होम /न्यूज /दुनिया /चीन: स्‍कूली किताब के अश्‍लील फोटो हुए वायरल, 27 अधिकारियों को मिली सजा

चीन: स्‍कूली किताब के अश्‍लील फोटो हुए वायरल, 27 अधिकारियों को मिली सजा

चीन की स्‍कूली किताब के अशालीन फोटो वायरल हो गए हैं.  ( फाइल फोटो)

चीन की स्‍कूली किताब के अशालीन फोटो वायरल हो गए हैं. ( फाइल फोटो)

स्‍कूल की गणित की किताब में छपे चित्रों के आपत्तिजनक होने के कारण चीन (China) ने 27 अधिकारियों को सजा दी है. इस किताब म ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

चीन की स्‍कूली किताब में थे अशालीन फोटो
बीते 10 सालों से इसी किताब से पढ़ रहे थे बच्‍चे
सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद हुई कार्रवाई

बीजिंग. स्‍कूल की गणित की किताब में छपे चित्रों के आपत्तिजनक होने के कारण चीन (China) ने 27 अधिकारियों को सजा दी है. इस किताब में अश्‍लील चित्रों को लेकर कई तरह की टिप्‍पणी की गई हैं. चित्रों को ‘दुखद रूप से बदसूरत’ और यौन विचार बढ़ाने वाला बताया गया है. इस किताब और कार्रवाई को लेकर दुनिया भर में चर्चा हो रही है. ‘द गार्जियन’ के अनुसार चीनी शिक्षा मंत्रालय ने बताया कि एक माह तक चली जांच के बाद अधिकारियों ने रिपोर्ट दी है कि पीपुल्‍स एजुकेशन प्रेस द्वारा प्रकाशित प्राथमिक स्कूल गणित पाठ्यपुस्तकों के ग्यारहवें सेट में चित्र ‘सुंदर नहीं’ और ‘काफी बदसूरत’ हैं और ये चित्र चीन के बच्चों की छवि को ठीक से नहीं दर्शाती हैं.

कुछ खबरों में कहा गया है कि ये किताबें बीते दस सालों से पाठ्यक्रम में थीं और बच्‍चे इसी से पढ़ रहे थे, लेकिन जब इस साल मई में एक टीचर ने जब किताबों के इन चित्रों को सोशल मीडिया पर पोस्‍ट किया तो वे वायरल हो गए. ‘न्‍यूजवीक’ के अनुसार किताब के अंदर चीन के स्‍कूली बच्‍चों के चित्र मर्यादित नहीं थे. इन चित्रों में जिन बच्‍चों को दिखाया गया था उनके कपड़े और व्‍यवहार शालीन नहीं था. चित्र में लड़कों को लड़कियों की स्कर्ट को पकड़ते हुए भी दिखाया गया है, जबकि एक बच्चे के पैर में टैटू दिखाई दे रहा है. सोशल मीडिया में इन चित्रों ने तहलका मचा दिया है.

यूजर्स ने कहा इसमें अमेरिका की साजिश 

अमेरिका, ऑस्‍ट्रेलिया समेत अन्‍य देशों में भी इनकी चर्चा हो रही है. सवाल यह भी है कि ये चित्र कैसे बनाए गए, कैसे स्‍कूली किताब के लिए चुने गए ओर इन्‍हें किसकी अनुमति से प्रकाशित किया गया. सबसे बड़ी हैरानी की बात है कि बीते 10 सालों से इन चित्रों को क्‍यों आपत्ति नहीं जताई गई. इंटरनेट यूजर्स ने इन किताबों को चीन को बदनाम करने वाला और संस्‍कृति का विनाश करने वाला बताया है. वहीं कुछ इसे अमेरिकी साजिश बता रहे हैं क्‍योंकि इन चित्रों में से कुछ बच्‍चों को सितारे और पट्टियों के साथ अमेरिकी ध्‍वज के रंगों में कपड़े पहने हुए दिखाया है.

प्रकाशन अधिकारी समेत कई पर हुई कार्रवाई

चीन ने अपने कर्तव्यों और जिम्मेदारियों की उपेक्षा करने वाले 27 अफसरों को सजा दे दी है. चीन का कहना है कि ये लोग अपना काम सही ढंग से करने में नाकाम रहे हैं. चीन ने पब्लिशिंग हाउस के अध्यक्ष, प्रधान संपादक और गणित विभाग के प्रमुख संपादन अधिकारी, डिजाइनरों समेत कई लोगों पर बर्खास्‍तगी कार्रवाई की है. बयान में कहा गया है कि ये सभी लापरवाह हैं और अब ये पाठ्यपुस्‍तक के डिजाइन या उससे संबंधित किसी काम में शामिल नहीं किए जाएंगे. इस मामले में चीनी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी (Chinese Communist Party) ने भी कहा है कि शिक्षा को लेकर कोई समझौता नहीं हो सकता. वह समझदार लोगों को जिम्‍मेदारी देगी ताकि राजनीतिक दिशा और सामाजिक मूल्‍यों का पालन हो.

Tags: China, Chinese Communist Party, Education Department

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें