Flight Attendant in China: चीन के नागरिक उड्डयन प्रशासन (China Civil Aviation) ने एक बहुत ही अजीब सलाह देकर लोगों को अचम्भित कर दिया है. उन्होंने फ्लाइट अटेंडेंट को डिस्पोजेबल डायपर पहनने की सलाह दी है. जिससे उन्हें बाथरूम इस्तेमाल करने की जरूरत न पड़े. केबिन क्रू को मेडिकल मास्क, डबल-लेयर डिस्पोजेबल मेडिकल दस्ताने, काले चश्मे, डिस्पोजेबल टोपी, डिस्पोजेबल सुरक्षात्मक कपड़े और डिस्पोजेबल शू कवर पहनने की सलाह दी गई है.

  • Share this:
    बीजिंग. पूरा विश्व कोरोना (Coronavirus Pandemic) के डर के साये में रहने को मजबूर है और इससे बचने के लिए हर दिन कोई नया उपाय सामने आता रहता है. दुनिया भर में परिवहन अधिकारी यात्रियों और चालक दल के विमानों को सुरक्षित रखने के तरीकों की तलाश में लगे हैं. चीन के नागरिक उड्डयन प्रशासन (CAAC) ने 25 नवंबर को देश के एयरलाइन उद्योग के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए हैं. चीन के नागरिक उड्डयन प्रशासन ने एक बहुत ही अजीब सलाह देकर लोगों को अचम्भित कर दिया है. उन्होंने फ्लाइट अटेंडेंट को डिस्पोजेबल डायपर (Disposable Diapers) पहनने की सलाह दी है जिससे उन्हें बाथरूम इस्तेमाल करने की जरूरत न पड़े. टेक्निकल गाइडलाइंस फॉर एपिडेमिक प्रिवेंशन एंड कंट्रोल फॉर एयरलाइंस शीर्षक से एक डॉक्यूमेंट के छठे संस्करण में एयरलाइन्स में महामारी निवारण और नियंत्रण के लिए कई दिशा निर्देश जारी किये हैं.

    डिस्पोजेबल डायपर पहनने की अजीबोगरीब सलाह

    मिसाल के तौर विमान और हवाई अड्डों पर सर्वोत्तम स्वच्छता संबंधी आदतों प्रथाओं के बारे में कई सलाहें और सुझाव शामिल किये गए हैं. PPE किट पर लिखे एक सेक्शन में उन देशों में जहाँ कोरोना का ज्यादा खतरा है, वहां केबिन क्रू को मेडिकल मास्क, डबल-लेयर डिस्पोजेबल मेडिकल दस्ताने, काले चश्मे, डिस्पोजेबल टोपी, डिस्पोजेबल सुरक्षात्मक कपड़े और डिस्पोजेबल शू कवर पहनने की सलाह दी गई है. इसके अगले वाक्य में लिखा है कि केबिन क्रू सदस्य को सलाह दी जाती है कि वे डिस्पोजेबल डायपर पहनें और विशेष परीस्थितियों को छोड़कर संक्रमण से बचने के लिए लैवेटरीज़ का प्रयोग न करें. हालाँकि यह सलाह नाटकीय लग सकती है लेकिन लैवेटरीज़ में सबसे ज्यादा कीटाणु हो सकते हैं.

    बाथरूम या लैवेटरीज़ सबसे खतरनाक जगह

    अगस्त में इटली से दक्षिण कोरिया जाने वाली एक महिला यात्रा के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित हो गई थी. महिला ने बताया कि पूरी यात्रा के दौरान उसने बाथरूम में मास्क नहीं पहना था जिसके चलते उसे संक्रमण हो गया.

    ये भी पढ़ें: डोनाल्ड ट्रंप के समर्थन में रैली, वाशिंगटन में 10 हजार से ज्यादा लोग हुए शामिल


    चीन के कोविड-19 वैक्सीन का पेरू में चल रहा था ट्रायल, प्रतिकूल रिजल्ट के चलते रोका

    एयरोप्लेन के बाथरूम डिज़ाइन कोरोना महामारी से पहले ही बहस का विषय रहे हैं लेकिन महामारी के बाद नए समाधानों पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है. जापानी एयरलाइन एएनए ने इस साल की शुरुआत में घोषणा की थी कि हैंड्स फ्री लैवेटरी के दरवाजे के प्रोटोटाइप का परीक्षण कर रहा है और इसी बीच बोइंग ने "स्व-सफाई शौचालय" पर एक पेटेंट के लिए सफलतापूर्वक आवेदन किया है. हर बार बाथरूम इस्तेमाल के बाद यूवी लाइट के उपयोग के बाद 99.9% बाथरूम कीटाणुओं को साफ करने में मदद करेगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज