होम /न्यूज /दुनिया /चीन के शंघाई में कोरोना से ठीक हुए 11000 मरीज, रोज आ रहे 20 हजार संक्रमित

चीन के शंघाई में कोरोना से ठीक हुए 11000 मरीज, रोज आ रहे 20 हजार संक्रमित

शंघाई में पिछले लगभग 9 दिनों से रोज कोरोना के 20 हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. संक्रमण की रफ्तार धीमी करने के लिए अधिकारी शहर में लॉकडाउन लगाकर व्यापक स्तर पर जांच कर रहे हैं.

शंघाई में पिछले लगभग 9 दिनों से रोज कोरोना के 20 हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. संक्रमण की रफ्तार धीमी करने के लिए अधिकारी शहर में लॉकडाउन लगाकर व्यापक स्तर पर जांच कर रहे हैं.

China Coronavirus cases: ओमिक्रॉन की मार झेल रहे चीन के बड़े शहर शंघाई में शुक्रवार को कोरोना के रिकॉर्ड 25,000 से ज्या ...अधिक पढ़ें

बीजिंग. चीन के शंघाई और अन्य शहरों में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी हुई है. रविवार को शंघाई के स्वास्थ्य विभाग ने अस्पतालों से 11,000 से अधिक कोविड-19 से ठीक हो चुके रोगियों को घर भेज दिया है. चीन के कई शहरों में संक्रमण की संख्या लगातार बढ़ रही है जिसके बाद देश में सख्ती से लागू की गई ‘जीरो कोविड नीति’ पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं.

रोज 20 हजार से ज्यादा मामले आ रहे सामने
शंघाई में पिछले लगभग 9 दिनों से रोज कोरोना के 20 हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. संक्रमण की रफ्तार धीमी करने के लिए अधिकारी शहर में लॉकडाउन लगाकर व्यापक स्तर पर जांच कर रहे हैं. राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के अनुसार रविवार को चीन में कोरोना के 24,944 नए मामले सामने आए. रविवार को आए इन मामलों ने लगातार नौवें दिन एक नया रिकॉर्ड बनाया.

चीन में शंघाई बना कोविड का एपिसेंटर, खाने-पीने के लिए तरस रहे लोग

मरीजों को होम क्वारंटाइन में रखा जाएगा
शंघाई के पब्लिक स्वास्थ्य आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी वू कियान्यु ने रविवार को कहा कि मरीजों को होम क्वारंटाइन में रखा जाएगा. इस दौरान उन पर कोई और नियंत्रण नहीं लगाया जाना चाहिए. वहीं, चीनी मीडिया का कहना है कि जिन क्षेत्रों में कोरोना संक्रमित रोगी रहते हैं, वहां के संबंधित अधिकारियों को सतर्क रहना होगा. साथ ही, होम क्वारंटीन में रहने के दौरान अधिकारियों को रोगियों के स्वास्थ्य की निगरानी करने की आवश्यकता है.

शंघाई में 22 दिन से ‘कैद’ लोगों ने लूटीं खाने-पीने की दुकानें
शहर में 23 दिन से कड़े लॉकडाउन से जूझ रहे शंघाई शहर के लोगों ने खाने-पीने की चीजें न मिलने से आकस्मिक आपूर्ति केंद्रों पर लूटपाट शुरू कर दी. वायरल वीडियो में साफ दिखा कि भीड़ खाने-पीने की चीजों के लिए टूट पड़ी. कुछ वीडियो में लोगों को अपने घरों से दूर रखने के लिए लगाए गए बैरियर को तोड़ते हुए देखा जा सकता है. शंघाई प्रशासन इन वीडियो को वेबसाइटों से हटाने के निर्देश दिए हैं.

50 हजार को सैंपल लेने के लिए लगाया
बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए शंघाई में परीक्षण को बढ़ाते हुए एक दिन में एक व्यक्ति की दो-दो बार जांच की जा रही है. शंघाई में परीक्षण के लिए 50,000 लोगों को लगाया गया है. वर्ष 2020 के बाद शंघाई सबसे बड़ा शहर है जहां लॉकडाउन लगाना पड़ा.

चीन के शंघाई में कोरोना से ठीक हुए 11000 मरीज, रोज आ रहे 20 हजार संक्रमित

23 शहरों में लॉकडाउन से करीब 19.3 करोड़ प्रभावित
चीन के छोटे-बड़े 23 शहरों में पूरा या आंशिक लॉकडाउन लगने से करीब 19.3 करोड़ लोगों पर प्रभाव पड़ा है. इससे लोग सड़कों पर उतर आए हैं. शंघाई में लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कराने के लिए ड्रोन और रोबोट की मदद ली जा रही है.

Tags: 10 common symptoms of Coronavirus

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें