गलवान हिंसा में मारे गए अपने जवान को सम्मानित करेगा चीन, दी थी 'नायक' की मानद उपाधि

जून 2020 में गलवान में हिंसक झड़प के दौरान भारतीय सेना के हाथों मारे गए चेन होंगजुन. (Photo By Global Times)

जून 2020 में गलवान में हिंसक झड़प के दौरान भारतीय सेना के हाथों मारे गए चेन होंगजुन. (Photo By Global Times)

China Communist Party: चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) की केंद्रीय समिति पहली बार 1 जुलाई को उन पार्टी सदस्यों को पदक जारी करेगी जिन्होंने उत्कृष्ट योगदान दिया है.

  • Share this:

बीजिंग. चीन के कम्युनिस्ट पार्टी के 100वें स्थापना दिवस के मौके पर पार्टी के सदस्यों को चीन सम्मानित कर रहा है. सम्मान पाने वालों की लिस्ट में उस चीनी सैनिक का नाम भी शामिल है, जो जून 2020 में गलवान में भारतीय सेना के हाथों मारे गए थे. चीन के अखबार ग्लोबल टाइम्स ने यह जानकारी दी है.


ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) की केंद्रीय समिति पहली बार 1 जुलाई को उन पार्टी सदस्यों को पदक जारी करेगी जिन्होंने उत्कृष्ट योगदान दिया है. पुरस्कार के लिए कुल 29 उम्मीदवारों को नामांकित किया गया है. सूची पर अंतिम निर्णय लेने से पहले उसे 4 जून तक प्रकाशित किया जाएगा और फिर जनता की राय मांगी जाएगी.


29 लोगों की सूची में युद्ध नायकों, वैज्ञानिकों, सामुदायिक कार्यकर्ताओं, कलाकारों, राजनयिकों, राष्ट्रीय एकता में आगे रहने वाले, शिक्षकों और पुलिस सहित कई क्षेत्रों के उम्मीदवार शामिल हैं. जून 2020 में गलवान में भारतीय सेना के हाथों मारे गए चेन होंगजुन का नाम भी इस सूची में है.



इसी साल फ़रवरी में चीन ने पहली बार माना था कि गलवान की झड़प में उनके सैनिक भी मारे गए थे. चीन के सेंट्रल मिलेट्री कमीशन ने उन्हें फ़र्स्ट क्लास मेरिट साइटेशन और मानद उपाधि से नवाज़ा था. चेन होंगजुन को नायक (HERO) की मानद उपाधि भी दी गई थी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज