लाइव टीवी

शी जिनपिंग के दौरे से पहले चीन ने भारत के लिए कही बड़ी बात

News18Hindi
Updated: October 11, 2019, 9:43 AM IST
शी जिनपिंग के दौरे से पहले चीन ने भारत के लिए कही बड़ी बात
आज भारत दौरे पर आ रहे हैं चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग.

आज भारत दौरे पर आ रहे हैं चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग (Xi jinping). चीन (China) के सरकारी अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स में प्रकाशित लेख में चीन (China) ने कहा है कि दोनों देशों के सहयोग के बिना 21वीं सदी एशिया (ASIA) की नहीं हो सकती.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2019, 9:43 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. चीन (China) के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) आज भारत (India) दौरे पर आ रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra modi) के साथ उनकी चेन्‍नई (Chennai) के पास मामल्‍लापुरम में दूसरी अनौपचारिक शिखर वार्ता होनी है. अपने राष्‍ट्रपति के भारत दौरे से पहले चीन ने भारत को लेकर प्रतिक्रिया दी है. चीन के सरकारी अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स में प्रकाशित लेख में चीन ने कहा है कि दोनों देशों के सहयोग के बिना 21वीं सदी एशिया की नहीं हो सकती.

लेख में कहा गया है कि बीते कुछ समय से एशिया की सदी (Asian century) की बात काफी होती है. कुछ एशियाई नेता और रणनीतिकार कहते हैं कि विश्‍व के लिए 19वीं सदी यूरोप की थी, 20वीं सदी अमेरिका की थी और अब 21वीं सदी एशिया की होगी. भारतीय थिंक टैंक ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन की एक रिपोर्ट का भी जिक्र अखबार ने किया है. उसका कहना है कि ऐसा चीन और भारत की आर्थिक प्रगति से ही संभव हो पाएगा.

चीन के सरकारी अखबार में प्रकाशित लेख में की गई है भारत-चीन संबंधों पर बात.


निवेश की कही बात

चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग और पीएम मोदी के बीच होने वाली अनौपचारिक शिखर वार्ता पर चीन ने कहा है कि इससे दोनों देशों के बीच संबंध नए आयाम तक पहुंचेंगे. चीन ने कहा है कि चीनी कंपनियों ने बीते कुछ साल में भारत के मेक इन इंडिया और डिजिटल इंडिया जैसे अभियानों का हिस्सा बनते हुए देश के इंडस्‍ट्री पार्क, ई-कॉमर्स जैसे क्षेत्रों में बड़ा निवेश किया है. ताकि भारत में नौकरी के अवसर उत्‍पन्‍न हों. साथ ही भारतीय कंपनियों का भी चीन में निवेश बढ़ा है.

संदेह के चलते रुकी प्रगति
सरकारी अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स में प्रकाशित लेख में चीन ने भारत पर चीन को लेकर अविश्वास जताने का आरोप लगाया है. चीनी मीडिया के मुताबिक भारत की ओर से संदेह के चलते ही दोनों देश आर्थिक क्षेत्र में एक साथ प्रगति नहीं कर पा रहे हैं. यह वह दौर है, जब भारत और चीन का साथ मिलकर काम करना सबसे ज्यादा जरूरी हो गया है.
Loading...

सीमा विवाद पर भी बोला चीन
दोनों देशों के बीच सीमा विवाद का जिक्र करते हुए चीन ने कहा है कि अगर इससे शांतिपूर्ण ढंग से निपटा जाए तो यह दुनिया के सामने एक मॉडल होगा. इसके जरिये यह संदेश भी जाएगा कि भारत और चीन, दो शक्तियां साथ आ सकती हैं. चीन ने भारत के साथ दोस्‍ती को अहम करार दिया. चीन ने का कि अगर चीन और भारत के बीच संबंध अच्छे नहीं रहते हैं तो एशिया का विकास असंभव है. चीन ने कहा है कि दोनों देश अगर द्विपक्षीय मुद्दों पर विचार नहीं करते हैं तो बाहर की ताकतें इसका फायदा उठाएंगी.

यह भी पढ़ें: आज भारत पहुंचेंगे जिनपिंग, मामल्लापुरम में दो दिन चलेगी PM मोदी से बातचीत 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चीन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 11, 2019, 9:14 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...