• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • विवाद वाली जगह से चंद कदम दूर तैनात है चीनी सेना, देखें सैटेलाइट तस्वीरें

विवाद वाली जगह से चंद कदम दूर तैनात है चीनी सेना, देखें सैटेलाइट तस्वीरें

चीन ने अपने इस अड्डे पर रक्षात्‍मक खाई, ईंधन टैंक, सैनिकों के रहने के स्‍थान आदि बना रखे हैं. (AP)

चीन ने अपने इस अड्डे पर रक्षात्‍मक खाई, ईंधन टैंक, सैनिकों के रहने के स्‍थान आदि बना रखे हैं. (AP)

India-China Border Tension: इन तस्‍वीरों से यह भी पता चलता है कि चीन और भारत के बीच सीमा विवाद अभी बना हुआ है. चीन ने अपने इस अड्डे पर रक्षात्‍मक खाई, ईंधन टैंक, सैनिकों के रहने के स्‍थान आदि बना रखे हैं.

  • Share this:
    बीजिंग. चीन ने पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh) में जारी गतिरोध के बीच पैंगोंग झील (Pangong Lake) से सटकर अपनी सेना को तैनात कर रखा है. छह महीने पहले ही भारत और चीन के बीच पैंगोंग झील के इलाके से सेना को पीछे हटाने और गश्‍त नहीं लगाने पर सहमति बनी थी. जिसके बाद चीन ने अपनी सेना (Chinese Army) को पैंगोंग झील के फिंगर 4 से हटाकर फिंगर 8 के ठीक पीछे तैनात कर दिया है. सैटेलाइट तस्‍वीरों में पता चला है कि विवाद वाले पॉइंट के ठीक पास चीनी सैनिक मौजूद हैं.

    ओपन इंटेलिजेंस सोर्स detresfa की रिपोर्ट के मुताबिक, पैंगोंग झील से सटकर मौजूद पीएलए के ठिकाने पर बड़ी संख्‍या में चीनी सैनिक मौजूद हैं. यह पीएलए का ठिकाना गश्‍त नहीं लगाने के लिए हुए समझौता स्‍थल से मात्र कुछ ही दूरी पर स्थित है.

    चीन के डुनहुआंग में आया रेतीला तूफान, दिखी धूल की 100 मीटर ऊंची दीवार

    इन तस्‍वीरों से यह भी पता चलता है कि चीन और भारत के बीच सीमा विवाद अभी बना हुआ है. चीन ने अपने इस अड्डे पर रक्षात्‍मक खाई, ईंधन टैंक, सैनिकों के रहने के स्‍थान आदि बना रखे हैं.



    वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट के अनुसार, चीन ने गलवान हिंसा के दौरान तैनात सैनिकों की संख्या से 15 हजार ज्यादा जवानों को इस बार तैनात किया हुआ है. भारतीय खुफिया और सैन्य अधिकारियों के अनुसार, चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने पिछले कुछ महीनों में धीरे-धीरे अपनी सेना की उपस्थिति को बढ़ाकर 50 हजार से ज्यादा कर दिया है.

    साउथ चाइना सी के आइलैंड पर सैन्य विमानों की तैनाती कर रहा चीन

    डिसएंगेजमेंट कुछ इलाकों में, अभी विवाद बाकी
    रिपोर्ट के मुताबिक, हालांकि, दोनों पक्षों की कई दौर की बातचीत के बाद इसी साल फरवरी में विवादित सीमा के पास कुछ इलाकों से अपनी सेनाएं और सैन्य साजो सामान वापस बुला रहे हैं. दोनों पक्षों ने पहले पैंगोंग सो के आसपास अपने सैनिकों को हटाने का फैसला किया, लेकिन पूर्वी लद्दाख में हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा और डेपसांग जैसे क्षेत्र अभी संघर्ष की स्थिति से बाहर नहीं निकले हैं. इसे विवाद का खत्म होना नहीं कहा जा सकता. यह आगे एक बार फिर से करवट ले सकता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज