Home /News /world /

चीन में सरकार के खिलाफ आवाज़ उठाने वाले कोरोना पीड़ितों को धमका कर किया जा रहा है ख़ामोश

चीन में सरकार के खिलाफ आवाज़ उठाने वाले कोरोना पीड़ितों को धमका कर किया जा रहा है ख़ामोश

वुहान (Wuhan) में कोरोना (Coronavirus) की वजह से अपने परिजनों को खो देने वाले लोग एक्टिविस्ट को मैसेज कर पूछ रहे हैं कि चीन की सरकार के खिलाफ मुकदमा (Sue) किस तरह से चलाया जाए

वुहान (Wuhan) में कोरोना (Coronavirus) की वजह से अपने परिजनों को खो देने वाले लोग एक्टिविस्ट को मैसेज कर पूछ रहे हैं कि चीन की सरकार के खिलाफ मुकदमा (Sue) किस तरह से चलाया जाए

वुहान (Wuhan) में कोरोना (Coronavirus) की वजह से अपने परिजनों को खो देने वाले लोग एक्टिविस्ट को मैसेज कर पूछ रहे हैं कि चीन की सरकार के खिलाफ मुकदमा (Sue) किस तरह से चलाया जाए

    चीन (China)में कोरोनावायरस (Coronavirus) के शिकार लोगों में अब सरकार के प्रति गुस्सा बढ़ने लगा है. कोरोनावायरस में अपने परिजनों को खो देने वाले लोग सरकार से सवाल पूछ रहे हैं. सोशल मीडिया पर उनकी कड़ी टिप्पणियां आ रही हैं. लेकिन चीनी प्रशासन अपने खिलाफ आवाज़ उठाने वाले लोगों का मुंह डरा-धमका कर बंद कर रहा है.

    चीन में वुहान कोरोनावायरस का एपिसेंटर बना था. यहीं से वायरस की महामारी की शुरुआत हुई थी. अब वुहान से ही चीनी सरकार के खिलाफ आक्रोश के सुर तेज होने लगे हैं. यहां के लोग तमाम एक्टिविस्ट को मैसेज कर पूछ रहे हैं कि चीन की सरकार के खिलाफ मुकदमा किस तरह से चलाया जाए. सवाल पूछने वाले में किसी ने कोरोनावायरस की वजह से अपनी मां को खोया है तो किसी ने अपने पिता को.

    आधिकारिक तौर पर वुहान में तकरीबन 4 हज़ार लोगों की कोरोना से जान गई. जबकि स्थानीय लोगों का मानना है कि मौत का  आंक़ड़ा इससे कहीं ज्यादा है. वुहान में लोग अपने परिजनों की मौत का मुआवज़ा मांग रहे हैं तो साथ ही महामारी में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ कड़ी सज़ा की मांग कर रहे हैं.

    टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन प्रशासन के खिलाफ कोर्ट केस करने की बात करने वाले एक शख्स की मां की मौत तमाम अस्पतालों से बिना इलाज लौटा देने की वजह से हुई थी. वहीं दूसरे शख्स के पिता की मौत क्वारेंटाइन में रहने के दौरान हुई. ऐसे तकरीबन सात लोगों ने चीन में एक्टिविस्ट यांग झांकयांग को टेक्स्ट मैसेज किया था. लेकिन एक्टिविस्ट के मुताबिक इन लोगों ने अपना इरादा बदल लिया और अब वो बात को बढ़ाना नहीं चाहते हैं. एक्टिविस्ट झांकयांग के मुताबिक दो लोगों को पुलिस ने धमकाया है.

    वुहान में ऐसे लोगों की तादाद बहुत ज्यादा है जिन्होंने कोरोना संक्रमण की वजह से अपने परिजनों को खो दिया. लेकिन अब चीनी प्रशासन ऐसे लोगों का मुंह डरा-धमका कर बंद कर रहा है. जहां एक तरफ वकीलों को सरकार के खिलाफ ऐसा कोई केस दाखिल न करने की चेतावनी दी गई है तो मारे गए परिजनों के रिश्तेदारों से पुलिस पूछताछ कर रही है. जो लोग भी ऑनलाइन तरीके से एक्टिविस्ट के जरिए सरकार के खिलाफ अदालती कार्रवाई करने की बात कर रहे हैं उनको पुलिस धमका रही है.

    चीन से न्यूयॉर्क पहुंचे एक्टिविस्ट यांग के मुताबिक चीन सरकार को ये डर है कि अगर लोग को उनके अधिकारों का इस्तेमाल करने दिया गया और और उन्हें आवाज़ उठाने दी गई तो अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को वुहान की वास्तविक स्थिति और कोरोना पीड़ित परिवारों के सच्चे अनुभव के बारे में पता चल जाएगा. ऐसे में चीनी प्रशासन की कोशिश है कि ऐसे विरोध के सुरों को सख्ती से दबाया जाए ताकि कोरोना महामारी से निपटने में चीन के प्रशासनिक तंत्र की कामायाबी के दावों की दुनिया के सामने पोल न खुल जाए.

    यही वजह है कि चीन ने कोरोना महामारी से निपटने की कोशिशों पर राष्ट्रवाद का मुलम्मा चढ़ाने के लिए मारे गए लोगों को शहीद बताया है. साथ ही सरकार ने उन तमाम चीनी रिपोर्ट को सेंसर कर दिया है जिनमें कोरोना महामारी की गंभीरता को शुरुआत में छिपाने का खुलासा किया गया था.

    जहां एक तरफ दुनिया भर के देशों से कोरोना महामारी को लेकर चीन से हर्जाना वसूलने की मांगें उठने लगी हैं तो ऐसे में चीन में स्थानीय विरोधियों को विदेशी ताकतों का खिलौना बताकर सरकार को कमज़ोर करने का आरोप लगा रही है.

    Terminus 2049 नाम के ऑनलाइन प्रोजेक्ट के जरिए चीन में कोरोना महामारी पर सेंसर की गई चीन की मीडिया रिपोर्ट को आर्काइव करने वाले 3 वॉलिंटियर अब तक लापता है. ये माना जा रहा है कि उनको गिरफ्तार किया जा चुका है. चीन सरकार विरोध की हर उस आवाज़ को दबाने में जुटी हुई है जिससे कोरोना महामारी पर उसका राज़फाश होने का खतरा है. कोरोना वायरस से मारे गए शोक संतप्त परिवारों के साथ चीन की सख्ती अब सामने आती जा रही है.

    Tags: Corona Virus

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर