लाइव टीवी

चीन ने किया कोरोना वायरस के मामलों के घटने का दावा, मृतकों की संख्या 491 हुई

भाषा
Updated: February 5, 2020, 10:54 PM IST
चीन ने किया कोरोना वायरस के मामलों के घटने का दावा, मृतकों की संख्या 491 हुई
चीन में घातक कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 491 हो गई है (सांकेतिक तस्वीर, Reuters)

चीन (China) में घातक कोरोना वायरस (Corona Virus) से मरने वालों की संख्या बढ़कर 491 हो गई और इसके 24,324 मामलों की पुष्टि हुई है. दूसरे देशों में वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 182 हो गई है.

  • Share this:
बीजिंग. चीन (China) ने बुधवार को दावा किया कि पिछले दो दिनों में कोरोना वायरस (Corona Virus) के नए संदिग्ध मामलों की संख्या घटी है. इससे उम्मीदें जगी हैं कि कारगर उपायों की बदौलत इसके प्रसार को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है. वहीं, देश में मृतकों की संख्या करीब 500 हो गयी है.

मृतकों की संख्या बढ़ने के बीच हांगकांग (Hong Kong) ने कहा कि चीन से आने वाले सभी लोगों को शनिवार से दो सप्ताह तक जरूरी पृथक निगरानी में रहना होगा. घातक कोरोना वायरस (Corona Virus) के प्रसार को रोकने के मकसद से हांगकांग की मुख्य कार्यकारी अधिकारी कैरी लाम ने बुधवार को इन कदमों की घोषणा की.

वुहान जाने की घोषणा करने वाले कंबोडिया के PM पहुंचे चीन
चीन में घातक कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 491 हो गई और इसके 24,324 मामलों की पुष्टि हुई है. दूसरे देशों में वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 182 हो गयी. फिलीपीन (Philippines) में पहली मौत का मामला सामने आया जबकि हांगकांग ने रविवार को एक व्यक्ति की मौत की पुष्टि की थी.

वायरस से मुकाबले के बीच कंबोडिया (Cambodia) के प्रधानमंत्री हुन सेन का यहां पर स्वागत किया गया. दौरे के पहले हुन ने कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित वुहान जाने की घोषणा कर खूब सुर्खियां बटोरी थी. चीन ने हुन सेन की तरफ से प्रदर्शित एकजुटता की भावना की सराहना की लेकिन कहा कि वह वुहान नहीं जाएंगे. बीजिंग के वफादार हुन सेन का एयरपोर्ट पर चीनी विदेश मंत्री वांग यी (Foreign Minister Wang Yi) ने स्वागत किया और बाद में वह राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मिले.

पाक की तरह कंबोडिया ने भी चीन से छात्रों-राजनयिकों को निकालने से कर दिया था इंकार
पाकिस्तान की तरह कंबोडिया (Cambodia) ने भी चीन से अपने छात्रों और राजनयिकों को वहां से निकालने से इनकार कर दिया. हुन सेन ने बीजिंग के प्रति एकजुटता दिखाते हुए उड़ानें भी रद्द नहीं की जबकि वायरस के संक्रमण के डर से कई बड़ी एयरलाइनों ने सेवा रोक दी है.चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (National Health Commission) ने बताया कि मंगलवार को 3,971 नए मामलों की पुष्टि हुई है. सोमवार को 5,072 और रविवार को 5,173 मामले सामने आए थे. यह मामलों में गिरावट का संकेत है. चीनी अधिकारियों ने कहा कि वुहान में विशेष अस्पतालों (Special Hospitals) के बनने से मामले और घटेंगे.

पाकिस्तान ने अपने स्टूडेंट्स को चीन से निकालने से कर दिया है मना
भारत वुहान से अपने 647 छात्रों को निकाल चुका है. मालदीव (Maldives) के सात लोग भी निकाले गए हैं. श्रीलंका और बांग्लादेश ने भी अपने नागरिकों को निकाला है.

पाकिस्तान के सैकड़ों छात्र वुहान (Wuhan) और हुबेई प्रांत में फंसे हैं लेकिन उसने वहां से अपने लोगों को यह कहते हुए निकालने से मना कर दिया कि चीन ने उनकी समुचित देखभाल का वादा किया है.

कोरोना वायरस रोगियों पर एचआईवी-रोधी दवाओं के इस्तेमाल को मंजूरी
भारतीय औषधि महानियंत्रक (DGCI) ने आमतौर पर एचआईवी संक्रमण को नियंत्रित करने वाली दवाओं के मिश्रण के कोरोना वायरस पीड़ितों के इलाज के लिये 'सीमित मात्रा में इस्तेमाल' को मंजूरी दे दी है. अधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी.

सरकारी सूत्रों के अनुसार शीर्ष स्वास्थ्य अनुसंधान निकाय भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने डीजीसीआई से कोरोना वायरस पीड़ितों के इलाज के लिये दो दवाओं लोपिनेविर और रिटोनेविर के मिश्रण के "सीमित इस्तेमाल" की मंजूरी मांगी थी.

आईसीएमआर के एक अधिकारी ने कहा, 'हमने अपने अलग-अलग शोधों में पाया कि यह कोरोना वायरस से निपटने में संभावित रूप से मददगार है.'

कोरोना वायरस: बंदरगाहों और हवाईअड्डों पर बरती जा रही सावधानी
पड़ोसी राज्य केरल में कोरोना वायरस के तीन मामले पाए जाने के बाद कर्नाटक में प्रशासन एहतियातन बंदरगाहों और अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे (International Airports) पर यात्रियों की जांच में कड़ी सावधानी बरत रहा है.

न्यू मैंगलोर पोर्ट ने मालवाहक जहाजों के कर्मचारियों और क्रूज जहाजों के यात्रियों की जांच के लिए केंद्र द्वारा संचालित मानक प्रक्रिया को लागू किया है. बंदरगाह (Port) के सूत्रों ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से बंदरगाह पर जांच की जा रही है. क्रूज पोत कोस्टा विक्टोरिया के सभी 1,800 यात्रियों और चालक दल के 786 सदस्यों को बंदरगाह पर जांच के लिए रोका गया.

अमृतसर में कोरोना वायरस के संदिग्ध मामले में मां-बेटी अस्पताल में भर्ती
कोरोना वायरस से संक्रमण के संदेह में एक मां-बेटी की जोड़ी को बुधवार को यहां एक सरकारी अस्पताल के पृथक वार्ड में भर्ती कराया गया. अधिकारियों ने कहा कि वे चीन होते हुए न्यूजीलैंड (New Zealand) से अमृतसर आयी थीं.

अधिकारियों ने बताया कि उनके गले में तेज दर्द की शिकायत थी जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया. उनके लार के नमूने परीक्षण के लिए पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (National Institute of Virology, Pune) भेजे गए हैं. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने मंगलवार को कहा था कि 22 रोगियों की जांच रिपोर्ट नकारात्मक पायी गयी है.

यह भी पढ़ें: कहां से फैलते हैं कोरोनावायरस, स्वाइन फ्लू और इबोला जैसे खतरनाक वायरस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 5, 2020, 10:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर