अपना शहर चुनें

States

बढ़ा खतरा: चीन में 8 महीने बाद कोरोना वायरस से एक और मौत

चीन में एक बार फिर कोरोना संक्रमण के मामले सामने आने लगे हैं.
चीन में एक बार फिर कोरोना संक्रमण के मामले सामने आने लगे हैं.

चीन (China) में एक बार फिर तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की विशेषज्ञ टीम जल्द ही चीन का दौरा करने जा रही है. राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि यहां 138 नए मामले सामने आए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 14, 2021, 10:44 PM IST
  • Share this:
वुहान. चीन (China) से दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस (Coronavirus)के संक्रमण ने एक बार फिर वुहान (Wuhan)में डर का माहौल पैदा कर दिया है. दरअसल चीन में आठ महीने के बाद वायरस की चपेट में आने से एक शख्स की मौत हो गई है. इससे पहले मई में वायरस के कारण आखिरी मौत हुई थी. अब खबर आ रही है कि चीन में एक बार फिर तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की विशेषज्ञ टीम जल्द ही चीन का दौरा करने जा रही है.

बता दें कि चीन के हेबो प्रांत में कोरोना वायरस ने एक बार फिर लोगों को संक्रमित करना शुरू कर दिया है. कोरेाना के बढ़ते मामलों को देखते हुए यहां पर सख्‍त लॉकडाउन की घोषणा कर दी गई है. बता दें कि इस प्रांत की कुछ आबादी 20 मिलियन के आसपास है और यहां पर कोरोना का खतरा बढ़ता जा रहा है. राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि यहां 138 नए मामले सामने आए हैं, जो पिछले साल मार्च के बाद सबसे ज्‍यादा है.

चीन में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए सरकार ने एक बार फिर सख्‍त कानून बनाए हैं. हेबो प्रांत में स्कूलों और दुकानों को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है. इसके साथ ही पड़ोसी प्रांत जिंगताई में भी सख्त लॉकडाउन लगा दिया गया है. उत्तर-पूर्वी हेइलोंगजियांग में भी सख्‍त कानून लागू कर दिया गया है. सरकार ने लोगों से अपील की है कि वह अपना प्रांत छोड़कर किसी और प्रांत में न जाएं. बहुत जरूरी हो तो प्रशासन से अनुमति लेने के बाद ही यात्रा करेंगे. बता दें कि चीन में अब तक 4,635 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.




इसे भी पढ़ें :- नए कोरोना वायरस से पीड़ित हैं मोइन अली, श्रीलंका में मचा 'हड़कंप'

ब्रिटेन में कोविड-19 के 1564 मरीजों की एक दिन में मौत
ब्रिटेन में बुधवार को कोरोना वायरस के 1564 रोगियों की मौत हो गई, जिसके साथ ही इस महामारी से देश में अबतक 84,767 लोगों की जान जा चुकी है. इन 1564 लोगों की मौत संक्रमित होने के 28 दिनों के अंदर हुई है जो पिछले साल महामारी के पैर पसारने के बाद सबसे बुरा आंकड़ा है. देश में 47,525 और लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है जबकि लंदन में दिसंबर के प्रारंभ के बाद से अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या में पहली बार गिरावट आई है. इसी बीच ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने चेतावनी दी कि अस्पतालों में सघन चिकित्सा क्षमता पर अत्याधिक दबाव का काफी जोखिम है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज