Home /News /world /

तीसरी बार चीन के राष्ट्रपति बन सकते हैं शी जिनपिंग, चीनी मीडिया का दावा

तीसरी बार चीन के राष्ट्रपति बन सकते हैं शी जिनपिंग, चीनी मीडिया का दावा

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग. (फाइल फोटो)

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग. (फाइल फोटो)

सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी (Communist Party) ने चीन के तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र के अध्यक्ष किझाला का अगले साल शीर्ष नेतृत्व में होने वाले फेरबदल में राष्ट्रीय विधायिका में उच्चतर पद के लिए बीजिंग तबादला कर दिया है. इस दौरान राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi jinping) का अभूतपूर्व तौर पर तीसरा कार्यकाल संभावित है. अब तक खबर की आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हुई है.

अधिक पढ़ें ...

    बीजिंग. सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी (Communist Party) ने चीन के तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र के अध्यक्ष किझाला का अगले साल शीर्ष नेतृत्व में होने वाले फेरबदल में राष्ट्रीय विधायिका में उच्चतर पद के लिए बीजिंग तबादला कर दिया है. इस दौरान राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) का अभूतपूर्व तौर पर तीसरा कार्यकाल संभावित है. मीडिया में इस आशय की खबर आयी है. हांगकांग के अखबार साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने बुधवार को खबर दी कि किझाला (63) बीजिंग में नई जिम्मेदारी संभालने के लिए ल्हासा से चले गये हैं.

    मीडिया में ऐसी तमाम खबरें हैं, लेकिन अब तक किसी भी खबर की आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हुई है. ऐसा बताया गया है कि  किझाला का मूल नाम चे डल्हा है. किझाला को सत्तारूढ़ चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) की ल्हासा शाखा के प्रमुख यान जिन्हाइ का स्थान मिलने की संभावना है. यह फेरबदल पार्टी की पंचवर्षीय कांग्रेस के गठन का हिस्सा है. ल्हासा तिब्बत की प्रांतीय राजधानी है. कांग्रेस अगले दशक के लिए पार्टी का शीर्ष नेतृत्व तय करेगी.

    ये भी पढ़ें : दिल्ली में रहने वालों को अब मिलेगा हेल्थ कार्ड, एक छत के नीचे मिलेंगी मेडिकल फैसिलिटी, पढ़ें ये रिपोर्ट

    ये भी पढ़ें : बच्चों के शारीरिक और भावनात्मक विकास में परिवार का रोल सबसे अहम : शोध

    अखबार की खबर के अनुसार 2017 से तिब्बत सरकार की अगुआई कर रहे किझाला को शीर्ष विधायिका नेशनल पीपुल कांग्रेस में नई भूमिका मिलने की संभावना है. एनपीसी में उनकी प्रोन्नति ‘चीनी राष्ट्र के लिए सामुदायिक भावना’ के शी के दृष्टिकोण की पूर्ति होना है जिसका मतलब पार्टी सभी जातीय समूहों के लिए है. सीपीसी नवंबर में अपना छठा पूर्ण सत्र बुलाकर अगले साल की कांग्रेस की अपनी प्रक्रिया शुरू करेगी. इस सत्र में 370 से अधिक पूर्ण एवं प्रत्यावर्ती सदस्य हिस्सा लेंगे.

    चीन में मौजूद राजनीतिक प्रणाली के अनुसार शी जिनपिंग को 2023 में अपना पद छोड़ना होगा. एक पद पर 10 सालों तक बने रहने की परंपरा 1990 में शुरू हुई थी. उस समय दिग्‍गज नेता डेंग ने अराजकता से बचने की मांग की थी. जिनपिंग के पहले जो दो राष्‍ट्रपति हुए उन्‍होंने उत्‍तराधिकार की घोषणा का पालन किया था. लेकिन जिनपिंग ने 2012 में सत्ता में आने के बाद ऐसा नहीं किया. यह साफ नहीं है कि वो कब तक पद पर बने रहेंगे.

    चीन के सरकारी अख़बार ग्लोबल टाइम्स के एक संपादकीय के अनुसार, बदलाव का मतलब नहीं है कि चीनी राष्ट्रपति का आजीवन कार्यकाल होगा. मौजूदा प्रणाली के अनुसार शी जिनपिंग को 2023 में अपना पद छोड़ना है.

    Tags: China, Communist Party, Xi jinping

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर