लाइव टीवी

चीन में पहली बार कोरोना से एक भी मौत नहीं, मंगलवार को नहीं हुई एक भी डेथ

News18Hindi
Updated: April 7, 2020, 5:15 PM IST
चीन में पहली बार कोरोना से एक भी मौत नहीं, मंगलवार को नहीं हुई एक भी डेथ
जनवरी के बाद मंगलवार को पहली बार चीन में कोरोना से एक भी मौत दर्ज नहीं हुई.

चीन (China) में जनवरी के बाद मंगलवार ऐसा पहला दिन रहा, जब कोरोना (Coronavirus) से संक्रमित एक भी मरीज की मौत का मामला सामने नहीं आया.

  • Share this:
बीजिंग: चीन (China) में पहली बार कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित एक भी मरीज की मौत दर्ज नहीं हुई है. कोरोना वायरस की वजह से चीन में जनवरी से शुरू हुआ मौतों का सिलसिला आखिरकार मंगलवार को जाकर रुका. मंगलवार के दिन पहली बार ऐसा हुआ, जिसमें कोरोना से संक्रमित एक भी मरीज के मौत की खबर नहीं आई.

बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन की नेशनल हेल्थ कमीशन की तरफ से कहा गया है कि मंगलवार को कोरोना वायरस के संक्रमण के 32 नए मामले सामने आए, जबकि सोमवार को 39 नए मामले सामने आए थे. हालांकि इस बीच चीन की सरकार पर संक्रमण और मौत के आंकड़े छिपाने के आरोप लगते रहे हैं.

विदेशों से आने वाले नागरिकों में मिल रहे हैं संक्रमण के मामले
चीन की सरकार की तरफ से आधिकारिक तौर पर कहा गया है कि चीन में कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से 3,331 लोगों की मौत हई है, जबकि वायरस संक्रमण के 81,740 मामले सामने आए हैं. मंगलवार को जितने भी पॉजिटव मामले सामने आए, वो सभी विदेशों से आए लोगों में मिले हैं.



अब कहा जा रहा है कि चीन में वायरस संक्रमण का दूसरा दौर आ सकता है. ऐसा विदेशों से आने वाले लोगों में संक्रमण को देखते हुए कहा जा रहा है. चीन ने पहले से विदेशों से संक्रमण से आने से रोकने के लिए अपनी सीमा सील कर दी है. चीन ने वीजा और रेजीडेंस परमिट्स भी रद्द कर दिए हैं.



चीन में विदेशों से आने वाले हवाई उड़ानों को भी प्रतिबंधित किया गया है. हफ्ते में सिर्फ एक बार इंटरनेशन फ्लाइट्स ऑपरेट कर रही हैं. उसमें भी सख्त हिदायत दी गई है कि फ्लाइट में 75 फीसदी से ज्यादा सीटें भरी न हों.

बुधवार को खत्म होगा वुहान में लॉकडाउन
बुधवार को पहली बार वुहान शहर के लोगों का लॉकडाउन खत्म होगा. वुहान के लोग बुधवार को पहली बार शहर के बाहर जा पाएंगे. जनवरी से ही वुहान लॉकडाउन है. अधिकारियों का कहना है कि वुहान के सिर्फ वही लोग शहर छोड़कर बाहर जा सकते हैं, जिनके पास ग्रीन कोड होगा या फिर जिनके स्मार्टफोन में उनके हेल्थ के बारे में बताने वाल ऐप इंस्टॉल होगा.

वुहान में पिछले दिनों कुछ लोगों को पहले ही राहत दी गई थी. इनलोगों को दो घंटे के लिए अपने घरों से बाहर निकलने की इजाजत दी गई है. लेकिन वुहान के अधिकारियों ने ऐसी इजाजत सिर्फ 45 कंपाउंड को ही दी हैं. ऐसी इजाजत सिर्फ उन्हीं इलाकों में दी गई है, जहां वायरस के संक्रमण के लक्षण वाला एक भी व्यक्ति नहीं मिला हो.

चीन में अप्रैल महीने से ऐसे कई मामले सामने आ रहे हैं, जिसमें किसी व्यक्ति को वायरस का संक्रमण तो है लेकिन उसमें बीमारी के कोई लक्षण नहीं हैं. ऐसे करीब 1,033 लोगों को मेडिकल ऑब्जर्वेश में रखा जा रहा है.

चीन पर वायरस संक्रमण की जानकारी छिपाने और इससे निपटने में देरी किए जाने के आरोप लगते हैं. पिछले दिनों स्टेट मीडिया ने कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर एक टाइमलाइन जारी की है. इसमें बताया गया है कि चीन में वायरस का संक्रमण कहां, कब और कैसे फैला और इससे निपटने के लिए चीन की सरकार ने क्या-क्या किया.

चीन में मंगलवार को पहली बार कोरोना से संक्रमित एक भी मौत दर्ज नहीं हुई है. हालांकि चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन के आंकड़ों को अब भी संदेह की नजर से देखा जा रहा है.

ये भी पढ़ें:

टॉप अमेरिकी डॉक्टर बोले- हम कभी नॉर्मल नहीं हो पाएंगे, कोरोना का खतरा बना रहेगा

कोरोना वायरस: आखिर मलेरिया की इस दवा के पीछे क्यों पड़े हैं ट्रंप? जानें वजह

क्या मौत के बाद बनी रहती है आत्मा? मौत से जुड़ी 7 नई बातें

दस्ताने पहनने के बावजूद कैसे तेज़ी से फैल सकते हैं जर्म्स?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चीन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 7, 2020, 5:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading