लाइव टीवी

चीन के जिस डॉक्‍टर ने सबसे पहले किया था अलर्ट उसी की कोरोना वायरस से हो गई मौत

News18Hindi
Updated: February 6, 2020, 9:14 PM IST
चीन के जिस डॉक्‍टर ने सबसे पहले किया था अलर्ट उसी की कोरोना वायरस से हो गई मौत
कोरोना वायरस से चीनी डॉक्‍टर की मौत

चीन (China) के जिस डॉक्‍टर ने सबसे पहले कोरोना वायरस (Coronavirus) के बारे में चेताया था आज वुहान में उनकी मौत हो गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 6, 2020, 9:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. चीन (China) से शुरू हुए कोरोना वायरस (Coronavirus) की चपेट में भारत (India) समेत दुनिया के लगभग दो दर्जन देश हैं. चीन में अब तक 563 लोगों की मौत हो चुकी है और लगभग 28 हजार लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. भारत में भी अब तक तीन मामले सामने आ चुके हैं. वहीं चीनी डॉक्‍टर ली वेनलियांग उन आठ लोगों में से थे जिन्‍होंने सबसे पहले कोरोना वायरस को लेकर चेताया था. हालांकि उस समय उनकी बातों को गंभीरता से नहीं लिया गया था और स्‍थानीय पुलिस ने उन्‍हें फटकार भी लगाई थी. जबकि वुहान में गुरुवार को डॉक्‍टर ली वेनलियांग की भी कोरोना वायरस के संक्रमण से ही मौत हो गई.

डॉक्‍टर ली ने पिछले साल 30 दिसंबर को ही कोरोना वायरस से आगाह किया था. उन्‍होंने अपने मेडिकल स्‍कूल के ऑनलाइन एम्‍युमनी चैट ग्रुप में बताया था कि उनके अस्‍पताल में सात मरीज आए हैं जिनमें सार्स जैसी बीमारी के लक्षण मिले हैं. ली ने बताया था कि कोरोना वायरस की चीन में जड़ें काफी पुरानी है. वर्ष 2003 में भी इस वायरस ने सैकड़ों लोगों की जान ले ली थी.



चीन में 19 विदेशी नागरिक कोरोना वायरस से संक्रमित: विदेश मंत्रालय

चीन ने गुरुवार को कहा कि देश में रह रहे 19 विदेशी नागरिकों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है. हालांकि संक्रमित नागरिकों की नागरिकता का खुलासा नहीं किया गया है. चीनी स्वास्थ्य अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 563 पहुंच गई और कुल 28,018 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. बुधवार को देश में 73 लोगों की मौत हो गई जो अभी तक एक दिन में मरने वालों की सबसे ज्यादा संख्या है.

भारत ने अपने नागरिक निकाले
भारत और कई अन्य देश हुबेई प्रांत और इसकी प्रांतीय राजधानी वुहान से अपने हजारों नागरिकों को निकाल कर लाए हैं. भारत 647 भारतीय नागरिकों और सात मालदीव के लोगों को हवाई मार्ग से चीन से बाहर ले आया. लगभग 100 भारतीय नागरिक हुबेई में ही रह रहे हैं और 10 तेज बुखार होने के कारण विमान में नहीं चढ़ पाये.चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने गुरुवार को मीडिया ब्रीफिंग में बताया कि 19 विदेशी नागरिकों के 2019-एनसीओवी(कोरोना वायरस का अधिकारिक नाम) निमोनिया से संक्रमण की पुष्टि हुई है. उनमें से दो को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है जबकि 17 का पृथक वार्ड में इलाज चल रहा है. उन्होंने मरीजों की पहचान और नागरिकता का खुलासा नहीं किया.

(भाषा इनपुट के साथ)

 


ये भी पढ़ें: कोरोनावायरस से जुड़ी वो खास फैक्ट्स , जिनको जानना आपके लिए बेहद जरूरी

ये भी पढ़ें: भारत ने कहा- पाकिस्‍तान कहे तो वुहान में फंसे उसके नागरिकों को भी निकालने में कर सकते हैं मदद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चीन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 9:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर