चीन ने पास किया विवादित हांगकांग सुरक्षा कानून, ट्रंप के धमकाने का नहीं हुआ असर

चीन ने पास किया विवादित हांगकांग सुरक्षा कानून, ट्रंप के धमकाने का नहीं हुआ असर
चीन ने हांगकांग को लेकर विवादित कानून पास कर दिया है.

चीन (China) ने विवादित हांगकांग सुरक्षा कानून (Security legislation) पास कर दिया है. इसको लेकर ट्रंप ने चीन को सख्त प्रतिक्रिया दी थी.

  • Share this:
बीजिंग: चीन (China) ने हांगकांग (Hong Kong) को लेकर विवादित राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (National Security legislation) पास कर दिया है. अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप (Donald Trump) ने हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक लोगों को दबाने वाले इस कानून का आलोचना की थी. उन्होंने सख्ती से प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि ये लोकतंत्र की मांग करने वालों को कुचलने जैसा है. हालांकि चीन ने उनकी आलोचनाओं की परवाह नहीं करते हुए कानून को पास कर दिया.

चीन की नेशनल पीपुल्स कांग्रेस, जिसे चीन की रबर स्टैम्प विधायिका कहा जाता है, ने नए कानून के ड्राफ्ट को 2,878-1 मतों से मंजूरी दे दी. गुरुवार में बीजिंग में हुए एनुअल सेशन में इसे मंजूरी दी गई. इस दौरान 6 सदस्य गैरहाजिर रहे. चीन के अधिकारी कुछ ही हफ्तों में हांगकांग में नया कानून लागू कर सकते हैं.

हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक विरोधी है नया कानून
इस कानून के लागू होने के बाद किसी भी तरह के तोड़फोड़, अलगाववाद और विदेशी हस्तक्षेप पर सख्त कार्रवाई का प्रावधान होगा. कानून लागू होने के बाद एक तरह से हांगकांग पर बीजिंग प्रशासन का कब्जा हो जाएगा. जबकि लोकतंत्र समर्थक हांगकांग को ज्यादा स्वायत्तता देने की मांग करते रहे हैं. इसको लेकर कई बार विरोध प्रदर्शन भी हुए हैं.



नए कानून के पास होने के बाद हांगकांग के अर्ध स्वायत्त स्थानीय विधान परिषद के अधिकार कम हो जाएंगे. हांगकांग में लोकतंत्र समर्थकों और विपक्षी दलों के लिए ये बड़ा झटका साबित होगा. इसकी वजह से सड़कों पर उग्र प्रदर्शन हो सकते हैं.



हांगकांग की अर्थव्यवस्था पर इसका काफी बुरा असर पड़ सकता है. विरोध प्रदर्शनों की वजह से कंपनियां इस इलाके से भाग सकती हैं. इस एशियन फायनेंसियल हब को काफी नुकसना पहुंच सकता है.

ट्रंप ने दी है आर्थिक प्रतिबंध लगाने की धमकी
इसके पहले बुधवार को ट्रंप प्रशासन ने कहा था कि चीन अब हांगकांग को स्वायत्तता देने को तैयार नहीं है. हालांकि 1997 में जब ब्रिटिश सरकार ने इस इलाके को सौंपा था तो इसे स्वायत्तता देने का वादा लिया गया था. चीन में इस नए कानून की वजह से अमेरिका और चीन के रिश्ते काफी खराब हो सकते हैं. अमेरिका, चीन के ऊपर कई तरह के व्यापारिक प्रतिबंध लगा सकता है. अमेरिका, चीन को दिए स्पेशल ट्रेडिंग स्टेट्स को भी छीन सकता है.

डोनाल्ड ट्रंप ने प्रतिबंधों को लेकर मंगलवार को कहा कि उनका प्रशासन इस दिशा में काम कर रहा है और वो इस हफ्ते इसकी घोषणा कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें:

यूरोपियन यूनियन के देशों ने बैन की कोरोना के इलाज में मलेरिया की दवा का इस्तेमाल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading