जहां से फैला कोरोना वायरस, अब वहीं हुए संक्रमण के सबसे कम मामले

जहां से फैला कोरोना वायरस, अब वहीं हुए संक्रमण के सबसे कम मामले
हुबेई प्रांत के वुहान में, जहां से कोरोना वायरस फैला है, वहां संक्रमण के सिर्फ 8 नए मामले सामने आए हैं.

चीन (China) के नेशनल हेल्थ कमीशन ने कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के नए मामलों को लेकर आंकड़े जारी किए हैं. इसमें हुबेई की राजधानी वुहान (Wuhan) में संक्रमण के सिर्फ 8 नए मामले सामने आए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2020, 11:52 AM IST
  • Share this:
बीजिंग: चीन (China) के हुबेई (Hubei) प्रांत से कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण पूरी दुनिया में फैला है. लेकिन चीन ने सख्त कदम उठाकर अपने यहां संक्रमण के मामले काफी कम कर लिए हैं. यहां तक कि जिस हुबेई प्रांत से इसके वायरस फैले, वहां संक्रमण सिंगल डिजिट में पहुंच चुका है. संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए चीन के उठाए सख्त कदम की वजह से हुबेई में एक दिन में संक्रमण के सिर्फ 8 नए मामले दर्ज किए गए हैं.

चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन ने संक्रमण के नए मामलों को लेकर आंकड़े जारी किए हैं. इसमें हुबेई की राजधानी वुहान में संक्रमण के सिर्फ 8 नए मामले सामने आए हैं. लेकिन ये अपने आप में बड़ी बात है कि जिस हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान से वायरस का संक्रमण पूरी दुनिया में फैला है और जिसकी वजह से पूरी दुनिया में रोज संक्रमण के हजारों नए मामले सामने आ रहे हैं, रोज सैकड़ों मौत का आंकड़ा सामने आ रहा है, वहां संक्रमण को इतना हद तक काबू में कर लिया गया है कि अब नए संक्रमण के मामले 8 तक पहुंच गए हैं.

पिछले 7 दिनों की सख्ती ने कोरोना वायरस के कहर को रोका
पिछले 7 दिनों के दौरान चीन में वायरस संक्रमण के मामले तेजी से घटने शुरू हुए हैं. एक हफ्ते की सख्ती के बाद ही नतीजे सामने आने लगे. एक हफ्ते के लिए हुबेई की राजधानी वुहान में लोगों के मूवमेंट पर रोक लगा दी गई थी. सभी तरह के ट्रैफिक को रोक दिया गया था. वुहान पूरी तरह से लॉक डाउन की हालत में था. करीब 1 करोड़ 10 लाख लोग अपने घरों में कैद होकर रह गए थे.



हुबेई के बाहर भी मेनलैंड चाइना में संक्रमण के सिर्फ 7 नए मामने सामने आए हैं. इनमें से संक्रमण के 6 नए मामले विदेशों से आए व्यक्तियों में मिला है. इन 6 मामलों में गुआंगडॉन्ग प्रांत में तीन मामले मिले हैं, गांसू में दो और हेनान प्रांत में संक्रमण का एक नया मामला सामने आया है.



बुधवार को पूरे चीन में संक्रमण के सिर्फ 15 नए मामले सामने आए थे. जबकि एक दिन पहले संक्रमण के 24 नए मामले सामने आए थे. चीन ने सख्ती बरतकर वायरस संक्रमण पर काफी हद तक काबू पा लिया है. जबकि दुनिया के बाकी हिस्सों में वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है.

संक्रमण के मामले कम हुए लेकिन खतरा अब भी बरकरार
चीन में वायरस संक्रमण के कुल मामलों को देखें तो अब तक वहां संक्रमण के कुल 80,793 मामले सामने आए हैं. इनमें से मंगलवार तक 62,793 संक्रमित लोगों को रिकवरी के बाद हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया गया. ये कुल संक्रमित मामलों का 80 फीसदी है. यानी चीन के कुल संक्रमित लोगों में से 80 फीसदी लोग ठीक हो चुके हैं.

वहीं बुधवार तक वायरस के संक्रमण की वजह से चीन मे कुल 3,169 लोगों की मौत हो चुकी थी. एक दिन पहले यहां 11 नए संक्रमित मरीजों की मौत दर्ज की गई थी. हुबेई में 10 नई मौतें हुई थीं, इनमें से 7 लोगों की मौत वुहान प्रांत में हुई.

हालांकी चीन में आधिकारिक तौर पर कहा जा रहा है कि संक्रमण के नए मामलों में कमी आई है लेकिन इसके बावजूद थोड़ी सी चूक भारी पड़ सकती है. चीन की सत्ताधारी कम्यूनिस्ट पार्टी के अखबार पीपल्स डेली के एडिटोरियल में लिखा गया है कि हालात अभी भी मुश्किल हैं और संक्रमण के फैलने का खतरा बना हुआ है.

चीन को संभलने में अभी भी वक्त लगेगा
संक्रमण के मामले कम होने के बाद चीन अपनी फैक्ट्रियों और उद्योग धंधों को दोबारा से खोलने पर विचार कर रहा है. चीन में वायरस संक्रमण को रोकने के लिए फैक्ट्रियों और उद्योग धंधों को बंद कर दिया गया था. इसकी वजह से लाखों लोग प्रभावित हुए हैं. संक्रमण के डर से लोग अपने घरों में कैद होकर रह गए हैं.

चीन की फैक्ट्रियों में काम-काज फरवरी में बुरी तरह से प्रभावित रहा. पिछले दिनों सख्ती से नियमों का पालन करते हुए कुछ फैक्ट्रियों को खोला गया. चीनी प्रशासन ने सख्ती में थोड़ी छूट दी है. लेकिन विशेषज्ञ बता रहे हैं कि नॉर्मल स्थिति आने में अभी भी कम से कम एक महीना लग जाएगा.

कई बिजनेस में मजदूरों की कमी हो गई है. वहां की सप्लाई चेन प्रभावित हुई है. महामारी को फैलने से रोकने के लिए चीनी प्रशासन के कठोर कदम ने चीन के उद्योग धंधों को बुरी तरह से प्रभावित किया है. खासकर छोटे और मंझोले उद्योगों पर सबसे बुरा असर पड़ा है.

ये भी पढ़ें:

क्या ट्रंप के दोबारा राष्ट्रपति चुने जाने में सबसे बड़ा रोड़ा है कोरोना वायरस

कोरोना वायरस पर कॉन्फ्रेंस कोरोना वायरस की वजह से ही कैंसिल

फोन कॉलर से बोले प्रिंस हैरी- ट्रंप के हाथ खून से सने, बीमार आदमी दुनिया को बर्बाद कर रहा है

क्राउन प्रिंस सलमान के खिलाफ दावेदारी ठोकने की तैयारी में थे प्रिंस नयेफ, ऐसे खुला राज

क्या 1500 तालिबान लड़ाकों की रिहाई से सुधरेंगे अफगानिस्तान के हालात

ट्रंप नहीं करवाना चाहते कोरोना वायरस की जांच, बोले- टेस्ट करवाने की जरूरत नहीं

Coronavirus: ब्रिटेन की स्वास्थ्य मंत्री को भी हुआ कोरोना, खुद को कमरे में किया बंद

कोरोना वायरस पर मजाक पड़ा भरा, मुसीबत में फंसे भारतीय मूल के दो अफ्रीकी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading